Home » उत्तर प्रदेश » NCR में शामिल होंगे यूपी के 4 जिले

NCR में शामिल होंगे यूपी के 4 जिले

Four districts

यूपी के चार जिले मथुरा, अलीगढ़, हाथरस और बिजनौर को NCR में शामिल किया जाएगा। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में शामिल होने के लिए यूपी से प्रस्ताव भेजा गया है। यह प्रस्ताव आवास एवं शहरी नियोजन विभाग ने एनसीआर प्लानिंग बोर्ड को भेजा है। अब एनसीआर में शामिल होने वालों की ज़िलों की सख्या 27 हो जाएंगी।

प्लानिंग बोर्ड ने भेजा था प्रस्ताव  

प्रमुख सचिव आवास एवं शहरी नियोजन विभाग मुकुल सिंघल ने इस संबंध में एनसीआर बोर्ड को प्रस्ताव भेज दिया है। इस पर अंतिम फैसला अब एनसीआर बोर्ड करेगा, बता दें कि इससे पहले शामली को एनसीआर में शामिल किया गया था। अब एनसीआर में शामिल जिलों की सख्या 27 हो जाएगी।

यूपी सरकार के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि आवास एवं शहरी नियोजन विभाग ने मथुरा, अलीगढ़, हाथरस और बिजनौर के डीएम को पत्र भेजकर जिले के बारे में पूरी जानकारी मांगी थी. इसमें पूछा गया कि शहर की कुल आबादी कितनी है, शहरों में मूलभूत सुविधाएं क्या-क्या हैं.

पहले भी हो चुके  है कई जिले एनसीआर में शामिल

इन जिलों के एनसीआर में शामिल करने के बाद कितनी सुविधाओं की जरूरत पड़ेगी. आवास विभाग ने रिपोर्ट मिलने के बाद इन चार जिलों को एनसीआर में शामिल करने का प्रस्ताव बोर्ड को भेजा है. मौजूदा समय गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, मेरठ, बुलंदशहर, हापुड़, बागपत और मुजफ्फरनगर जिले एनसीआर में आते हैं.

बीते सर्वे के दौरान नए नॉर्म्स का यूज करने के बाद एनसीआर का नया जोनल प्लान बनाने की तैयारी की जा रही है।  अभी एनसीआर में यूपी के गाजियाबाद, मेरठ, बागपत, हापुड़, गौतमबुद्ध नगर, मुजफ्फरनगर और बुलंदशहर जिले शामिल हैं। मुजफ्फरनगर को अभी हाल ही में एनसीआर में शामिल किया गया है। एनसीआर में यूपी के इन जिलों को साल 1986-87 में हुए सर्वे रिपोर्ट के आधार पर शामिल किया गया था।दरअसल इन जिलों में अब सभी मुलभूत सुविधाएं मिलने लगेगी। यहां के लोगों को शिक्षा व्यवस्था, रोजगार के भी अवसर मिलगें।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

मजदूर मुक्ति की लड़ाई से जुड़ी हुई है स्त्री मुक्ति की लड़ाई

Sudhir Kumar

VIDEO: जालौन में भाजपा नेताओं ने सरेआम बीच बाजार की फायरिंग

Shashank

मजहब के नाम पर बाँटने वाले आलिया से सीखें – सीएम योगी

kumar Rahul