Home » उत्तर प्रदेश » गरीबो की सेवा करना सबसे पुनीत कार्य : बृजेश अग्रहरि

गरीबो की सेवा करना सबसे पुनीत कार्य : बृजेश अग्रहरि

Poverty service very important puneet work

अमेठी के मुसाफिरखाना में बारात घर रमादेवी स्कूल के पास पर में कंबल वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। शासन द्वारा गरीब, विधवा, विकलांगों के लिए ठंड से राहत के लिए कम्बल वितरण किए जा रहे हैं। कंबल वितरण में बड़ी संख्या में महिलाएं, विकलांग व बुजुर्ग पहुंचे ।

वितरण के दौरान बीजेपी नेता रहे मौजूद

मुसाफिरखाना के चेयरमैन और बृजेश अग्रहरि व कृष्ण कुमार तिवारी ने गरीबों को कंबल वितरित किए।

इस दौरान चेयरमैन ने कहा कि प्रदेश सरकार का सपना है कि

गरीबों को उनका हक मिले कोई भी गरीब सरकार की योजनाओं से अछूता न रहे

ये भी पढ़ें : वीडियो: गर्लफ्रेंड को चकमा देकर छिपाया था कैमरा मगर तभी…

कहा कि गरीबो की सेवा करना सबसे पुनीत कार्य है ।

आज के इस भाग दौड़ में लोग दूसरे के दुःखों को नही समझ पाते है और

अपने सुख में लीन रहते है लेकिन बहुत सारे लोग जो अपनों की ख़ुशी के साथ दुसरो को भी खुश देखना चाहते है।

वही कम्बल वितरण के दौरान भाजपा नेता कृष्ण कुमार तिवारी ने कहा कि

इस ठण्ड के दिनों में गरीबी रेखा के निचे जीवन यापन करने वाले गरीबो

की सहायता करना किसी पुण्य से कम नही होता है ।

ये भी पढ़ें :अपनी ‘बोल्ड तस्वीरों’ से नेपाल की ये लड़की इन्टरनेट पर बनी सनसनी!

ऐसे में हम सभी का दायित्व बनता है कि गरीबो को गर्म वस्त्र देकर के

उनका सहयोग करे भाजपा सरकार की मंशा है ।

कि गांव में विकास का पहिया तेजी से घूमे लोगों का पलायन रूके गांव

के लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत हो कम्बल वितरण के

इस मौके पर जनपद के तमाम भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें : ऐसा त्यौहार जहां ‘अश्लीलता’ की पार होती हैं सारी हदें!

वहीं, बीते दिनों कस्बे में आयोजित हुआ कम्बल वितरण कार्यक्रम, कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उपजिलाधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहाकि प्रदेश सरकार की मंशा है कि पूरे प्रदेश में एक भी इंसान ठण्डक से न खत्म हो। उसी के तहत ग्रामसभा के पुरवों से लेकर कस्बे तक गरीब गलीच को योजनाओ का सीधे लाभ मिले। जिसके तहत कम्बल वितरण कार्यक्रम उसी की एक कड़ी है। उपजिलाधिकारी गौरीगंज व भाजपा जिलाध्यक्ष ने संयुक्त रूप से खण्ड शिक्षाधिकारी के परिसर में 160 लोगो को कम्बल वितरित किया।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

श्रावस्ती: प्यासा हिरण बना आवारा कुत्तों का शिकार

Shivani Awasthi

बस्ती: 14 वर्षीय किशोर की मौत बनी पुलिस के लिए अनसुलझी पहेली

Shashank

UP बोर्ड परीक्षा: एक लाख 75 हज़ार छात्र-छात्राओं ने छोड़ी परीक्षाएं

Praveen Singh