Home » उत्तर प्रदेश की स्थानीय खबरें » पत्रकार पर हमले के आरोपी शराफत अली के साथ बाराबंकी पुलिस की शराफत क्यों

पत्रकार पर हमले के आरोपी शराफत अली के साथ बाराबंकी पुलिस की शराफत क्यों

Attack on Journalist
पत्रकार पर हमले के आरोपी शराफत अली के साथ बाराबंकी पुलिस की शराफत क्यों
  •  बाराबंकी – जिले के कोठी थाना क्षेत्र में पत्रकार सरवन चौहान पर हुए हमले व लूट के मामले में |
  • अभी तक पुलिस आरोपी शराफत अली को गिरफ्तार नहीं कर सकी |
  •  रात को बाराबंकी से घर वापस आते समय श्रवण चौहान पर हमला किया था |
  •  ₹25000 लूट लिए थे पत्रकार सरवन ने पुलिस में शिकायत की |
  • जिसके बाद पुलिस ने धारा 323 504 506 392 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज किया था |
  • वहीं इस घटना को लेकर पुलिस के खिलाफ भी पत्रकारों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है।
पत्रकार पर हमले में अब तक पुलिस के हाथ खाली,नहीं हुई कोई गिरफ्तारी
  • गुरुवार रात को जिले व क्षेत्र के पत्रकार कोठी थाना पहुंचे, आरोपी शराफत की गिरफ्तारी की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया
  •  अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर 24 घंटे में आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जाता है |
  • तो आगे धरना प्रदर्शन रोड जाम तथा जरूरत पड़ी तो मुख्यमंत्री आवास के सामने सामूहिक आत्मदाह किया जा सकता है |
  • इस मौके पर वैशाली के संपादक डी के गोस्वामी ने कहा कि यह पत्रकारों पर हमला बेहद गंभीर मामला है |
पत्रकार पर हमला निंदनीय है
  • पत्रकार पर हमला निंदनीय है,
  • इस मौके पर पत्रकार रणवीर सिंह अबू तल्हा,रामानंद गुप्ता,रामकुमार वर्मा,वीरेंद्र पटेल,विकास पाठक,संदीप तिवारी,गुरु प्रसाद वर्मा,सुखमी लाल,मोहन राम,इकबाल तेजराम,
  • सतीश सिंह,विजय कुमार,मोहम्मद जुबेर, राजवंत,शिव कुमार पाठक,एमएलसी प्रतिनिधि बलराम यादव सहित कई पत्रकार गण मौजूद है l
भाजपा मंडल अध्यक्ष ने लगाए पुलिस पर लापरवाही के आरोप
  • वही इस पूरे मामले पर भाजपा मंडल अध्यक्ष कौशलेंद्र शुक्ला ने बताया कि स्थानीय पुलिस की मिली भगत से क्षेत्र में खनन वन माफिया सक्रिय है |
  • जिससे सरकार की छवि धूमिल हो रही है l
  • मौजूद पर थानाध्यक्ष आरोप लगाते हुए कहा कि पत्रकार सरवन चौहान पर हमले के मामले में ₹25000 लेकर आरोपी शराफत को गिरफ्तार न करके बल्कि उसके साथ शराफत दिखाई जा रही है |
 झूठा हवा में तीर चलाया जा रहा है
  • इस गंभीर प्रकरण को पुलिस तत्काल आरोपी की गिरफ्तारी करें व थानाध्यक्ष को यहां से हटाए एक तरफ चोरी और दूसरी तरफ सीनाजोरी की इस घटना में पुलिस का संरक्षण बराबर प्राप्त हो रहा है |
  • आरोपी को न पकड़ कर,बल्कि इससे पहले उसे जानकारी दे दी जाती है |
  • जिससे वह मौके पर नहीं मिलता प्रदेश के कई पत्रकारों पर इस तरह के मामले हो चुके हैं |
  • लेकिन पुलिस पत्रकारों के प्रति कोई मानवता नहीं दिखाती सहानुभूति के नाम पर सिर्फ झूठा आश्वासन दिया जाता है |
  • इसलिए इस गंभीर मामले को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

समाजवादी पार्टी में दलित उत्पीड़न को लेकर दलित कार्यकर्ताओं का हज़रतगंज स्थित भीम राव अम्बेडकर की प्रतिमा पर प्रदर्शन, प्रदर्शन कर रहे दलित कार्यकर्ताओं का आरोप समाजवादी पार्टी में सदस्यता के नाम पर दलितों से मांगा जा रहा पैसा, सदस्यता का पैसा ना देने पर SP के पूर्व मंत्री अच्छे लाल सोनी ने जाती सूचक शब्दों का प्रयोग किया, FIR कराने की मांग को लेकर कर रहे प्रदर्शन।

Ashutosh Srivastava

रेलवे गेट मैन की लापरवाही के चलते क्रासिंग पर लगा भीषण जाम

kumar Rahul

बाराबंकी- युवक की निर्मम हत्या, हत्याकर आरोपी फरार

UP ORG DESK

Leave a Comment