Home » उत्तर प्रदेश की स्थानीय खबरें » नगर कोतवाली प्रभारी अरुणा राय ने आखिर क्यों संभाली रोडवेज बस की स्टेरिंग, वीडियो वायरल

नगर कोतवाली प्रभारी अरुणा राय ने आखिर क्यों संभाली रोडवेज बस की स्टेरिंग, वीडियो वायरल

बुलंदशहर में लेडी सिंघम के नाम से जानी जाती हैं नगर कोतवाली प्रभारी अरुणा राय दरअसल मंगलवार की देर रात बुलंदशहर के अंसारी रोड चौकी के बराबर में राम विवाह का आयोजन चल रहा था.

  • बुलंदशहर की नगर कोतवाली प्रभारी अरुणा राय ने आखिर क्यों संभाली रोडवेज बस की स्टेरिंग
  • जिसके चलते रूट डायवर्जन पुलिस की तरफ से कर दिया गया था
  • इसके बावजूद भी नशे में धुत एक रोडवेज बस चालक बस को नो एंट्री में शहर में घुसा लाया और अंसारी रोड चौकी के जाल को उखाड़ थी हुई रोडवेज बस थोड़ी दूरी पर जाकर रुक गई और बड़ा हादसा होने से बच गया

  • मौके पर पहुंची नगर कोतवाली की प्रभारी अरुणा राय ने बस चालक को मौके से हिरासत में ले लिया और खुद बस की स्टेरिंग संभाल कर सभी यात्रियों को आगे के लिए रवाना किया और वहाँ खड़ी जनता ने भी जयकारे लगाने शुरू कर दिए जिसका वीडियो वायरल हो रहा है।
  • एसएसपी ने की सराहना बुलंदशहर एसएसपी (Bulandshahr SSP) संतोष कुमार सिंह ने अरुणा राय की काफी सराहना की।
  • उन्‍होंने कहा कि ऐसी घटना सामने आई है।
  • ड्राइवर को बाद में हिरासत में ले लिया गया है।
  • इंस्‍पेक्‍टर ने बहुत सराहनीय कार्य किया है।
  • बता दें कि इंस्पेक्टर अरुणा राय के इससे पहले भी कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुके हैं।
  • इनमें अरुणा राय बारिश में वर्दी की चिंता किए बिना लोगों की मदद करती नजर आई थीं।
  • इसके अलावा वह अलीगढ़ में एक बदमाश को सड़क पर दौड़ाकर पकड़ने के मामले में चर्चा में आ चुकी हैं।

रिपोर्ट : पवन शर्मा

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

कैसरबाग इलाके की खंदारी बाजार चौकी अंतर्गत दो महिलाओं पर हथियारबंद लोगों ने किया हमला, महिलाओं को अस्पताल में भर्ती कराया गया, शिनाख्त के लिए CCTV खंगाल रही है कैसरबाग पुलिस, अभी तक हमलावरों कि नहीं हुई पहचान.

Ashutosh Srivastava

राष्ट्रीय पक्षी होने के बावजूद भी की जा रही मोरो की हत्या, बेखोफ लोग दे रहे घटना को अंजाम

UP ORG DESK

समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष ज्ञान सिंह यादव को अध्यक्ष पद से हटाया गया,जिले की कार्यकारणी भी की भंग, विरोधी गतिविधियों के चलते पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने की कार्यवाही, ज्ञान सिंह यादव के पुत्र सौरभ यादव ने सपा जिला पंचायत अध्यक्ष वंदना यादव के खिलाफ बीजेपी की जयंती राजपूत के समर्थन में किया वोट, जिसके चलते सपा मुखिया ने की कार्यवाही।

Ashutosh Srivastava