Home » उत्तर प्रदेश की स्थानीय खबरें » जौनपुर का एक मात्र ऐसा मंदिर जो भक्तों के बीच यह घड़ी वाले बाबा के मंदिर के नाम से है प्रसिद्ध।

जौनपुर का एक मात्र ऐसा मंदिर जो भक्तों के बीच यह घड़ी वाले बाबा के मंदिर के नाम से है प्रसिद्ध।

जौनपुर। उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले का एक ऐसा मंदिर जहां देवता को श्रद्धालु अपनी मन्नत पूरी होने पर फूल, माला और प्रसाद नहीं बल्की प्रसाद की जगह घड़ी चढ़ाते हैं। शद्धा​लुओं का मानना है कि ऐसा करने से मंदिर के देवता खुश होते हैं। साथ ही उनकी सारी मनोकामना पूरी होती है। भक्तों के बीच यह घड़ी वाले बाबा के मंदिर के नाम से प्रसिद्ध हैं।

घड़ी वाले बाबा के नाम से प्रसिद्ध है मंदिर।

दरहसल यह घड़ी वाले बाबा का मंदिर मड़ियाहूं तहसील के जगन्नाथपुर गांव में बना है, जो जिला मुख्यालय से करीब 30 किमी दूर स्थित है। यहां घड़ी चढ़ाने की परंपरा की शुरुआत करीब 30 साल पहले एक ट्रक ड्राइवर ने की थी।

मन्नत पूरी होने पर  मंदिर में एक दीवार पर चढ़ाई थी घड़ी।

स्थानीय लोग बताते हैं कि एक व्यक्ति ब्रह्मबाबा से ड्राइविंग सीखने की मन्नत मांगी थी। उसने कहा था कि यदि वह ट्रक चलाना सीख लेगा, तो मंदिर में घड़ी चढ़ाएगा। मन्नत पूरी होने पर उस व्यक्ति ने मंदिर में एक दीवार घड़ी चढ़ाई। इसके बाद मन्नत पूरी होने पर इस मंदिर में घड़ी चढ़ाने की परंपरा बन गई है। इसे आज भी लोग मानते हैं।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

17 से 23 दिसम्बर तक चलेगा खजुराहो फ़िल्म फेस्टिवल

kumar Rahul

लखनऊ : दिव्यांग युवक ने ब्लॉक के अंदर किया आत्महत्या करने का प्रयास

Bhupendra Singh Chauhan

अंसल गोल्फ सिटी को लेकर फैसला आज, अधूरे कार्यों समेत अन्य मामलों पर फैसला, आज विधानसभा की याचिका समिति सुनाएगी फैसला, आवंटियों को फ्लैट न देने की भी की गयी शिकायत, तमाम शिकायतों के बाद आज होगी अंसल पर सुनवाई, अपर मुख्य सचिव करेंगे सुनवाई।

Ashutosh Srivastava