Home » उत्तर प्रदेश » राम मन्दिर मामले में कोर्ट से कभी भी निर्णय हो सकता है: साक्षी महाराज

राम मन्दिर मामले में कोर्ट से कभी भी निर्णय हो सकता है: साक्षी महाराज

Court can ever make a decision in the Ram temple case: Sakshi Maharaj
बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने उन्नाव में आयोजित एक कार्यक्रम में शशि थरूर पर सीधा प्रहार किया है. उन्होंने अपने बयान में कहा कि शशि थरूर ने देश का अपमान किया है. इसी क्रम में उन्होंने कांग्रेस पर भी तंज करते हुए राष्ट्र से माफ़ी मांगने की मांग तक कर डाली. अपने बयान में साक्षी महाराज ने राम मंदिर पर कहा कि इस मामले में कभी भी निर्णय हो सकता.

अगर निर्णय नहीं होता है तो हमारी धर्म संसद होगी:

इस दौरान साक्षी महाराज ने अयोध्या राम मंदिर पर एक बड़ा बयान दे डाला. उन्होंने इस बात का खुलासा किया कि राम मंदिर पर कोर्ट से कभी भी फैसला आ सकता है और अगर निर्णय नहीं आता है तो उनकी धर्म संसद होगी.  धर्म संसद में साधू सन्यासियों की बैठक में निर्णय लिया जायेगा.
साक्षी महाराज खुद भी अपने विवादित बयानों के लिए ही अक्सर चर्चा में बने रहते हैं. इस बार शशि थरूर के ‘हिन्दू पकिस्तान’ जैसे विवादित बयान पर उन्होंने कोई मौका न छोड़ते हुए, शशि थरूर को कांग्रेस पार्टी निकाल देने तक की बात कह डाली. साक्षी महाराज ने सभी विपक्षियों पर खुल कर हमला बोला.
उन्होंने आगे कहा कि 2019 से पहले ही राम मंदिर का निर्माण प्रारंभ हो सकता है.  साक्षी महाराज का विपक्षियों पर हमला करते हुए कहा कि
कांग्रेस को राष्ट्र से क्षमा मांगनी चाहिये, शशि थरूर को कॉन्ग्रेस पार्टी से निकाले.

शशि थरूर को कांग्रेस पार्टी से निकाले:

मालूम हो शशि थरूर अपने ‘हिन्दू पाकिस्तान’ बयान के चलते विवादों में घिरे हुए हैं. उन्होंने यह भी कहा था कि भाजपा दोबारा लोकसभा चुनाव जीतती है तो देश का लोकतांत्रिक संविधान खत्म हो जाएगा, क्योंकि उनके पास भारतीय संविधान को खत्म करने और एक नया संविधान लिखने के सारे तत्व मौजूद है. नया संविधान पूरी तरह से हिंदू राष्ट्र के सिद्धांतों पर आधारित होगा, जो अल्पसंख्यकों के अधिकारों को पूरी तरह से खत्म कर देगा और राष्ट्र को ‘हिन्दू पाकिस्तान’ बना देगा.

ये भी पढ़ें: 

PM मोदी वाराणसी को देंगे 1000 करोड़ की 33 परियोजनाओं की सौगात

बनारस: सीएम योगी आज करेंगे पीएम मोदी का स्वागत

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Court can ever make a decision in the Ram temple case: Sakshi Maharaj

Related posts

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मस्जिदों से अज़ान की अनुमति दी

Desk

महापौर के फर्जी से हस्ताक्षर से सेवानिवृत्त कर्मचारियों को दे दिया सेवा विस्तार

Sudhir Kumar

सपा के पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल पर रु० 25 हजार का इनाम घोषित

UPORG DESK 1