contractor making the toilets, no money for beneficiaries
August, 17 2018 10:51
फोटो गैलरी वीडियो

अमेठी: लाभार्थियों के खाते में नहीं आया पैसा, ठेकेदार बनवा रहे शौचालय

Shambhavi

By: Shambhavi

Published on: Fri 10 Aug 2018 04:33 PM

Uttar Pradesh News Portal : अमेठी: लाभार्थियों के खाते में नहीं आया पैसा, ठेकेदार बनवा रहे शौचालय

अमेठी जहां देश को स्वच्छ बनाने में केंद्र सरकार ने जी जान लगा दी है लेकिन निचले स्तर के मातहतों ने इसमें भी घुन को जगह दे दी है क्योंकि जो पैसा सीधे लाभार्थियों के खाते में जाकर शौचालय बनाने के लिए इस्तेमाल होना चाहिए था उसके लिए अमेठी में ठेकेदार को लगा दिया गया है। तो जाहिर है कि ठेकेदारी प्रथा से शौचालय बनवाकर भ्रष्ट्राचार का रास्ता खोल दिया हैं।

ठेकेदारी प्रथा से हो रहा है शौचालय का निर्माण:

हर घर में शौचालय बनवाने का लक्ष्य की हकीकत की पड़ताल में मिला की अमेठी जिले में धड़ल्ले से ठेकेदार शौचालय बनवाने में जुटे है। आखिरकार केंद्र सरकार के महत्वकांक्षी स्वच्छ्ता अभियान को कर्मचारियों और अधिकारियो की मिलीभगत से भ्रष्ट बनाया जा रहा है।

दरअसल जिले को 2 अक्टूबर तक पूरी तरह से बाह्य शौच मुक्त करना है जिसे लेकर नियमों को ताक पर रख कर भेटुआ ब्लॉक के कड़ेरगांव में ठेकेदारी प्रथा से शौचालय का निर्माण कराया जा रहा है। जबकि सरकार की मंशा के मुताबिक शौचालय निर्माण का पैसा सीधे लाभार्थी के खाते में जाएगा और लाभार्थी अपना शौचालय स्वयं बनवाएगा।

लेकिन अधिकारियों की मिली भगत से ठेकेदार शौचालय का निर्माण करवा रहे है। अमेठी की हक़ीक़त जो सामने आई है उसे देखकर साफ साफ लग रहा हैं कि भ्रष्टाचार किस कदर हावी हैं।

लाभार्थियों ने खाते में नहीं आया कोई पैसा:

भेटूआ ब्लॉक के कड़ेरगांव गांव में ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि हमारे गांव में ठेकेदार धड़ल्ले से शौचालय बनवा रहें हैं। हमारे खाते में कोई पैसा नहीं आया। एक तरफ जहां स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य हैं पूरे देश को खुले से शौच मुक्त करना है। इसके लिए सरकार जी जान से जुटी हुई हैं और जिले के हर गांव के घर में शौचालय बनवाए जा रहे हैं जिससे लोग खुले में शौच के लिए ना जाएं। सरकार की मंशा है कि दो अक्टूबर तक पूरे देश को खुले से शौच मुक्त कर दिया जाए, लेकिन अमेठी के कड़ेरगांव के ग्रामीणों की माने तो हर शौचालय ग्राम प्रधान और ठेकेदार बनावा रहें है।

वही जिला पंचायत राज अधिकारी का कहना है कि दो अक्टूबर गांधी जयंती तक जिले को बाह्य शौच मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है, हर गांव में शौचालय बनवाने के लिए सरकार सीधे लाभार्थियों के बैंक खाते में पैसा भेज रही है जिससे वो स्वंय बेहतर शौचालय का निर्माण कर सकें और स्वच्छ अभियान को रफ्तार दी जा सकें।

लेकिन गांवों में ठेकेदारी से धड़ल्ले से शौचालय बनने के सवाल पर अमेठी डीपीआरओ ने कहा कि, “ये मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। अभी मैं एडीओ पंचायत से बात करता हूं। अगर कहीं ऐसा हो रहा है तो निश्चित रुप से एडीओ पंचायत से जांच कराकर उसके खिलाफ कार्रवाही की जाएगी क्योंकि शौचालय से लाभार्थियों को बनाना है। ठेकेदारी प्रथा में शौचालय नहीं बनाया जाना हैं।”

बहराइच: कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय की बीमार छात्रा से दुष्कर्म

.........................................................

Web Title : contractor making the toilets, no money for beneficiaries
Get all Uttar Pradesh News  in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment,
technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India
News and more UP news in Hindi
उत्तर प्रदेश की स्थानीय खबरें .  Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट |
(News in Hindi from Uttar Pradesh )