Home » उत्तर प्रदेश » आजमगढ़ में हेलिकॉप्टर क्रैश, मौके पर पायलट की मौत,ये रही वजह

आजमगढ़ में हेलिकॉप्टर क्रैश, मौके पर पायलट की मौत,ये रही वजह

लख़नऊ। उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में सोमवार सुबह करीब साढ़े 11 बजे एक छोटा एयरक्राफ्ट क्रैश होने का मामला सामने आया। इसमें दो पायलट सवार थे। हादसे के बाद दोनों पैराशूट से कूद गए थे। लेकिन, एक की मौत हो गई वही एक सुरक्षित पास के गांव में मिले। फ़िलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए मामले की जांच में जुट गयी।

ख़राब मौसम की वजह से हुआ हादसा।

जानकारी के मुताबिक एक टू-सीटर चार्टर्ड एयरक्राफ्ट टीबी20 क्रैश हो गया यह हादसा सरायमीर थाना क्षेत्र के मनजीत पट्टी कुसहां में हुआ है। एयरक्राफ्ट की तेज आवाज सुनकर गांव के लोग मौके पर पहुंच गए। सरायमीर थाने के साथ ही अन्य थानों की पुलिस फोर्स भी मौके पर पहुंच गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, दोपहर करीब 11:20 बजे एक एयरक्राफ्ट आसमान से लड़खड़ाते हुए खेत में गिरा।

मौके पर पहुचे आस पास के लोग।

उसमें आग लगी थी धुआं निकल रहा था। तभी धमाके के साथ एयरक्राफ्ट नीचे आकर खेत में गिरा।हादसे के बाद दो लोग पैराशूट से कूदे थे। इसमें पायलट का शव मलबे में तब्दील हो चुके एयरक्राफ्ट से 400 मीटर की दूरी पर खेत में मिला है। पायलट की पहचान कोनार्क शरन(25) के रूप में हुई है। एसपी सुधीर कुमार सिंह के साथ ही अन्य अधिकारियों ने मौके का मुआयना किया। मामले की जानकारी वाराणसी एयरपोर्ट और रायबरेली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी को दे दी गई है।

सुबह से खराब था मौसम।

आजमगढ़ में सुबह 10.30 बजे से ही मौसम खराब होना शुरू हो गया था। तेज हवा के साथ ही बारिश हो रही थी। साथ ही बिजली भी कड़क रही थी। इस दौरान लगभग सवा 11 बजे सरायमीर थाना क्षेत्र के कोलपुर कुसहां और मंजीरपट्टी के बीच सीवान में तेज धमाके के साथ कुछ गिरने की आवाज आई। इसके बाद लोग मौके की ओर दौड़ पड़े। खराब मौसम में एक विमान हादसाग्रस्त हुआ था।

21 साल के थे ट्रेनी पायलट कोणार्क शरन 

अमेठी जिले के फुरसतगंज स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी (IGRUA) से आज सुबह लगभग 10:20 बजे ट्रेनी पायलट कोणार्क शरन ने TV-20 विमान से सोलो प्रशिक्षण के लिए उड़ान भरी थी। लगभग 11 बजकर 20 मिनट पर उनका यह विमान क्रैश हो गया।
IGRUA के मीडिया प्रभारी राम किशोर द्विवेदी ने बताया कि ट्रेनी पायलट कोणार्क शरन की मौत हो गई। ट्रेनी पायलट 21 वर्ष के थे और संस्थान में प्रशिक्षण के 125 घंटे पूरे कर चुके थे। कोणार्क शरन पलवर (हरियाणा) के रहने वाले थे। कोणार्क शरन के पिता एयर इंडिया में कार्यरत थे,जो अब रिटायर हो गए हैं। तीन बहनों में कोणार्क इकलौते भाई थे।

IGRUA से सुबह भरी थी उड़ान।

वही पुलिस ने वाराणसी एयरपोर्ट से संपर्क किया तो पता चला कि विमान रायबरेली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उरण अकादमी से सुबह नौ बजे उड़ा था। 11 बजे तक वाराणसी हवाई अड्डे की रडार में था, इसके बाद संपर्क कट गया था। रायबरेली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय उड़ान अकादमी से जानकारी ली गई तो पता चला कि ये ट्रेनिंग के लिए प्रयोग किया जाना वाला टू-सीटर चार्टर्ड एयरक्राफ्ट है। इससे कोनार्क सरण(25) ने सुबह नौ लेकर उड़न भरी थी पुलिस की ओर से जानकारी देने के बाद वहां से जांच के लिए टीम भेजने की बात कही गई है। पायलट के शव को मोर्चरी भेज दिया गया है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Tanmay Baranwal

Related posts

भाजपा की जाति-धर्म की राजनीति देश के लिये खतरनाक

Sudhir Kumar

DGP ओपी सिंह ने माॅडल पुलिस थाना कोतवाली के नवीनीकृत भवन का उद्घाटन किया

Desk

मैनपुरी बस हादसा: CM योगी देंगे मृतकों के परिजनों को 2 लाख आर्थिक मदद

Shivani Awasthi