Rashtroday RSS samagam: lift for Mohan Bhagwat 35 feet high platform
May, 27 2018 13:38
फोटो गैलरी वीडियो

200 फुट लंबा 100 फुट चौड़ा और 35 फुट ऊंचे मंच पर लिफ्ट से उतरेंगे मोहन

By: Sudhir Kumar

Published on: Mon 12 Feb 2018 12:19 PM

Uttar Pradesh News Portal : 200 फुट लंबा 100 फुट चौड़ा और 35 फुट ऊंचे मंच पर लिफ्ट से उतरेंगे मोहन

मेरठ के जागृति विहार में आगामी 25 फरवरी को आयोजित होने वाला राष्ट्रोदय कार्यक्रम की तैयारियां लगभग पूरी होने को हैं। कार्यक्रम में मुख्य संबोधन सर संघ चालक मोहन भागवत देंगे। वह 35 फुट ऊंचे मंच पर लिफ्ट से पहुंचेंगे। मंच की लंबाई 200 फुट व चौड़ाई 100 फुट है। इसे उगते हुए सूरज की आकृति में बनाया गया है। मैदान में 20 एलईडी लगाए जाएंगे, जिससे स्वयंसेवक मुख्य वक्ता का संबोधन आसानी से सुन सकेंगे।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 93 वर्ष के सफर में पहली बार तीन लाख से ज्यादा स्वयंसेवक एक स्थान पर जुटेंगे। करीब 650 एकड़ में फैले विशाल परिसर में कार्यक्रम की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। भोजन के छह लाख पैकेट जुटाए जाएंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता स्वामी अवधेशानंद गिरी करेंगे। कार्यक्रम प्रभारी एवं पूर्व प्रांत प्रचारक सूर्यप्रकाश टांक ने रविवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि समागम में पहुंचने वालों में 40 वर्ष से कम उम्र वालों की भागीदारी करीब 75 फीसद है।

4000 बसों एवं अन्य वाहनों की पार्किंग के लिए छह स्थान तय

मेरठ, सहारनपुर एवं मुरादाबाद मंडल को संघ की दृष्टि से 25 जिलों में बांटा गया है। मेरठ प्रांत से 363 खंड व नगर, 987 मंडल, 1553 बस्तियां एवं 10580 गांव शामिल हैं। मेरठ, मवाना एवं सरधना से सभी जाति एवं वर्ग के तीन लाख परिवारों से छह लाख भोजन के पैकेट जुटाए जाएंगे। 9 स्थानों पर सात से दस किमी पहले स्वयंसेवकों के लिए भोजन उपलब्ध होगा। 4000 बसों एवं अन्य वाहनों की पार्किंग के लिए छह स्थान तय किए गए हैं। नौ स्थानों से बारकोड चेक होने के बाद कार्यकर्ताओं को प्रवेश दिया जाएगा। प्रेस वार्ता में उन्होंने उम्र एवं व्यवसाय के आधार पर आगंतुकों का वर्गीकरण कर आंकड़ा पेश किया।

एटीएस एवं एनएसजी कमांडो के घेरे में होगा राष्ट्रोदय

महानगर क्षेत्र से 93, 364 व ग्रामीण क्षेत्र से 2,18, 214 स्वयंसेवक पहुंचेंगे। इनमें 40 वर्ष से कम उम्र वालों की संख्या 2, 22, 791 है जबकि छात्रों की संख्या 94489 है। पंजीकृत स्वयंसेवकों की संख्या 3 लाख 11 हजार 578 पहुंच गई है। प्रेस वार्ता में उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के प्रचार प्रमुख कृपाशंकर, पूर्व प्रांत संघचालक सूर्यप्रकाश टांक, राष्ट्रोदय संचालन समिति के अध्यक्ष व महानगर संघचालक विनोद भारतीय और प्रचार प्रमुख अजय मित्तल समेत कई अन्य शामिल हुए। कार्यक्रम के लिए प्रशासन ने कड़ा सुरक्षा घेरा तैयार किया है। पीएसी और रैपिड एक्शन फोर्स की 20 बटालियन तैनात रहेगी। एटीएस एवं एनएसजी कमांडो भी सुरक्षा में मुस्तैद रहेंगे। 12 एएसपी, 40 क्षेत्रधिकारी, 100 थानेदार एवं 422 दरोगा व्यवस्था पर नजर रखेंगे।

