Home » क्राइम » खुलासा : पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या

खुलासा : पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या

Police Disclosed Itaunja Man Murder Case Wife and Boyfriend Arrested

राजधानी लखनऊ के इटौंजा थाना क्षेत्र के महोना में पिछली 30 मार्च 2019 की रात में हुई युवक की धारदार हथियार किसी और ने नहीं बल्कि उसकी पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर की थी। पुलिस ने इस सनसनीखेज घटना का खुलासा करते हुए मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। दोनों अभियुक्तों ने अपना जुर्म कबूल लिया है। पुलिस ने हत्या की वारदात में प्रयुक्त किया गया आला कत्ल भी बरामद कर लिया है।

एएसपी ग्रामीण विक्रांतवीर सिंह ने बताया कि पिछले दिनों इटौंजा के महोना के वार्ड नंबर 6 मोहल्ला कटरा में रहने वाले कदीर खान उर्फ गुड्डू की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। घटना के बाद मृतक के भाई मोहम्मद शमीर निवासी शेखटोला ने जिस मकान में उसके भाई की लाश मिली थी उसके मालिक विशाल के खिलाफ नामजद केस दर्ज करवाया था। इस केस की जांच इंस्पेक्टर इटौंजा महेश चंद्र द्वारा की जा रही थी। इस खुलासे में इंस्पेक्टर इटौंजा महेशचंद्र, वरिष्ठ उप निरीक्षक राजवंत सिंह, उप निरीक्षक अमीर बहादुर सिंह, कृष्ण कुमार पटेल, महिला उपनिरीक्षक पूजा सिंह, कांस्टेबल फरीद अहमद, अनिल कुमार, महिला कांस्टेबल स्वाती पाल, अर्चना कुमारी की अहम भूमिका रही।

कॉल डिटेल ने खोले हत्या के राज

इस केस में असली गुनहगार को सलाखों के पीछे पहुंचाने के लिए पुलिस की टीमों ने सर्विलांस सेल की मदद ली। इस दौरान पता चला कि मृतक की पत्नी एक नंबर पर ज्यादा देर तक लंबी बातें करती है। पुलिस ने नंबर की पड़ताल की तो वह नंबर मोहम्मद शमीम जोकि उसकी मोहल्ले में रहता है उसका निकला। पुलिस ने शमीम को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो केस की कड़ी से कड़ी जुड़ती चली गई।

प्यार के लिए पति को रास्ते से हटाया

थाना प्रभारी ने बताया कि जाँच में पता चला कि मृतक की पत्नी शबनम शमीम से करीब दो महीने से संपर्क में आई थी। शबनम का पति कदीर शराब का लती था वह आये दिन शबनम सेमारपीट करता था। इससे शबनम काफी आहत थी। दोनों के बीच लम्बी बात होने से दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे थे। अपनी आशनाई भरी जिंदगी जीने के लिए दोनों ने पति को रास्ते से हटाने के लिए प्लान बनाया।

गलत निकली विशाल की नामजदगी

इंस्पेक्टर ने बताया कि 30 मार्च की रात कदीर ने अपने साथी विशाल के साथ ज्यादा शराब पी ली। इसके बाद विशाल और शराब लेने के लिए ठेके पर चला गया। इस दौरान नशे में धुत होकर कदीर फारुख के घर चला गया। यहीं नामजद विशाल भी रहता है। जब कदीर सो गया तब शबनम ने फोन करके शमीम को बुला लिया और पूर्व में खरीदे गए चाकू से कदीर की हत्या कर दी। शबनम के कहने पर शमीम ने हत्या की बात सभी को बता दी। जब विशाल ठेके से लौटा तो कदीर का रक्तरंजित शव देखकर डर गया। डर के मारे वह मौके से भाग गया। जब विशाल को पुलिस ने हिरासत में लिया तो उसकी नामजदगी गलत निकली। पुलिस ने उसे छोड़ दिया।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

नागरिक उड्डयन विभाग के उप निदेशक पर धोखाधड़ी की एफआईआर

Sudhir Kumar

आजमगढ़: हत्या के लिये आया शार्प शूटर राजन पासी साथियों सहित गिरफ्तार

Sudhir Kumar

बेकाबू एम्बुलेंस ने दवाई लेने जा रही बाइक सवार महिला को कुचला, मौत

Sudhir Kumar

Leave a Comment