molestation with student during the exam time of up board
May, 24 2018 17:14
फोटो गैलरी वीडियो

परीक्षा के दौरान इज्जत बचाती रही छात्रा, कक्ष निरीक्षक ने कहा आदत डाल लो

Bharat Sharma

By: Bharat Sharma

Published on: Tue 13 Feb 2018 08:10 PM

Uttar Pradesh News Portal : परीक्षा के दौरान इज्जत बचाती रही छात्रा, कक्ष निरीक्षक ने कहा आदत डाल लो

कानपुर में परीक्षा के दौरान हाईस्कूल की छात्रा से छेड़छाड़ का एक शर्मनाक मामला मंगलवार को सामने आया है। छात्रा से तीन घण्टों तक एक छात्र लगातार छेड़छाड़ करता रहा और कक्ष निरीक्षक ने मूकदर्शक बने रहे। छात्रा ने इसकी जब शिकायत कक्ष निरीक्षक व केंद्र व्यस्थापक से की। शिकायत पर केंद्र व्यवस्थापक और कक्ष निरीक्षक ने उसे समझा-बुझा कर छोड़ दिया। परीक्षा के समाप्त होने के बाद छात्रा घर पहुंची और अपनी आपबीती परिजनों से सुनाई। जिसके बाद परिजन कालेज शिकायत करने पहुंचे तो कालेज प्रशासन ने परिजनों के साथ बदसलूकी करते हुए बाहर निकाल दिया। नाराज परिजनों ने इसकी लिखित शिकायत पुलिस से की।

जानकारी के अनुसार कानपुर के नौबस्ता थाना क्षेत्र स्थित वाई ब्लाक निवासी विमल तिवारी प्राइवेट नौकरी करते है। वह अपने पत्नी व बेटी के साथ रहते है, इनकी बेटी शिखा तिवारी हाईस्कूल की छात्रा है। शिखा चित्रा इंटर कालेज में हाईस्कूल का एग्जाम दे रही है। उसके बगल में एक छात्र बैठा है। छात्रा ने बताया कि आज मैथ का पेपर था ,सुबह की पाली में मै पेपर देने गई थी। मेरे बगल में एक लड़का बैठा हुआ था वह मुझसे नकल कराने का दबाव बना रहा था, जब मैंने नकल कराने से मना किया तो वह मेरा हाथ पकड़ कर खींचने लगा। इसके बाद वह मेरे साथ अश्लील हरकत करने लगा। इसका विरोध किया तो मुझे गलियां भी दे रहा था।

जब छात्रा ने इसकी शिकायत कक्ष निरीक्षक व केंद्र व्यस्थापक से की तो शिकायत पर केंद्र व्यवस्थापक और कक्ष निरीक्षक ने बड़ा ही शर्मनाक बात कहते हुए कहा कि इतना तो होता ही रहता है बर्दाश्त करने की आदत डाल लो। यह सुनते ही उसके आँखों से आंसू बहने लगे , तीन घंटे तक वह अपने मान-सम्मान की रक्षा करती रही। इससे वह इतनी आहत हो गई थी कि उसका पेपर देने में मन ही नहीं लग रहा था। इस दौरान वह लगातार अश्लील फब्तियां कसता रहा। जब छात्रा रोते हुए घर पहुंची और अपने परिजनों से अपनी आप बीती सुनाई। नाराज परिजन जब स्कूल पहुंचे तो कालेज प्रशासन ने उनके साथ बदसलूकी करते हुए बाहर निकाल दिया। जिससे नाराज परिजनों ने इसकी लिखित शिकायत पुलिस से की है।

 

केन्द्र व्यवस्थापक ने कहा नहीं है मामले की जानकारी

केंद्र व्यवस्थापक प्रत्यूस शुक्ला का कहना है कि हमें इस घटना जानकारी नहीं है क्योंकि कक्ष निरीक्षका ने हमें इस सम्बन्ध में जानकारी नहीं दी है। इतना कहते हुए वह खुद को बचाते नजर आये। जबकि छात्रा ने तहरीर में यह स्पष्ट रूप लिखा है केंद्र व्यव्थापक व् कक्ष निरीक्षका ने मुझसे कहा था यह सब तो होता रहता है बर्दास्त करने की आदत डालो।

 

पिता ने कहा शर्मनाक बात कर रहे है केन्द्र व्यवस्थापक

छात्रा के पिता के मुताबिक बेटी के साथ कालेज के अन्दर ऐसा व्यवहार है, लड़का उसका हाथ पकड़ कर खींच रहा है, अश्लील बातें कर रहा है, यह बड़े ही शर्म की बात है। जब बेटी ने इसकी शिकायत टीचरों से तो वह भी बेटी से शर्मनाक बात कर रहे हैं। इसी वजह से पुलिस से हमनें इसकी शिकायत की है। पुलिस हमारा मुकदमा लिख रही है।