कानपुर: यातायात के नियम समझाने का अपनाया अनोखा अंदाज़

used new way to teach traffic rule to E rickshaw drivers

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में कल्याणपुर व्यापार मण्डल ने एक अनूठा प्रयत्न किया है. ट्रैफिक नियमों को ताक पर रख कर ड्राईविंग करने वालों को कल्याणपुर व्यापार मंडल और कानपुर ग्रामीण उद्योग व्यापार मंडल के सदस्यों ने अनोखे तरीके से सड़क पर ड्राइविंग के नियम कायदे समझाए.

व्यापार मंडल और ग्रामीण उद्योग व्यापार मंडल ने किया जागरूक:

कानपुर कल्याणपुर व्यापार मंडल और कानपुर ग्रामीण उद्योग व्यापार मंडल के सदस्यों ने आज कल्याणपुर क्रासिंग से लेकर पुराना शिवली रोड तक सड़कों के किनारे सवारी भरने वाले, गलत साइड चलने वाले, नाबालिक ई-रिक्शा चालको, ईरिक्शा चलाने के दौरान मोबाइल पर बात करने वाले और ज्यादा सवारी भरने वाले ई-रिक्शा चालकों को जागरूक किया.

इसके लिए उन्होंने इन लोगों को माला पहनाया और उन्हे फूल भेंट कर के यातायात के नियम और कायदे समझाएं. साथ ही  उनका पालन करने का आग्रह भी किया।

क्या बोले जिलाध्यक्ष:

जिलाध्यक्ष संदीप पांडेय ने कहा कि कल्याणपुर क्रासिंग से पनकी रोड बहुत व्यस्त रोड है और यहां सभी प्रकार के वाहन निकलते है।

ऐसे में ई रिक्शा चालकों की मनमानी के कारण यहां हमेशा जाम लगा रहता है।

उन्होंने कहा कि हम लोगों ने आज ऐसे चालकों को जो यातायात नियमों का पालन नहीं करते हैं, उन्हे माला पहना कर उनका सम्मान किया.

साथ ही उन्हे नियमों के साथ सड़क पर चलने की हिदायत दी, जिससे आम जनता ही नहीं बल्कि व्यापारियों को भी सहूलियत हो.

ई- रिक्शा चालकों के कारण लगता है लंबा जाम:

उन्होंने कहा कि ऐसा करने से ई रिक्शा चालकों की वजह से लगने वाले जाम पर नियन्त्रण लगेगा और इससे ग्राहक दुकानों तक आसानी से पहुंच सकेगा.

बता दें कि शहर में ई-रिक्शा के कारण पूरी यातायात व्यवस्था ध्वस्त हो गयी है। कोई भी क्षेत्र हो, हर जगह रास्ता बाधित होता है.

इस समस्या से क्या आम आदमी और क्या व्यापारी सभी परेशान है। खासतौर पर भीड़ – भाड़ वाली जगहों में ईरिक्शा चालको की दबंगई और मनमानी राहगीरों को भारी पड़ा रही है।

Reporter : Avnish kumar

Related posts

लखनऊ में बलात्कार के बाद लड़की को जिंदा जलाया, महिलाओं ने किया हंगामा

Sudhir Kumar

मायावती की मंजूरी के बाद पूर्व मंत्री की बसपा में हुई वापसी

Shashank

स्वामी प्रसाद मौर्य ने जिन्ना को महापुरुष बताया, पार्टी से निकालने की उठी मांग

Shivani Awasthi

Leave a Comment