हरदोई: बच्चों को बांटने के लिए फर्म ने दिए घटिया जूते

Hardoi: Firm Supplied Poor Shoes To Distribute Children

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भले ही सख्त हों लेकिन भ्रष्टाचार में लिप्त उनके अधिकारी अपनी आदत से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला हरदोई जिला का है। यहां परिषदीय विद्यालयों में अध्ययनरत विद्यार्थियों को विभाग की ओर से उपलब्ध कराए जाने वाले जूतों की गुणवत्ता में आपूर्तिकर्ता फर्म ने खेल कर दिया। नमूने में बेहतरीन जूता भेजा गया। आपूर्ति में घटिया गुणवत्ता के जूते भेज दिए गए। एसडीएम शाहाबाद श्रद्धा शाणिल्यान ने घटिया गुणवत्ता के जूते विद्यार्थियों को वितरित कराने से इनकार कर दिया। उन्होंने जूते वापस भेजने के लिए रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेज दी है। सूत्रों के मुताबिक आपूर्तिकर्ता की ओर से जूतों की पूरी खेप रिजेक्ट न किए जाने को लेकर एसडीएम पर दबाव बनाने की कोशिशें भी हुईं। इन कोशिशों में कुछ सामाजिक तो कुछ शिक्षा विभाग के कथित नेता भी शामिल थे। एसडीएम ने साफ कह दिया कि गुणवत्ताहीन जूतों की आपूर्ति किसी हाल में नहीं ली जाएगी।

नमूना शानदार दिखाकर कर दी घटिया आपूर्ति

जानकारी के मुताबिक, मामला शाहाबाद विकास खंड का है। यहां 234 परिषदीय स्कूल हैं। इनमें अध्ययनरत 25900 विद्यार्थियों को बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से नि:शुल्क जूते उपलब्ध कराए जाने हैं। शासन स्तर से जूते की सप्लाई के लिए कलकत्ता की खादिम इंडस्ट्रीज को नामित किया गया था। जूतों की आपूर्ति भी कर दी गई। जिलाधिकारी ने आपूर्ति किए गए जूतों की गुणवत्ता जांचने के लिए एसडीएम श्रद्धा शाणिल्यान, खंड शिक्षा अधिकारी मनोज बोस और खंड विकास अधिकारी ऋषिपाल सिंह की संयुक्त टीम गठित की थी। डीएम ने यह निर्देश भी दिए थे कि जिस सैंपल के आधार पर संबंधित कंपनी को जूते की आपूर्ति का ठेका दिया गया, उससे भी आपूर्ति किए गए जूतों का मिलान कर लिया जाए। एसडीएम श्रद्धा शाणिल्यान ने डीएम के निर्देश पर नमूने के तौर पर भेजे गए जूते और आपूर्ति किए गए जूतों का सत्यापन किया तो दोनों में भारी अंतर निकला। मिलान के दौरान जूतों की ऊंचाई, सोल और सिलाई के साथ-साथ गुणवत्ता में भी स्तर निमभन मिला। एसडीएम ने जूतों को वितरण के लिए अनुपयुक्त मानते हुए वापस कराने के संबंध में जिलाधिकारी को रिपोर्ट भेज दी है।

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

जन्मदिन पर शिवपाल यादव कर सकते हैं बड़ा ऐलान

Shashank

बाराबंकी में गूंजें ‘योगी जी प्रबंध करो, छुट्टा जानवर बंद करो’ के नारे

Shashank

ADG और SSP ने PRV की 58 बाइकों को हरी झंडी दिखाई

Sudhir Kumar

Leave a Comment