Home » उत्तर प्रदेश » तीसरे दिन बॉलीवुड नाईट से झूमा ताज महोत्सव

तीसरे दिन बॉलीवुड नाईट से झूमा ताज महोत्सव

ताज महोत्सव के तीसरे दिन शिल्पग्राम का मुक्ताकशीय मंच पर बॉलीवुड का जबरदस्त तड़का लगा। मुक्ताकशीय मंच पर रात 10 बजे गायिका भूमि त्रिवेदी मंच पर पहुंची और इसी के साथ धमाल शुरू हो गया। देर रात तक शिल्पग्राम उनके सुरों के साथ झूमता रहा। हालांकि, दर्शक दीर्घा में कमी देखने को मिली जिससे कुर्सियां खाली पड़ी हैं। अधिकारी महोत्सव बन चुके ताज महोत्सव की स्थिति को बयां कर रही।

लगातार दर्शकों की कमी से ताज महोत्सव जूझ रहा है। ताज महोत्सव में आयोजित बालीवुड नाईट से भरोसा था कि दर्शकों की संख्या बढ़ जायेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। महोत्सव के तीसरे दिन भी दर्शकों की संख्या पहले दो दिनों की तरह ही रही। जिसे लेकर जहाँ अधिकारियों के माथे पर शिकन दिख रही है तो वहीं दूर-दराज से आये हुए शिल्पी कम बिक्री होने की वजह से उदास है।

भूमि के गीतों पर झूमा आगरा

महोत्सव के तीसरे दिन मंगलवार देर शाम को शिल्पग्राम के मुख्य मंच पर मुख्य आकर्षण बॉलीवुड नाइट रही। इसमें गायिका भूमि त्रिवेदी ने सुरों की महफिल सजाई। उन्होंने शुरुआत गीत रांझन दे याद बुलया.. से की। सुरों के उतार-चढ़ाव के साथ तालियां गूंज रही थीं। इसके बाद उन्होंने जुगनी.. गीत सुनाया। जब उन्होंने अपना हिट सांग राम चाहे लीला चाहे राम, इन दोनों के लव में दुनिया का क्या काम.. सुनाया तो युवाओं ने उनके साथ सुर में सुर मिलाया। जग घुमेया थारे जैसा न कोई.., इश्क सूफियाना.., जालिमा.., बन्नो रे बन्नो मेरी चली रे ससुराल को.. जैसे गीतों से उन्होंने महफिल की रौनक बढ़ाई। वहीं, महोत्सव में लगातार तीसरे दिन भी सन्नाटा पसरा रहा। महोत्सव में शहरवासी नहीं पहुंच रहे हैं। इससे शिल्पी भी उदास हैं।

ढाई वर्ष की उम्र से ही था गाने का शौक

ताज महोत्सव में मंगलवार को प्रस्तुति देने आईं पाश्र्व गायिका भूमि त्रिवेदी ने कहा कि ताज महोत्सव में प्रस्तुति देना उनके लिए गर्व की बात है। इस मंच पर बड़े-बड़े कलाकार प्रस्तुतियां दे चुके हैं। यह उनके करियर के लिए माइल स्टोन साबित होगा और उन्हें बढ़त मिलेगी। भूमि शिल्पग्राम के मुख्य मंच पर प्रस्तुति देने से पूर्व ग्रीनरूम में प्रेसवार्ता कर रही थीं। उन्होंने कहा कि उन्हें ढाई वर्ष की उम्र से ही गाने का शौक था। माता-पिता ने उनकी प्रतिभा को पहचाना और हमेशा प्रोत्साहित किया। इंडियन आइडल में वर्ष 2007 में पीलिया और वर्ष 2008 में आंटी की मौत की वजह से बाहर हो गई। वर्ष 2009 में रनर-अप रही। वर्ष 2012 में फिल्मी करियर फिल्म ‘प्रेममयी’ के गीत बहने दे.. से शुरू हुआ।

नाना पाटेकर से मिला कांप्लीमेंट

टैलेंट शो के सवाल पर उन्होंने कहा कि उभरती हुई प्रतिभाओं के लिए यह शो अच्छे हैं। इससे उन्हें उचित मंच मिलता है। वह स्वयं भी ऐसे ही शो से आई हैं। इससे हर साल एक दर्जन से अधिक अच्छे गायक निकलकर सामने आ रहे हैं। भूमि ने बताया कि नाना पाटेकर से उन्हें सबसे बड़ा कांप्लीमेंट मिला था। उन्होंने फिल्म वेडिंग एनिवर्सरी में उनके लिए गीत मोरा सैंया.. गाया था। एयरपोर्ट पर जब वह अपनी पत्नी के साथ मिले तो उन्होंने कहा कि इसकी आवाज अच्छी है और विचित्र भी है।

पहले भी आ चुकी है ताज

भूमि ने बताया कि वह पहले भी आगरा आ चुकी हैं। तब वह ताज के सौंदर्य में इतना खो गई थीं कि अपनी फ्लाइट का समय भी भूल गईं। वह तीन घंटे तक ताज में रुकी थीं। इसके चलते उन्हें दूसरी फ्लाइट के लिए आठ घंटे तक इंतजार करना पड़ा था।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

आलमबाग चौराहे का नाम बदला, अब कहलाएगा शहीद संत कंवरराम चौराहा

Shivani Awasthi

पूरा देश मना रहा डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर 127वीं जयंती

Sudhir Kumar

हज कमेटी का यूपी में जल्द गठन करे योगी सरकार – मो. अकील

Sudhir Kumar

Leave a Comment