Home » उत्तर प्रदेश » कपरवार गाँव विकास की राह पर अभी तक नहीं हुआ अग्रसर

कपरवार गाँव विकास की राह पर अभी तक नहीं हुआ अग्रसर

Kapurwara village has not yet progressed on the path of development

कमलेश पासवान के सांसद आदर्श ग्राम कपरवार का #RealityCheck

कपरवार गाँव विकास की राह पर अभी तक नहीं हुआ अग्रसर

  • सांसद कमलेश पासवान ने कपरवार को सांसद आदर्श ग्राम योजना में चयनित कर विकास के लिए गोद लिया है |
  • जिससे गांव मे विकास की उड़ान को पंख लग गए हैं |
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा सांसद आदर्श ग्राम योजना शुरु की गयी है |
  • इसकी खबर मिलते ही गांव मे जश्न का माहौल रहा |
  • ग्रामीणों ने बांटी मिठाई |
  • गांधी प्रतिमा के पास इकट्ठा होकर ग्रामीणों ने एक दूसरे को मिठाई दी |
  • इस मौके पर ग्राम प्रधान प्रहलाद गुप्ता, राधारमण तिवारी, रामप्रवेश यादव, देवेश सिंह, रणजीत सिंह, अनिल मिश्र, अमरेन्द्र तिवारी, विनोद पांडेय, मुन्ना सिंह, जयनारायण मिश्र, सुशील पांडेय, डा. दिनेश सिंह, इंद्रदेव पांडेय, विश्राम मणि तिवारी, राहुल सिंह, श्री प्रकाश मणि आदि का कहना है कि सांसद ने गांव का चुनाव कर गौरव प्रदान किया है।
अब लगता है कि गांव का पिछड़ेपन दूर हो जाएगा लेकिन फिर भी यहाँ विकास नहीं हुआ
  • बरहज विधान सभा क्षेत्र के कार्यो को देखने व समस्याओं को जानने वाले भाजपा नेता अंगद तिवारी ने कहा कि सांसद कमलेश पासवान का यह कदम महत्वपूर्ण है।
  • इससे गांव का विकास होगा |
  • दो जिलों की संसदीय सीट में देवरिया जिले के गांव को महत्व देने से यहां के लोगों मे खुशी है।
  • ये हैं गांव की प्रमुख समस्याएं |
  • घाघरा व राप्ती नदी के संगम तट पर बसा कपरवार गांव विकास की दौड़ में पिछड़ गया है।
  •  विधान सभा क्षेत्र पेना के बाद दूसरा सबसे बड़ा गांव हैं।
  • गांव की आबादी लगभग दस हजार के करीब है।
  •  इसके बावजूद गांव विकास की दौड़ में पिछड़ गया है।
  • जल निकास, सड़क, पेयजल, शिक्षा, शौचालय का अभाव यहां की प्रमुख समस्या है।
होमियोपैथिक व आयुर्वेदिक अस्पताल तो है, लेकिन संसाधनों के अभाव में अनुपयोगी बन गए हैं
  • पेयजल के लिए लगी टंकी तकनीकी खराबी के चलते शो-पीस बन कर रह गई है।
  • इंडिया मार्का हैंडपंपों का पानी भी पीने लायक नहीं है।
  • नालियों अभाव में सड़क पर पानी जमा रहता है।
  • जूनियर स्तर से उपर शिक्षा का इंतजाम नहीं है।
नदियों की कटान से गांव को बचाना भी किसी चुनौती से कम नहीं है
  • कपरवार गांव की आबादी करीब दस हजार है।
  • यह छह टोला में बसा है।
  • जिसमें विनायकपुरी, कपरवार पूर्वी, पश्चिमी, नौका टोला, कुबाइच शामिल है।
  • समग्र गांव में चयनित था |
  • कपरवार गांव के विकास के लिए सपा की सरकार ने वर्ष 2005 में इस गांव को समग्र ग्राम विकास योजना के तहत चयनित किया था |
  • लेकिन गांव का विकास अपेक्षित नहीं हो सका |

Uttar Pradesh  Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें और ट्विटर पर फॉलो करें

यूट्यूबचैनल (YouTube)  को सब्सक्राइब करें

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : UP ORG DESK

Related posts

10 साल बाद लोकसभा चुनाव लड़ेंगे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव

Shashank

हम पर आक्रमण किया तो हमने बदला लिया: डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा

UP ORG DESK

मेहमानों के लिए 500 से भी ज्यादा लग्जरी कारों का इंतजाम

Bharat Sharma