Home » उत्तर प्रदेश » ABVP के कार्यक्रम में बोले राजनाथ: भगवान राम और कृष्ण ने भी की थी राजनीति

ABVP के कार्यक्रम में बोले राजनाथ: भगवान राम और कृष्ण ने भी की थी राजनीति

Home Minister returned without visiting the Vindhyavasini

अपने दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचे राजनाथ सिंह ने आज एबीवीपी की पत्रिका विमोचन के कार्यक्रम में शिरकत की। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि मर्यादा पुरषोत्तम राम और कृष्ण भी राजनीति करते थे। राम रामराज्य के उद्देश्य से राजनीति करते थे। जबकि कृष्ण ने धर्म की विजय के लिए राजनीति की।

लखनऊ में एबीवीपी के कार्यक्रम में शामिल हुए केन्द्रीय गृहमंत्री:

केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज एबीवीपी के कार्यक्रम में हिस्सा लेने लखनऊ पहुंचे. आईईटी सभागार में एबीवीपी की पत्रिका के विमोचन कार्यक्रम में पहुंचे राजनाथ सिंह ने कहा कि अच्छे काम के लिए राजनीति करने में कोई बुराई नहीं है. केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, ‘भगवान राम और कृष्ण ने भी राजनीति की थी, लेकिन उनका राजनीतिक उद्देश्य ‘रामराज’ स्थापित करना था’. उन्होंने युवा शक्ति को प्रेरित करते हुए कहा की देश का विकास युवाओं के बगैर सोचना भी गलत होगा.

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि अब राजनीति के प्रति धारणा बदल गई है. उन्होंने कहा, ‘राजनीति जैसे हाथों में जाती है, वैसी ही बन जाती है. सही राजनीति, व्यवस्था को सही दिशा में ले जाती है’.

युवाओं को किया प्रेरित:

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने युवा शक्ति को प्रेरित करते हुए कहा कि देश का विकास युवाओं के बगैर सोचना भी गलत है. उन्होंने देश की बढ़ती इकोनॉमी पर कहा, ‘एक समय वो भी था जब अर्थशास्त्री ये मानने तक को तैयार नहीं हुआ करते थे कि भारत की इकोनॉमी एक मुकाम तक पहुंच पाएगी, हालांकि वक्त बदला और अब देश की इकोनॉमी दुनिया की सबसे तेज बढ़ने वाली इकोनॉमी है’.

उन्होंने संबोधित करते हुए बताया कि युवाओं को देश की संस्कृति व परम्परा को आगे बढ़ाना चाहिए. इस देश में 80-85 करोड़ जनसंख्या युवाओं की है. युवा आगे बढ़ेंगे, तभी देश आगे बढ़ेगा. उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है. युवा इसे और आगे ले जा सकते हैं. तभी देश विश्व गुरु बनेगा.

 राजनाथ सिंह ने कहा इस समय दो तरह के नौजवान हैं। एक इंफोसिस में है तो दूसरा अलकायदा में है। दोनों ही अपने लक्ष्य और नेटवर्क से काम कर रहे हैं लेकिन एक रचनात्मकता फैला रहा है तो दूसरा विनाश कर रहा है।

उन्होंने बताया कि हमारे पहले यूथ आइकॉन स्वामी विवेकानंद हैं। कहा, “आज का भारत पहले वाला भारत नहीं रहा। यह बात दुनिया का कोई भी अर्थशास्त्री नहीं नकार सकता है।”

उन्होंने आगे कहा ,”हम भारत के नौजवानों को केवल रोजगार तक ही सीमित नहीं रखना है। हमारे देश का नौजवान अपने भविष्य के साथ भारत का भी भविष्य देखना चाहता है।”

वहीँ शुक्रवार को लखनऊ पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह को सर्वजन हिताय संरक्षण समिति के सदस्यों ने प्रोन्नति में आरक्षण के खिलाफ ज्ञापन दिया। इस दौरान समिति के संयोजक शैलेन्द्र दुबे ने 117वें बिल संशोधन को खत्म करने की मांग की है।

चित्रकूट में 70 साल बाद भी सड़क की आस में ग्रामीण

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : union-home-minister-rajnath-singh-attending ABVP program in lucknow

Related posts

एटीएम हो गया कैशलेस, होली में जनता हो गई हेल्पलेस

Bharat Sharma

आगरा बस हादसा: मुख्यमंत्री योगी ने की जांच समिति बनाकर 24 घंटे में मांगी रिपोर्ट

Desk

स्वर्ण पदक के साथ वापस लौटे मेरठ की शान शाहजार

Desk