Home » उत्तर प्रदेश » बुलंदशहर हिंसा : फौजी जीतू कश्मीर के कारगिल से गिरफ्तार

बुलंदशहर हिंसा : फौजी जीतू कश्मीर के कारगिल से गिरफ्तार

Army soldier jeetu arrested from kargil for Bulandshahr violence

बुलंदशहर ( Bulandshahr Violence) के स्याना क्षेत्र के गांव चिंगरावठी के बवाल (Violence) में हुई इंस्पेक्टर ( Inspector Subodh Kumar) की हत्या में सबसे अहम माना जा रहा फौजी जीतू पुलिस के शिकंजे में आ गया है।

बुलंदशहर हिंसा : फौजी जीतू कश्मीर के कारगिल से गिरफ्तार

जीतू को कश्मीर से एसटीएफ और पुलिस की टीम लेकर बुलंदशहर आ रही है, वह वहां पर कारगिल में तैनात है। बवाल के अगले ही दिन जाकर उसने ड्यूटी ज्वाइन की थी। आरोप है कि उसने ही इंस्पेक्टर की पिस्टल उठायी थी। उसके पास इंस्पेक्टर की पिस्टल होने और उसी के द्वारा इंस्पेक्टर को गोली मारे जाने का भी संदेह पुलिस को है।

बवाल को लेकर 2.48 मिनट का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक युवक को इंस्पेक्टर की लाश के पास से कुछ उठाते हुए दिखाया गया है। इसी युवक पर इंस्पेक्टर को गोली मारने का भी संदेह अधिकारियों को है। इस युवक की शिनाख्त महाव गांव के जीतू फौजी के रूप में होने का दावा किया जा रहा है। उसके बारे में जानकारी करने पर पता चला कि वह कारिगल में तैनात है और हिंसा के बाद ही वह शाम को निकल गया था और अगले ही दिन उसने अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली थी।

पुलिस ने पूरी घटना से संबंधित करीब 203 वीडियो जुटाई हैं, जिनमें यह देखा जा रहा कि बवाल कहां से शुरू हुआ और लोगों की भीड़ कैसे उत्तेजित हुई। इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को किसने गोली मारी और उसका हत्यारोपी कौन है। यह भी जांच का विषय है कि स्थानीय युवक सुमित को किसकी गोली लगी।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक सोशल साइट पर करीब 180 वीडियो वायरल हुए, जबकि बवाल के दौरान 23 वीडियो पुलिस वालों ने बनाए थे। साइबर सेल ने वीडियो फुटेज को बारीकी से देखा। जिसमें फौजी गोली चलाता साफ दिखाई दे रहा है। इसी को आधार बनाकर पुलिस ने फौजी पर ही फोकस किया है।

वरिष्ठ अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार को कश्मीर में सेना ने जीतू फौजी को एसटीएफ और पुलिस की टीम के सुपुर्द कर दिया है और वह उसे लेकर बुलंदशहर आ रही है। इसके आने के बाद कुछ और अहम खुलासे होने की उम्मीद अधिकारियों को है।

 

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Desk

Related posts

लंबी समय से बीमारी से जूझ रहे सपा नेता ने खुद को गोली मारकर की खुदकुशी

Shashank

लखनऊ: कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने सीट बदलने की मांग की

UP ORG Desk

स्वास्थ्य कार्यक्रमों में लापरवाही बर्दाश्त नहीं: सचिव, पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग

Shani Mishra

Leave a Comment