मंच पर तीन मुख्यमंत्रियों सहित कई दिग्गज रहेंगे मौजूद

राष्ट्रोदय कार्यक्रम में तीन लाख से ज्यादा स्वयंसेवकों के समागम की सियासी ताकत भी चर्चा में है। मुख्य वक्ता मोहन भागवत संघ के एजेंडे पर संबोधन करेंगे। मंच पर तीन मुख्यमंत्रियों समेत कई अन्य सियासी दिग्गज इस शक्ति प्रदर्शन के गवाह बन सकते हैं। संघ से लेकर भाजपा एवं प्रशासनिक अमले में इसकी सुगबुगाहट तेज हो गई है। 25 फरवरी को संघ के समागम में तीन लाख से ज्यादा स्वयंसेवक पहुंचेंगे। सियासी चर्चाओं पर यकीन करें तो इसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत भी शिरकत कर सकते हैं। यह अब तक का सबसे बड़ा जमावड़ा है, ऐसे में संघ की पृष्ठभूमि वाले कई मुख्यमंत्री एवं बड़े नेता इसमें पहुंचने की मंशा जता रहे हैं।

कार्यक्रम में दलित संतों को भी बुला रहा संघ

सीएम योगी मेरठ को पश्चिम यूपी का केंद्र बता चुके हैं। इस कार्यक्रम में संघ दलित संतों को भी बुला रहा है। देश में दलितों को अपने साथ लेने के लिए कई सियासी केंद्र उभर रहे हैं, ऐसे में भाजपा राष्ट्रोदय कार्यक्रम की तरंग को भुनाने में पीछे नहीं हटेगी। इसकी सियासी तरंग पश्चिमी यूपी के 14 जिलों में सीधे पहुंचेगी, जबकि देशभर में महसूस होगी। मेरठ में संघ का बड़ा केंद्र है, जहां से प्रदेश और उत्तराखंड की सियासी पटकथा लिखी जाती है।

लंबे समय तक संघ का काम देख चुके हैं उत्तराखंड के सीएम

उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत मेरठ में लंबे समय तक संघ का काम देख चुके हैं। उनके आने की संभावनाएं प्रबल मानी जा रही हैं। 2019 में लोकसभा चुनावों से पहले योगी आदित्यनाथ पर प्रदेश में भाजपा लहर बरकरार रखने का दबाव है। वह स्वयं मंच पर उपस्थित होकर इस जनसैलाब में पार्टी के लिए संजीवनी खोजते नजर आ सकते हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर संघ की पृष्ठभूमि से हैं। नजदीकी राज्य होने की वजह से उनके शिरकत करने के पूरे आसार है। इस महासमागम को देखने के लिए कई केंद्रीय मंत्रियों ने भी दिलचस्पी दिखाई है। इधर, निराशा के मझधार में फंसी भाजपा अब राष्ट्रोदय कार्यक्रम की नाव पर सवार होकर पार पहुंचने की फिराक में है। आने वाले दिनों में चुनावी रण में जहां नए चेहरों को भूमिकाएं दी जाएंगी, वहीं राष्ट्रीय एवं प्रदेश इकाई में कई खाली पदों के लिए तमाम लोग संघ से अपनी पैरवी करवाते नजर आएंगे।

भारी सुरक्षा कवच के बीच होगा राष्ट्रोदय कार्यक्रम

राष्ट्रोदय कार्यक्रम भारी सुरक्षा कवच के बीच संपन्न होगा। एसएसपी मंजिल सैनी ने बताया कि पड़ोस के जिलों से चार हजार अतिरिक्त जवान मंगाए गए हैं। सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह चाक चौबंद होगी। रैपिड एक्शन फोर्स की टुकड़ी कार्यक्रम स्थल पर तैनात कर दी गई है। एसएसपी ने जागृति विहार एक्सटेंशन पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने संघ नेताओं से करीब घंटे तक वार्ता की। कार्यक्रम स्थल पर बनी पुलिस चौकी में तैनात स्टाफ की जानकारी ली। एसएसपी ने कहा कि आसपास के जिलों के अधिकारियों को भीड़ एवं उसके मार्गो के बारे में जानकारी दे दी गई है। सुरक्षा के तमाम हाइटेक बंदोबस्त किए जाएंगे। उन्होंने एडीएम सिटी मुकेशचंद, एसपी सिटी मानसिंह चौहान, एएसपी अंकित मित्तल, संजीव बाजपेयी एवं अन्य के साथ परिसर के साथ ही मंच का जायजा लिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सभी मार्गो एवं प्रवेश स्थलों पर मेटल डिटेक्टर एवं मैदान की ड्रोन से निगरानी होगी।

I am currently working as State Crime Reporter @uttarpradesh.org. I am an avid reader and always wants to learn new things and techniques. I associated with the print, electronic media and digital media for many years.