Home » उत्तर प्रदेश » भाजपा विधायक ने नहीं बांटने दिया गरीबों को भोजन

भाजपा विधायक ने नहीं बांटने दिया गरीबों को भोजन

uttarpradesh.org logo

आप सांसद संजय सिंह और विधायक दिलीप पांडे को राहत सामग्री के साथ वापस लौटाया।

मोदीनगर। नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद से उत्तर प्रदेश में अपने मूल जनपदों को जा रहे मजदूरों को राहत सामग्री और भोजन बांटने पहुंचे आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और विधायक दिलीप पांडे को स्थानीय भाजपा विधायक डॉ मंजू ने रोक दिया। भोजन और राहत सामग्री वितरण कार्यक्रम का विरोध करने पहुंची भाजपा विधायक डॉ मंजू ने आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और विधायक दिलीप पांडे से काफी देर कहासुनी की और फरमान सुना दिया कि यह भोजन और राहत सामग्री मजदूरों को नहीं बांटी जा सकती। शहरों से अपने घर वापस लौट रहे मजदूरों को स्थानीय गिन्नी देवी डिग्री कॉलेज में रोका गया था। यहां रोके गए मजदूरों को राहत सामग्री और भोजन बांटने के लिए सांसद संजय सिंह और विधायक दिलीप पांडे स्थानीय समाजसेवियों और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ दोपहर 3:00 बजे के करीब गिन्नी देवी डिग्री कॉलेज पहुंचे। इसकी सूचना मिलते ही स्थानीय भाजपा विधायक डॉ मंजू अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंची और भूखे मजदूरों को उन्होंने डिग्री कॉलेज के अंदर बंद करवा दिया। भाजपा विधायक डॉक्टर मंजू ने कहा कि राहत सामग्री और भोजन कौन बांट सकता है, यह केवल तहसीलदार तय करेगा। आम आदमी पार्टी के नेताओं को भोजन और राहत सामग्री बांटने का कोई अधिकार नहीं है। भाजपा विधायक डॉ मंजू और उनके समर्थक मौके पर विरोध करने लगे और उन्होंने सांसद संजय सिंह, विधायक दिलीप पांडे, स्थानीय समाजसेवियों और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को भोजन और राहत सामग्री समेत वापस लौटा दिया। ना उन्होंने राहत सामग्री और भोजन को डिग्री कॉलेज के अंदर जाने दिया और न भूखे मजदूरों को राहत सामग्री या भोजन लेने के लिए बाहर आने दिया।

इस मौके पर सांसद संजय सिंह ने कहा कि भाजपा विधायक डॉ मंजू जी का विरोध भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गरीब विरोधी मानसिकता को दर्शाता है। आम आदमी पार्टी के विधायक दिलीप पांडे ने कहा की एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी कहते हैं कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए सभी राजनीतिक दलों, कार्यकर्ताओं और नागरिकों को साथ आना होगा वहीं भाजपा के नेता विधायक और मुख्यमंत्री इस मुद्दे पर शर्मनाक घटिया राजनीति कर रहे हैं। पांडे ने कहा की भाजपा ने गरीब मजदूरों को मरने के लिए छोड़ दिया है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Tanmay Baranwal

Related posts

कानपुर: संदिग्ध परिस्थितियों मिला युवक का शव, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

Shashank

गुरु और चेले ममता बनर्जी के पीछे पड़े हैं-मायावती

Desk

मीडिया की उपेक्षा हमारी पार्टी के लोग ही ज्यादा करते हैं : मुलायम सिंह यादव

UP ORG DESK