फतेहपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र उतरप्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 49वें नंबर की लोकसभा सीट है| इसके अन्दर पूरा फतेहपुर जिला आता है| फतेहपुर जिला इलाहबाद मंडल का हिस्सा है जिसका प्रशासनिक मुख्यालय फतेहपुर शहर है| फतेहपुर गंगा और यमुना के तट पर बसा है| इसके कई जगहों का वर्णन पुराणों में भी मिलता है|फतेहपुर का असोथर ‘अश्वथामा की नगरी’ और भिटौरा ‘महर्षि भृगु की तपो भूमि’ के रूप में विख्यात है| 4,152 वर्ग किलोमीटर में फैले इस जिले में कई दर्शनीय चीजें स्थल है| बावनी इमली इनमे से एक है, यह स्मारक पहले स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों द्वारा दिए गए सर्वोच्च बलिदान का प्रतिक है| स्थानीय लोगों के मुताबिक़ 28 अप्रैल 1858 को ब्रिटिश आर्मी ने बावन स्वतंत्रता सेनानियों को इस इमली के पेड़ से लटकाकर फांसी दे दी थी तब से इस पेड़ को बावनी इमली कहा जाने लगा| 20११ की जनगणना के अनुसार फतेहपुर की आबादी 2,632,733 है जिनमे से महिलाओं की जनसंख्या 1,248,011 जबकि पुरुषों की जनसंख्या 1,384,722 है| यहाँ प्रति 1000 पुरुषों पर 901 महिलायें है| 2001 से 20११ तक फतेहपुर की आबादी में 14.05% की वृद्धि हुई| यह बढ़ोतरी 1991 से 2001 के बीच 21.53% थी| यहाँ प्रति वर्ग किलोमीटर में 634 लोग रहते है, 2001 में यह आंकड़ा 556 था|फतेहपुर जिले की 87.77% आबादी गाँवों में और 12.23% आबादी शहरों में रहती है| जिले की औसत साक्षरता दर 67.43% है, जिनमे पुरुषों की साक्षरता दर 77.19% और महिलाओं की साक्षरता दर 56.58% है| फतेहपुर मूल रूप से हिन्दू बहुल क्षेत्र है| यहाँ की आबादी का 86.40% हिस्सा हिन्दू और 13.32% हिस्सा मुस्लिम धर्म को मानता है| फतेहपुर जिला में तीन तहसीलें आती है-

खागा, फतेहपुर और बिन्दकी |

फतेहपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में उतरप्रदेश की  छ: विधानसभा सीटें आती है-

जहानाबाद, अयाह शाह, बिन्दकी, हुसैनगंज, फतेहपुर, खागा

खागा की सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है|

Fatehpur
वर्तमान में यहाँ से भाजपा की साध्वी निरंजना ज्योति सांसद है.

[penci_blockquote style=”style-1″ align=”none” author=””]वर्तमान में यहाँ से भारतीय जनता पार्टी की साध्वी निरंजना ज्योति सांसद है.[/penci_blockquote]

अस्तित्व में आने की बाद से ही फतेहपुर की लोकसभा की सीट सामान्य श्रेणी की सीट रही है| 1957 में इस सीट पर पहली बार चुनाव हुए| पहले चुनाव के समय फतेहपुर की सीट उतरप्रदेश की 35वीं लोकसभा सीट हुआ करती थी| पहला आमचुनाव जीतकर  कांग्रेस के अंसार हर्वानी चुनाव जीतकर फतेहपुर के पहले सांसद बने| 1962 में आई एन डी ने फतेहपुर में जीत दर्ज की| 1967 और 1971 में कांग्रेस में कांग्रेस लगातार दो बार यहाँ से जीती|1977 में तीसरी जीत की उम्मीद लगाये बौठी कांग्रेस की उम्मीदों पर भारतीय लोकदल के बशीर अहमद ने पानी फ़ेर दिया| अगले ही साल 1978 में उपचुनाव हुए जुसमे जनता पार्टी के एस.एल.हुसैन ने जीत दर्ज की| 1989 और 1991 में पूर्व प्रधानमन्त्री विश्वनाथ प्रताप सिंह इस सीट से जीतकर सांसद बने| 1996 में बसपा ने इस सीट पर कब्ज़ा किया| 1998 और 1999 में बीजेपी ने लगातार दो बार इस सीट लगातार दो बार जीत दर्ज की| 2004 में बसपा के महेंद्र प्रसाद निषाद ने सपा प्रत्याशी को हराया जिसका बदला 2009 में हुए आमचुनाव में सपा के राकेश सचान ने बसपा के महेंद्र निषाद को हराकर ले लिया| वर्तमान में यहाँ से भारतीय जनता पार्टी की साध्वी निरंजना ज्योति सांसद है| यह अक्सर अपने बयानों को लेकर विवादों में रहती है| मौजूदा वक़्त में यह केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री है|

लोकसभा वर्ष पार्टी नाम
दूसरी 1957 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अंसार हर्वानी
तीसरी 1962 निर्दलीय गौरी शंकर कक्कर
चौथी 1967 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस संत बक्स सिंह
पांचवीं 1971 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस संत बक्स सिंह
छठीं 1977 भारतीय लोकदल बशीर अहमद
सातवीं 1978 जनता पार्टी एस.एल.हुसैन
आठवीं 1980 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस(आई) हरिशंकर शास्त्री
नौवीं 1984 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस हरिशंकर शास्त्री
दसवीं 1989 जनता दल विश्वनाथ प्रताप सिंह
ग्यारहवीं 1991 जनता दल विश्वनाथ प्रताप सिंह
बारहवीं 1996 बहुजन समाज पार्टी विशम्भर प्रसाद निषाद
तेरहवीं 1999 भारतीय जनता पार्टी अशोक कुमार पटेल
चौदहवीं 2004 बहुजन समाज पार्टी महेंद्र प्रसाद निषाद
पंद्रहवीं 2009 समाजवादी पार्टी राकेश सचान
सोलहवीं 2014 भारतीय जनता पार्टी साध्वी निरंजना ज्योति
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें