Home » उत्तर प्रदेश की स्थानीय खबरें » बदहाल सरकारी अस्पताल में बेबस मानवता, प्रसूताओं के लिए अभिशाप बना सरकारी व्यवस्था, एक ही बेड पर दो दो गर्भवती महिलाएं भर्ती, डिलेवरी के बाद भी एक ही बेड पर दो-दो मरीज, संक्रमण के खतरे के बीच मुश्किल में जान, सूबे की स्वास्थय व्यवस्था पर बड़ा सवाल, 6 बेड का आकस्मिक विभाग जमीन पर गर्भवती महिलाएं, 22 करोड़ की योजना पर फिर रहा पानी, आवास विकास परिषद् की घोर लापरवाही, 1 साल पहले बन जाना था सौ बेड का अस्पताल, ठेकेदार और विभाग के आगे वेबस मानवता, अस्पताल के विस्तार की योजना पर फिर रहा पानी, मरीजों का दर्द कब समझेगी सरकार, जमीन पर महिला जननी सुरक्षा योजना।

बदहाल सरकारी अस्पताल में बेबस मानवता, प्रसूताओं के लिए अभिशाप बना सरकारी व्यवस्था, एक ही बेड पर दो दो गर्भवती महिलाएं भर्ती, डिलेवरी के बाद भी एक ही बेड पर दो-दो मरीज, संक्रमण के खतरे के बीच मुश्किल में जान, सूबे की स्वास्थय व्यवस्था पर बड़ा सवाल, 6 बेड का आकस्मिक विभाग जमीन पर गर्भवती महिलाएं, 22 करोड़ की योजना पर फिर रहा पानी, आवास विकास परिषद् की घोर लापरवाही, 1 साल पहले बन जाना था सौ बेड का अस्पताल, ठेकेदार और विभाग के आगे वेबस मानवता, अस्पताल के विस्तार की योजना पर फिर रहा पानी, मरीजों का दर्द कब समझेगी सरकार, जमीन पर महिला जननी सुरक्षा योजना।

प्रसूताओं के लिए अभिशाप बना सरकारी अस्पताल, एक ही बेड पर दो-दो गर्भवती महिलाएं भर्ती, 22 करोड़ की योजना पर फिर रहा पानी, मरीजों का दर्द कब समझेगी सरकार, जमीन पर महिला जननी सुरक्षा योजना।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

हापुड़- कहासुनी को लेकर दो पक्षो में खूनी संघर्ष.

kumar Rahul

लखनऊ- ED के दफ्तर पहुंचे नवाजुद्दीन के भाई

kumar Rahul

आजमगढ़: इंटरमीडिएट के छात्र को गोली मारकर किया घायल

UP ORG Desk

Leave a Comment