Home » उत्तर प्रदेश » पुलिस की सह पर ग्रामीण इलाकों में धधक रही अवैध शराब की भट्ठियां

पुलिस की सह पर ग्रामीण इलाकों में धधक रही अवैध शराब की भट्ठियां

illegal liquor sale avaidh sharab

राजधानी लखनऊ के बख्शी का तालाब व इटौंजा, काकोरी, मोहनलालगंज, मलिहाबाद, बंथरा, सरोजनीनगर थाना क्षेत्र के विभिन्न गांवों में स्थानीय पुलिस एवं आबकारी विभाग की मिलीभगत से अवैध शराब की भट्टियां धधक रही हैं। जो बुझने का नाम नहीं ले रही हैं। गांवों में हजारों लीटर प्रतिदिन अवैध कच्ची शराब का व्यवसाय फल-फूल रहा है। लेकिन इस कारोबार पर अंकुश न तो पुलिस लगा पा रही है और न ही आबकारी विभाग। इसकी जानकारी आबकारी विभाग व संबंधित थानों की पुलिस को होने के बावजूद भी दोनों विभाग मौन हैं जो गांवों में लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। बता दें कि जहरीली शराब से हर साल कई लोगों की जानें चली जाती हैं। हादसा होने के बाद कुछ दिनों तक अफसर जागते हैं लेकिन बाद में फिर कुम्भकर्णी नींद में सो जाते हैं।

मोटी रकम लेकर पुलिस चुप

ख़बरों के मुताबिक, अवैध धंधेबाजो से महीने में मिल रही मोटी रकम की वजह से जान कर भी स्थानीय पुलिस व आबकारी विभाग आंख बंद करके बैठी है जिसके चलते कई गांवों में विवाद भी बढे़ हैं। बीकेटी एवं इटौंजा थाना क्षेत्र के गांवों, कस्बों में अवैध कच्ची शराब का धंधा धड़ल्ले से 24 घंटे खुलेआम संचालित हो रहा है।

बीकेटी थाना क्षेत्र के शिवपुरी, रैथा, सरसवां, अस्तल, सोनवा, परसऊ तथा इटौंजा थाना क्षेत्र में खानपुर, हरदा, सुल्तानपुर, बहादुरपुर सहित अन्य दर्जनों गांव एवं कस्बों में बेधड़क अवैध शराब के कारोबारी धकाधक शराब की भट्टियां चलाकर प्रतिदिन सैकड़ों लीटर शराब तैयार करके आसपास के जनपदों में सुनिश्चित स्थानों पर बनाकर पहुंचाई जा रही है।

शराब में घातक केमिकल नशीली दवाओं का प्रयोग

शराब का कारोबार करने वाले एक व्यक्ति ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि शराब को अधिक नशीली बनाने के लिए कारोबारी इसमें घातक केमिकल का इस्तेमाल करते हैं। जिसमें आक्सोटोसिन इंजेक्शन, माइन्डेक्स की टेबलेट, ईस्ट सहित कई प्रकार के प्राण घातक केमिकल्स आदि हैं।

अभी ताजा मामला डीएनएन टीम ने ग्राम पंचायत अकड़ा गुलालपुर के मजरा अकड़ा में एक शराब तस्कर के घर में जाकर देखा जिसको देखने से लग रहा था कई वर्षों धंधक रही हैं। भट्टियां कमरे के अंदर तीन चार कमरे ऐसे बने हुए थे कि मानो जैसे सुरंग बाहर से देखने में कुछ भी नजर नहीं आता कमरों के अंदर एक तरफ से रखे हुए थे शराब भरे पीपे शराब बनाने वाला तस्कर लालता प्रसाद पुत्र केशव ने बताया मैं कई वर्षों से इस कार्य में हूं और हमारा सब हफ्ता बंधा हुआ है।

लखनऊ बार एसोसिएशन के पूर्व महामंत्री इटौंजा थाना पर आकर अपने को बार एसोसिएशन का महामंत्री बताकर पत्रकार को जान से मारने की धमकी दी। उन्होंने कहा कि मैं शराब बनवाता हूं जो करना हो कर लेना। धमकी देने वाले महाशय ने अपना परिचय गोविंद नारायण शुक्ला बार एसोसिएशन का महामंत्री बताया। इस संबंध में भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश भारतीय किसान यूनियन (भानू गुट) के सचिव रामप्रकाश सिंह ने शराब माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

 

थाने से 200 मीटर की दूरी पर लूट, बदमाशों ने बुजुर्ग महिला को किया घायल

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

पूर्व राज्यपाल एवं दो राज्यों के पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी का निधन

Sudhir Kumar

मथुरा: एक ही मंच पर दिखे फूलन देवी की बहन और हत्या का आरोपी

Shivani Awasthi

राहुल गांधी के अमेठी आगमन के पहले चस्पा किया गया ये विवादित पोस्टर

Vishesh Tiwari