Home » उत्तर प्रदेश » शामली: इंसाफ़ के इंतज़ार में पिता की मौत, परिजनों का बुरा हाल

शामली: इंसाफ़ के इंतज़ार में पिता की मौत, परिजनों का बुरा हाल

शामली में न्याय का इंतज़ार एक पिता के लिए इतना लम्बा हो गया की बेटे की मौत के सदमे में ही उसकी मौत हो गई. बेटे की हत्या के बाद न्याय को दर-दर भटक रहे पिता को मिली तो केवल निराशा। अब पिता की मौत होने के बाद परिजनों ने एक सप्ताह में न्याय नहीं मिलने पर मुख्यमंत्री ऑफिस के बाहर आत्मदाह करने की चेतावनी दी है। पिता की भी मौत हो जाने पर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल।पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस कोई सुनवाई नहीं कर रही हैं।

क्या है पूरा मामला:

दरअसल आपको बता दें कि करीब 1 माह पूर्व जनपद शामली के कांधला थाना क्षेत्र के मोहल्ला खैल निवासी मकसूद का 19 वर्षीय पुत्र शाहनवाज कैराना कोतवाली के दभेड़ी खुर्द में मां के पास गया हुआ था। आरोप है कि इसी बीच शाहनवाज को दभेड़ी खुर्द के ही आरिफ, आसिफ, वकील और शाहदीन यमुना नदी पर नहाने के लिए गए।वहां शाहनवाज की यमुना में डूबकर मौत हो गई। परिजनों ने शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया। जिसके बाद पांच जुलाई को मृतक के भाई फेहमीद ने चारों लोगों पर भाई की हत्या करने का आरोप लगाते हुए एसपी दिनेश कुमार से पोस्टमाटर्म कराने की मांग की थी। इसी बीच बेटे की मौत पर पुलिस से न्याय ना मिलने से आहत मकसूद की भी सदमे में मौत हो गई।

पुलिस ने दोबारा करवाया पोस्टमाटर्म:

एसपी के आदेश पर कैराना पुलिस और नायब तहसीलदार ने शव कब्र से निकाल पोस्टमाटर्म के लिए भेज दिया था। इसके बाद बिसरा जांच के लिए आगरा फॉरेंसिक लैब भेज दिया। पुलिस जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है।परिजन हत्या के मामले में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर के प्रदेश के डीजीपी तक को शिकायत कर न्याय के लिए दर-दर भटक कर गुहार लगा रहे हैं। वहीँ पुलिस अभी इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रही है.

बलिया: मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने चार शराब तस्करों को पकड़ा

इटावा: भारी बरसात के चलते तालाब बना विद्यालय

बिजनौर:अनियंत्रित बस पेड़ से टकराई, हादसे में 3 की मौत,12 घायल

लखनऊ: जजों का ऐतिहासिक तबादला, 683 जजों का हुआ ट्रांसफर

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : शामली: इंसाफ़ के इंतज़ार में पिता की मौत, परिजनों का बुरा हाल

Related posts

बाँदा लोकसभा 2019 के चुनाव के लिए इसे चुनेगी उम्मीदवार के रूप में सपा

UPORG DESK 1

गठबंधन का असर, बाबा साहेब की जयंती बड़े स्तर पर मनाएगी सपा

Shivani Awasthi

मौसम का मिजाज बदलते ही बुलंदशहर में बढने लगी है मरीजो की तादाद

UPORG DESK 1