बुलंदशहर कांड में पुलिस दोषी, पुलिस ने शासन को बदनाम किया-विधायक सुरेंद्र सिंह

bairia mla surendra singh

बलिया- बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह का बुलंदशहर मामले पर विवादित बयान. बुलंदशहर कांड में पुलिस दोषी। पुलिस ने साशन को बदनाम किया। पुलिस का चरित्र निंदनीय।

  • गाय काटने वाला पाकिस्तान जिंदाबाद कहेगा तो हिंदुओ का गुस्सा होना स्वाभाविक है।
  • सुरेंद्र सिंह ने कहा योगी सरकार में पुलिस अपने आचरण के अनुरूप नही।

बुलन्दशहर शहर के घटना के लिए पुलिस जिम्मेदार :-

  • पुलिस की गोली से हुई है बजरंग दल के कार्यकर्ता और इस्पेक्टर की मौत।
  • इस घटना की जाँच एसआईटी से होंनी चाहिए.
  • पुलिस चाही होती तो नही होती गोवंश की हत्या और न ही ऐसी घटना।
  • गौरतलब है कि एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार ने मीडिया से बातचीत में मंगलवार को कहा था कि अब स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में और शांतिपूर्ण बनी हुई है।
  • घटना में अभी तक किसी संगठन का नाम सामने नहीं आया है।
  • इलाके में बड़ी संख्या में पीएसी व आरएएफ तैनात की गई है।
  • एडीजी ने हिंसा का शिकार हुए इंस्पेक्टर सुबोध सिंह को शहीद बताते हुए कहा, ‘वह हमारे पुलिस परिवार के सदस्य थे। हम उनके परिवार की हरसंभव मदद करेंगे।’
  • अभी तक इस मामले में 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है।
  • इनमें से चार लोगों- चमन, रामबल, आशीष चौहान और सतीश की गिरफ्तारी हुई है।

Uttar Pradesh  Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें फेसबुक पर ज्वाइन करें और ट्विटर पर फॉलो करें

यूट्यूब चैनल (YouTube)  को सब्सक्राइब करें

 

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

बांदा- घरेलू कलह के चलते युवती ने ज़हर खाया

kumar Rahul

मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली का बयान- जामिया मिलिया माइनॉरिटी इंस्टीट्यूट है, जामिया मिलिया पर सरकार का फैसला ठीक नहीं, संविधान से माइनॉरिटी इंस्टीट्यूट का दर्जा मिला है।

Ashutosh Srivastava

वसीम रिजवी ने लगाया बड़ा आरोप, इमामबाड़े में एकता का सम्मेलन कर डराया गया, सिर्फ शिया,सूफी,सुन्नी मुसलमान शामिल हुए, भीड़ जमाकर हिन्दू समाज को डराया गया-रिजवी, रामनवमी के दिन भीड़ जमाकर डराया गया-वसीम, मुसलमानों की भीड़ जुटा,हिन्दुओं को डराया गया, दो समाज का सम्मेलन एकता का नहीं हो सकता, भारत में सब समाज मिलकर रहते हैं-वसीम रिजवी, धार्मिक कार्यक्रम के नाम पर डराना गलत-वसीम.

Ashutosh Srivastava