Home » क्राइम » ये है सिपाही के बार बाला के साथ डांस का वीडियो वायरल होने की सच्चाई

ये है सिपाही के बार बाला के साथ डांस का वीडियो वायरल होने की सच्चाई

Truth About Dance Video Viral of Cop with Barbala in Mundan Sanskar Itaunja

राजधानी लखनऊ के इटौंजा थाना में तैनात एक सिपाही का बार बाला के साथ डांस का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी के साथ वॉयरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर सिपाही के विरोध में तो लोग तरह-तरह की टिप्पणी कर रहे हैं, साथ ही इटौंजा पुलिस को भी लोग तरह-तरह की बातें कर टिप्पणियां रहे हैं। लेकिन वीडियो की सच्चाई क्या है ये हम आप को बता रहे हैं।

दरअसल मामला इटौंजा थाना क्षेत्र का है। यहां 24 अक्टूबर को नगर चौगावां के ग्राम प्रधान अभिषेक सिंह की बेटी का मुंडन संस्कार था। ग्राम प्रधान ने इटौंजा थाने पर तैनात अपने मित्र सिपाही अनिल सिंह को निमंत्रण दिया था। इस दिन सिपाही अनिल छुट्टी पर थे। वह शाम को मुंडन संस्कार में शामिल होने के लिए ग्राम प्रधान के घर पहुंचे। यहां कार्यक्रम में डांस का आयोजन भी किया गया था। हालांकि मुंडन संस्कार में खुशी का माहौल था। कार्यक्रम में डीजे की धुन पर बारबालाएं डांस कर रही थी। इस दौरान ये गाना बजने लगा।

तू धरती पे चाहे जहा भी रहेगी,
तुझे तेरी खुशबु से पहचान लूंगा..
अगर बंद हो जायेगी मेरी आंखे..
तुझे तेरी धड़कन से पहचान लूंगा
हमको तुमसे प्यार हुवा है जीना दुश्वार हुवा है
तू धरती पे चाहे जहा भी रहेगा
तुझे तेरी खुशबु से पहचान लुंगी
अगर बंद हो जायेंगी मेरी आंखे..
तुझे तेरी धड़कन से पहचान लुंगी
हमको तुमसे प्यार हुवा है जीना दुश्वार हुवा है

गाने की धुन को सुनकर सभी मंच पर झूम रहे थे। तभी सिपाही भी ख़ुशी में शामिल होने के लिए डांस करने लगा। हालांकि सिपाही को डांस करते देख वहां मौजूद किसी शख्स ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वीडियो के साथ एक सन्देश भी वायरल हुआ इसमें पुलिस को लोगों ने अपशब्द भी कहे। वहीं कुछ लोगों ने कमेंट किया कि क्या पुलिसकर्मियों को निजी जिंदगी जीने का कोई हक नहीं है। इस संबंध में इटौंजा प्रभारी निरीक्षक शिवशंकर सिंह ने बताया कि सिपाही उस दिन छुट्टी पर था। सिपाही के ग्राम प्रधान मित्र हैं उनके निमंत्रण में वह शामिल होने गया था। सिपाही सिविल ड्रेस में था। इसमें इटौंजा पुलिस का नाम बदनाम किया जा रहा है।

पेट्रोल पंप पर हुई लूट के मामले में उलझी थी पुलिस

प्रभारी निरीक्षक शिवशंकर सिंह ने बताया कि रेवामऊ निवासी भूपेंद्र प्रताप सिंह का नरौसा रोड पर भदौरिया किसान सेवा केंद्र के नाम से पेट्रोल पंप है। बुधवार रात दो बाइक सवार 6 नकाबपोश बदमाश आ धमके। बदमाशों ने पहले दोनों बाइक में पूरी टंकी पेट्रोल से भरवाई। कर्मचारी ने स्वैप कार्ड की सुविधा के बारे में पूछा। इस पर कर्मचारी ने स्वैप कार्ड ना होने की बात कही। इस पर बदमाशों ने असलहा लहराकर लॉकर की चाबी मांगी। कर्मचारियों ने चाबी ना होने की बात कही तो बदमाशों ने पेट्रोल पंप का लॉकर तोड़कर पेट्रोल पंप में से 70 से 80 हजार के बीच की नगदी लूट ली और नरौसा की ओर भाग निकले। कर्मचारियों ने बताया कि सभी बदमाश नकाबपोश थे। वारदात के बाद पेट्रोल पंप कर्मचारी और मालिक खुद मौजूद थे। पेट्रोल पंप कर्मचारियों और ग्रामीणों की सूचना पर प्रभारी निरीक्षक सहित पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। पुलिस ने पेट्रोल पंप लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाला लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं मिल सका था। पुलिस इस मामले में उलझी थी। सिपाही छुट्टी पर था तभी कुछ कहना सही नहीं है।

इनपुट- ज्ञानेंद्र 

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

अधेड़ ने किया 10 साल की बच्ची से बलात्कार

Bharat Sharma

लखनऊ: दो घंटे लेट लुटेरे के घर पहुंची थी पुलिस, तब तक भाग गया लुटेरा

Sudhir Kumar

चिनहट में बुजुर्ग की गोली मारकर हत्या

Sudhir Kumar

Leave a Comment