Home » उत्तर प्रदेश » नई नीति के तहत मुआवजे की मांग कर रहे किसान

नई नीति के तहत मुआवजे की मांग कर रहे किसान

Farmers demand compensation under new policy

प्रदेश के मेरठ जिले के किसान बरसों से अपनी जमीन अधिग्रहण के बढ़े हुए मुआवजे की मांग कर रहे है। किसानों की जमीनों को मेरठ विकास प्राधिकरण ने कब्जे में ले लिया है। करीब 30 साल पहले कौड़ियों के भाव में किसानों की जमीनें प्राधिकरण ने अधिग्रहण कर ली थी। किसान बरसों से प्रतिकर और फिर नई अधिग्रहण नीति के मुताबिक जमीन की कीमत की मांग रहे थे। अधिग्रहण के बाद से ये जमीनें किसानों के कब्जे में थी।

मेरठ के गंगानगर में 208 एकड़ जमीन पर कब्जा लेने के लिए जिले की पुलिस, पीएसी की फौज ने दो दिन पहले किसानों को जमकर पीटा। किसानों के उपर पथराव औऱ गोली चलाने के आरोप लगाकर फर्जी केस दर्ज करा दिये।

करोड़ों रूपये कीमत की खड़ी फसल पर बुलडोजर और ट्रैक्टर चलाकर उजाड़ दिए।

नई अधिग्रहण नीति के मुताबित दशकों से जो जमीन मौके पर कब्जे में नही है।

उसका मूल्य नये कानून के हिसाब से देना होगा।

ये भी पढ़ें : इस्तीफे पर बोले CM, पार्टी जैसा कहेगी वही करूँगा!

लेकिन सरकार और प्राधिकरण की दादागीरी ने कानून को ठेंगा दिखाकर किसानों की जमीन बंदूक की नोंक पर छीन ली है।

ये किसान 30 साल से अपनी जमीन की मुनासिब कीमत मांग रहे थे।

1992 में मेरठ विकास प्राधिकरण ने गंगानगर के किसानों की जमीन 210 रूपये वर्ग मीटर के मुआवजा में उनकी रजामंदी के बगैर अधिग्रहण की थी।

ये भी पढ़ें : वाराणसी में सीएम योगी ने लांच किया एडवांस बाइक दस्ता

कुछ ने मुआवजा लिया तो कुछ ने कीमत बढ़ाने की मांग के चलते मुआवजा नही लिया।

आंदोलन हुए, किसानों की छाती गोलियों से भेदी गयी।

लेकिन किसानों ने जमीन से कब्जा नही छोड़ा ।

अफसरों से लेकर सरकार तक से मुआवजा और प्रतिकर बढ़ाने की मांग करते रहे।

साल 2017 के अंत में किसानों ने कड़कड़ाती ठंड में दिन-रात आंदोलन किये।

ये भी पढ़ें : अखिलेश के इन ‘घोटालों’ पर आज जारी होगा ‘श्वेत-पत्र’, योगी सरकार…

बीजेपी के विधायक सोमेन्द्र तौमर ने किसानों का आंदोलन तुड़वाया और शासन से बढ़े हुए प्रतिकर की फाइल भेजी।

इसी बीच वायदे से मुकरे प्राधिकरण ने किसानों की जमीन पर बुलडोजर चला दिया।

प्राधिकरण वाले साहब कह रहे है कि सरकार अगर खैरात देगी तो किसानों को बांट दी जायेगी।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

सोनिया गांधी पर दर्ज हो सकता है धोखाधड़ी का केस

Sudhir Kumar

मिनी चिड़िया घर के खूबसूरती में चार चांद लगा रहे संजय सिंह

Vishesh Tiwari

डिप्रेशन से पीड़ित व्यक्ति ने किया आग लगा कर आत्महत्या का प्रयास

Shambhavi