24 घंटे में पुलिस ने किया खुलासाः आशनाई में गई अधिवक्ता की जान

Police solve the case in 24 hours, Advocate killed in Acquaintance

उन्नाव जिले में बीते रविवार की सुबह हसनगंज थाना क्षेत्र में वकील की हत्या कर शव फेंके दिए जाने का मामला सामने आया था। जांच में जुटी टीम ने चौबीस घंटे में घटना का खुलासा कर दिया। मामला खुला तो सभी के पैरों तले से जमीन खिसक गयी। आशनाई में अधिवक्ता को अपनी जान गंवानी पड़ी। शक की बिना पर पकड़े गए अभियुक्तों ने पुलिसिया पूछताछ के दौरान सारी सच उगल दिया। हत्या में एक महिला व युवक को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में एसपी पुष्पांजलि ने प्रेसवार्ता की। इस दौरान उन्होंने बताया कि रविवार को हसनगंज थाना क्षेत्र के लालपुर स्थित करन सिंह के खेतों में अधिवक्ता कुलदीप लोध पुत्र पूरन लोध का शव पड़ा पाया गया था। जिस पर टीम गठित कर खुलासा करने का निर्देश दिया था। जांच में जुटी टीम ने नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी कर पूछताछ शुरू की तो कड़ियां आपस में जुड़ने लगी। इस दौरान पुलिस ने मनीषा व सत्येन्द्र नाम के दो शख्सों की गिरफ्तारी कर ली। पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों ने सारा सच पुलिस के सामने उगल दिया।

ये भी पढ़ेंः प्रिंसिपल की बेटी ने दरोगा को धमकाया: बोली- औकात हो तो अंदर आके निकाल

ये था मामला

पकड़े गए आरोपी सत्येन्द्र ने पुलिस को बताया कि सात माह पूर्व हम दोनों कोर्ट मैरिज करने के लिए कचहरी पहुंचे थे। जहाँ हमारी मुलाकात वकील कुलदीप लोध से हुई थी। कोर्ट मैरिज के दौरान मनीषा को बालिग होने में चार महीने बाकी थे। उम्र पूरी होने पर दोनों वापस फिर कचहरी आए और अपने वकील से कोर्ट मैरिज की फीस दी, लेकिन इस बार भी मैरिज के प्रपत्र अधिवक्ता कुलदीप ने नहीं दिए और मनीषा से नजदीकियां बढ़ाने का प्रयास किया। अभियुक्त के मुताबिक 9 तारीख को मनीषा के फोन पर कुलदीप ने फोन किया। जिसकी जानकारी उसने अपने पति सत्येन्द्र को दी।

योजनाबद्ध तरीके से की हत्या

दोनों ने योजनाबद्ध तरीके से कुलदीप को फोन किया। जिस पर कुलदीप ने मनीषा से किसी सुनसान जगह पर सज संवर कर मिलने की बात कही। योजना के क्रम में सत्येन्द्र ने नल का हत्था लिया और मनीषा से निश्चित जगह पर मिलने के लिए कुलदीप को बुलाया। कुलदीप हत्था लेकर सरसो के खेत में छिपकर बैठ गया। कुलदीप के आने पर मनीषा ने उसे सरसो के खेत में बुलाया जहां कुलदीप ने अपने प्यार का इजहार करते हुए मनीषा के साथ जबरदस्ती करनी शुरू की। जिस पर सत्येन्द्र ने पीछे से नल के हत्थे से कुलदीप पर प्रहार कर दिया। दोनो में हाथापाई शुरू हुई। जिस पर दोनों ने एक राय होकर कुलदीप की हत्या कर दी। हत्या के बाद शव जंगल में फेंक दिया और हथियार को तालाब में गाड़ दिया था।

ये भी पढ़ेंः मेरठ में बेटा पैदा न होने पर पति ने किया पत्नी और बेटी का कत्ल

बार एसोसिएशन के महामंत्री बोले अधिवक्ता समाज ले सीख

प्रेसवार्ता के दौरान मौजूद बार एसोसिएशन के महामंत्री सुशील कुमार शुक्ल ने कहा कि कई बार कुछ ऐसे मामले सामने आ जाते है जिसकी वजह से हम सभी को उनसे सीख लेने की जरूरत होती है। अधिवक्ता समाज द्वारा लगाई जा रही गुहार को एसपी पुष्पांजलि ने सुना और गंभीरता से लेते हुए घटना का जल्द से जल्द खुलासा किया।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Police solve the case in 24 hours, Advocate killed in Acquaintance

Related posts

लखनऊ जेल में बंद पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति ने अफसरों पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

Sudhir Kumar

बेईमान है रायबरेली का कप्तान और पुलिस, करवा दी नोमान की हत्या: अखिलेश

Sudhir Kumar

जौनपुर में डबल मर्डर: रुपये के लेनदेन में दो लोगों की गोली मारकर हत्या

Sudhir Kumar