कुख्यात अपराधियों पर घोषित इनाम की सूची जारी करे सरकार: आनंद भदौरिया

Anand Bhadauria SP MLC

समाजवादी पार्टी के सीतापुर से एमएलसी आनंद भदौरिया ने उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस मुख्यालय से कुख्यात अपराधियों पर घोषित इनाम की सूची जारी करने की मांग की है। ये मांग उन्होंने uttarpradesh.org खास बातचीत के दौरान की है। उन्होंने पुलिस द्वारा किये जा रहे ताबड़तोड़ एनकाउंटर पर भी सवाल उठाये हैं। एमएलसी ने वर्तमान समय में हो रही पुलिसिंग पर भी प्रश्न खड़े किये हैं।

सूची को यूपी पुलिस के वेबसाइट पर अपलोड करने की मांग

आनंद भदौरिया ने पुलिस महानिदेशक से मांग करते हुए कहा कि वह कुख्यात अपराधियों पर घोषित इनाम की राशि की सूची करें। उन्होंने कहा कि अभी तक ये देखा गया है कि जितने भी एनकाउंटर हुए हैं इनमें अपराधी को मारने या उसके गिरफ्तार करने के बाद पुलिस दावा करती है कि इस पर इतने हजार या लाख रुपये इनाम घोषित था।

लेकिन ये जानकारी किसी को नहीं दी जाती है कि बदमाश पर इनाम किस तारीख में घोषित हुआ था। उन्होंने कहा कि पुलिस चाहिए कि वह जो कुख्यात इनामी अपराधी हैं उनकी सूची को यूपी पुलिस के वेबसाइट पर लोड करे, ताकि प्रदेश के लोग भी तो देख सकें कि पुलिस ने जिस अपराधी को मारा या गिरफ्तार किया है उस पर वाकई इनाम था या पुलिस ने झूठ बोला।

छोटे अपराधियों को गिरफ्तार कर भय पैदा करने की कोशिश

सपा एमएलसी ने आरोप लगाते हुए कहा कि वर्तमान की भाजपा सरकार के नेतृत्व में पुलिस का भी गुंडाराज कायम हो गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार और भय मुक्त प्रदेश बनाने का दावा करके सत्ता में आयी भाजपा सरकार के बनते ही प्रदेश में गुंडाराज और भय लोगों के भीतर पैदा हो गया है।

वर्तमान समय में बहू-बेटियां घरों में ही सुरक्षित नहीं हैं। आये दिन बलात्कार, अपहरण, मासूमों की हत्या, खनन, भूमाफियाओं से प्रदेश की जनता बहुत ही परेशान हो चुकी है। उन्होंने कहा कि पुलिस ताबड़तोड़ एनकाउंटर करके भय पैदा करने की कोशिश कर रही है। पिछले कई जगहों पर हुए फर्जी एनकाउंटर पुलिस की कार्यशैली को खुद दर्शाते हैं। पुलिस खूंखार अपराधियों से खुद डर रही है इसके चलते छोटे अपराधियों को पहले से पकड़कर रात के अँधेरे में मुठभेड़ दिखाकर अपनी पीठ थपथपा रही है।

डकैतियों का खुलासा करने में नाकाम योगी सरकार

उन्होंने कहा सभी लोग अख़बार पढ़ते ही होंगे चैनल देखते ही होंगे। मुठभेड़ की सभी घटनाएं सामान तरीके से हो रही हैं और मीडिया बुलाकर वाहवाही लूटी जा रही है। पुलिस की कार्यशैली ऐसी हो गई है कि वह अपराधियों पर लगाम लगाने में कम सोशल मीडिया और अख़बारों चैनलों में दिखावे के लिए अपनी फोटो खिंचवाकर और वीडियो बनवाकर जरूर जी तोड़ मेहनत कर रही है।

सपा एमएलसी ने कहा कि योगी सरकार के इशारे पर यूपी में समाज के एक वर्ग विशेष में भय का माहौल पैदा करने के लिए फर्जी एनकाउंटर किये जा रहे हैं जिसमें से कुछ पुलिसकर्मी भी अपने व्यक्तिगत हितों को साधने के लिए नोयडा जैसी घटना को अंजाम दे रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ राजधानी लखनऊ से सटे गांवो में कई दिन तक गावों में डकैती डालने और उस दौरान हत्या करने वाले डकैतों को योगी सरकार की पुलिस पकड़ने में नाकामयाब रही है।

कानून व्यवस्था में पूरी तरह से फेल योगी सरकार

आनंद भदौरिया ने कहा कि योगी सरकार कानून व्यवस्था को बनाए रखने में पूरी तरीके से फेल हो गई है। जनता का उनके असली मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए सरकार अपने छोटे संगठनों के माध्यमों से भगवा यात्रा निकवाकर दंगे कराकर लोगों में भय और खौफ का माहौल पैदा कर रही है। उन्होंने कहा योगी सरकार अधिकारियों को गलत फैसले मानने को मजबूर कर रही है। जो अधिकारी सरकार के फरमानों के खिलाफ जाकर घटना की वास्तविक सच्चाई को मीडिया और समाज के सामने लाने का काम कर रहें है। सरकार उनके ऊपर तत्काल कार्रवाई कर उनको दण्डित कर रही है। DM बरेली और सांख्यिकी अधिकारी रश्मि वरुण इसके उदहारण हैं।

उन्होंने कहा कि योगी सरकार केवल मीडिया में छपने के लिए भाषणबाजी कर रही है। अब तक बयानों में शुरू की गईं किसी भी योजना को जमीन पर लागू नहीं किया जा सका। उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने ये जरूर किया कि पिछली सरकार की गरीबों के प्रति चलाई जा रही लाभकारी योजनाओं को बंद कर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का काम किया है। उन्होंने कहा प्रदेश की जनता पूरी तरह से परेशान हो चुकी है और उपचुनाव की तरह ही आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

ये भी पढ़ें- हरदोई: महिला ने चार हाथ और चार पैर वाले दुर्लभ बच्चे को दिया जन्म

ये भी पढ़ें- बेईमान है रायबरेली का कप्तान और पुलिस, करवा दी नोमान की हत्या: अखिलेश

ये भी पढ़ें- बिजनौर में हाथी की हत्या, तस्करों ने कई टुकड़े कर निकाले दांत

ये भी पढ़ें- भ्रष्ट उपनिदेशक को बचाने में जुटे संयुक्त निदेशक बीपी श्रीवास्तव

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Anand Bhadauria SP MLC demands wanted prized criminals list from UP Police and Yogi Govt

Related posts

यूपी में 29 जगहों पर आरक्षी पुलिस प्रशिक्षुओं के प्रशिक्षण सत्र का शुभारंभ हुआ- डीजीपी

Sudhir Kumar

लखनऊ महोत्सव : संसार एक चक्रव्यूह है, सभी अभिमन्यु की तरह फंसे

Sudhir Kumar

कासगंज जा रही साध्वी प्राची को पुलिस ने रोका, धरने पर बैठी साध्वी

Kamal Tiwari