Home » क्राइम » सीरियल किलर सलीम-रुस्तम-सोहराब के दो गुर्गे मुठभेड़ के दौरान संडीला से गिरफ्तार

सीरियल किलर सलीम-रुस्तम-सोहराब के दो गुर्गे मुठभेड़ के दौरान संडीला से गिरफ्तार

Two Wanted Criminal Arrested of Serial Killer Brother Salim Rustam Sohrab Gang

तिहाड़ जेल में बंद होने के बावजूद लखनऊ के सीरियल किलर भाइयों सलीम-रुस्तम-सोहराब की दहशत कम नहीं हो रही है। इस गैंग के गुर्गे हर जगह सक्रिय दिखाई दे रहे हैं। ताजा मामला हरदोई जिला का है। यहां सण्डीला कोतवाली क्षेत्र के हरदोई-लखनऊ सीमा पर एसटीएफ की टीम ने मुठभेड़ के दौरान सीरियल किलर भाइयों के दो गुर्गों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस के अनुसार, घेराबंदी देखकर बदमाशो ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। लेकिन बहादुर पुलिस टीम ने दोनों अभियुक्तों को धर दबोचा। पकड़े गए आरोपी जेल में बंद सलीम-रुस्तम-सोहराब के लिए फिरौती व रंगदारी वसूलने का करते थे। आरपी लखनऊ में बंधक बनाकर रंगदारी वसूलने के मुकदमे में वांछित चल रहे थे। पकड़े गए बदमाशो के पास से पुलिस ने एक तमंचा, दो कारतूस, 5200 रुपये की नकदी, स्कूटी व दो मोबाइल बरामद हुए हैं। दोनों बदमाशों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

एसएसपी एसटीएफ के निर्देशन में पुलिस टीम ने अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए क्षेत्राधिकारी एसटीएफ के मार्गदर्शन में निरीक्षक अरुण कुमार सिंह के नेतृत्व में एक टीम बनाई। टीम आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए हरदोई रोड में रहीमाबाद कस्बा के आगे संडीला थाना क्षेत्र के पहले मुखबिर की सूचना पर पहुंची। मुखबिर ने बताया की लूट बंधक बनाकर रंगदारी वसूलने के मामले में दो अभियुक्त इधर से गुजरने वाले हैं। आरोपी हथियार भी रखते हैं। इस पर पुलिस इंतजार कर ही रही थी कि मुखबिर ने इशारा कर दिया। इस पर पुलिस ने जैसे ही घेराबंदी की तो अभियुक्तों ने पुलिस पर फायर झोंक दिया। हालांकि पुलिस को नहीं लगी है। दोनों व्यक्ति एक स्कूटी से आ रहे थे। उनको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

भाई की स्कूटी लेकर गए थे संडीला

आरोपियों का नाम पता पूछा गया तो पीछे बैठे आरोपी ने अपना नाम बहाउद्दीन उर्फ निजामुद्दीन निजामुद्दीन निवासी 263/84 बिल्लौचपुरा निकट पुराना फरीदी स्कूल थाना बाजार लखनऊ तथा इसके कब्जे से एक तमंचा बरामद हुआ है। वही दूसरे के पास से एक जिंदा कारतूस मिले हैं और उसने अपना नाम आलमीन पुत्र कुरेशी बताया है। जो वहीं बाजार खाला का रहने वाला है। आरोपियों ने पूछताछ में बताया है कि वह लूट व रंगदारी मांगने की घटनाओं करते हैं और जो दोनों हैं। अपने भाई गुड्डू की स्कूटी लेकर आए थे।

रंगदारी वसूल कर प्रॉपर्टी में करते थे इन्वेस्ट

पूछताछ पर उन्होंने बताया कि उनके जो अन्य साथी हैं मिशम, फरहान, उमेर, सुफियान व अन्य कई लोग सलीम रुस्तम सोहराब जो सीरियल किलर हैं काफी दिनों से जेल में बंद हैं उनके लिए काम करते हैं तथा उनके नाम पर जो रंगदारी मिलती है वह व्यवसाय में लगा कर एक नंबर में कर देते हैं। करीब 3 महीने पहले इन लोगों ने पीजीआई के नीलमथा में ढाई हजार जमीन के पैसे वसूल कर खरीदी थी जो कि अदनान के नाम से थी। आरोपी बरामद हुई स्कूटी के कागजात भी नहीं दिखा पाए। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है और उन पर जानलेवा हमले का भी मुकदमा दर्ज किया गया है। क्योंकि उन्होंने पुलिस टीम पर फायरिंग की थी। फिलहाल यह संडीला पुलिस की एक बहुत बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।

पूर्व सदस्य की हत्या में सामने आया था नाम

2013 में कैंट बोर्ड के चुनाव के दौरान पूर्व सदस्य श्याम नारायण उर्फ पप्पू पाण्डेय की अमीनाबाद इलाके में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या में सीरियल किलर भाइयों का नाम सामने आया था। कुछ दिन पहले भाजयुमो नेता प्रत्यूषमणि की हत्या में भी इन्हीं तीनों की भूमिका पुलिस को पता चली है।

 

इनपुट- मनोज तिवारी

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

कानपुर में बुजुर्ग महिला की गला घोटकर हत्या

Sudhir Kumar

डीएम और एसएसपी ने बीकेटी थानाध्यक्ष के कसे पेंच

Sudhir Kumar

युवती के व्हाट्सएप पर अश्लील मैसेज भेजने वाले इंस्पेक्टर के खिलाफ केस दर्ज

Sudhir Kumar

Leave a Comment