Home » क्राइम » Amazon कंपनी को दो करोड़ का चूना लगाने वाले 3 जालसाज गिरफ्तार

Amazon कंपनी को दो करोड़ का चूना लगाने वाले 3 जालसाज गिरफ्तार

Three Fraudster Arrested for Fraud on Amazon Online Shopping Company

प्रतिष्ठित ऑनलाईन शापिंग एमाज़ोन कम्पनी को दो करोड रूपए का चूना लगाने वाले तीन शातिर ठगो को लखनऊ की हज़रतगंज पुलिस और साईबर क्राईम सेल की टीम ने गिरफ्तार किया है।पुलिस ने कम्पनी से ठगी किए गए 19 मंहगे मोबाईल फोन, दो एपल कम्पनी के मोबाईल फोन के अलावा अन्य सामान बरामद किया है। आन लाईन शापिंग कम्पनी एमाज़ोन के मैनेजर जय सोनी और जितेन्द्र सैनी द्वारा एसएसपी कलानिधि नैथानी से मुलाकात कर कम्पनी से ठगी किए जाने की शिकायत की थी।

एसएसपी कलानिधि नैथानी के आदेश पर सोमवार को हज़रतगंज थाने मे मुकदमा दर्ज किया गया। मुकदमा दर्ज करने के बाद हज़रतगंज और साईबर सेल की टीम ने संयुक्त रूप से कम्पनी से ठगी करने वाले जालसज़ो की गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाया गया और पुलिस की टीमो को सफलता मिलने मे देर नही लगी। पुलिस की टीमों ने सांगानेर जयपुर के रहने वाले सिविल इन्जीनियर धारा सिंह बीएससी द्धितीय वर्ष के छात्र जयपुर राजस्थान के राजकुमार मीना उर्फ राहुल मीना और जयपुर राजस्थान के ही रहने वाले बीए द्वितीय वर्ष के छात्र प्रहलाद सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

सीओ हज़रतगंज अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि जालसाज़ पहले एमाज़ोन कम्पनी की वेबसाइईट पर आन लाईन सेलर बन जाते थे फिर एमाज़ोन कम्पनी के गिफ्ट कार्ड आन लाईन प्राप्त कर उन कार्डो के अन्दर मौजूद धनराशि को स्क्रैच करके एमाज़ोन पे के आन लाईन वालेट मे एकत्र कर लेते थे फिर उन कार्डो पर कम्पनी से मिलता जुलता स्क्रैच वाला टेप चिपका कर कम्पनी को वापस कर देते थे । इस तरह से जालसाज़ कम्पनी का पैसा अपने वालेट मे एकत्र कर लेते थे।

उन्होने बताया कि ठगी कर वालेट मे एकत्र किए गए पैसो से एमाज़ोन एप का प्रयोग कर मंहगा एपल आई फोन बुक करते थे। जालसाज़ो की जालसाज़ यही पर समाप्त नही होती थी आर्डर बुक होने के बाद जब डिलीवरी मैन उनके पास आता था तब ये जालसाज़ उसे बातो मे लगा कर उसी तरह का पहले से तैयार साबुन से भरा डिब्बा खोलते थे और असली डिब डिलीवरी मैन की आंखों से बचा कर गायब कर देते थे। साबुन की बटटी से भरा डिब्बा डिलीवरी मैन को थमाते हुए कहते थे कि इस डिब्बे मे साबुन निकला है। हमारा आर्डर कैन्सिल करो इस तरह से जालसाज़ मंहगा मोबाईल फोन भी हड़प लेते थे और मोबाईल का आर्डर कैन्सिल होने के बाद मोबाईल की कीमत भी उनके वालेट मे वापस आ जाती थी। गिरफ्तार किए गए जालसाज़ कम्पनी को दो तरह से चूना लगाते थे।

सीओ हज़रतगंज ने बताया कि साल 2017 से लगातार ये ठग एमाज़ोन कम्पनी से जालसाज़ी कर रहे है और अब तक ये लोग कम्पनी को 2 करोड़ रूपए से ज़्यादा का चूना लगा चुके है। राजस्थान के रहने वाले ये तीनो जालसाज़ ठगी के पैसे से खरीदी गई स्कार्पियो से भारत के तमाम शहरो मे जाते थे और फर्ज़ी नाम से लिए गए सिम कार्ड और फर्ज़ी ईमेल आईडी का इस्तेमाल कर कम्पनी के पोडक्ट खरीद कर जालसाज़ी करते थे।

उन्होने बताया कि जालसाज़ दूसरे शहरो मे जाकर 10 से 15 लाख का सामान कम्पनी से फर्ज़ी तरीके से मगंवा लेते थे और शातिराना तरीके से कम्पनी से जालसाज़ी कर मंगाए गए मंहगे मोबाईल फोनो को ये जालसाज़ जयपुर की दुकानो मे सस्ते दामो मे बेचते थे। दो साल से कम्पनी को चूना लगा रहे जालसाज़ो के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के बाद लखनऊ पुलिस ने गम्भीरता से जाॅच कर जिस तरह से शातिर जालसाज़ो को गिरफ्त मे लेकर लाखो रूपए के सामान की बरामदगी की है उससे पुलिस ने ये साबित कर दिया है कि पुलिस अपराधियो को कतई खुली हवा मे सांस लेने देना नही चाहती है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

जानकीपुरम में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, 2 महिला सहित 4 गिरफ्तार

Sudhir Kumar

लखनऊ : इटौंजा में युवक की हत्या, खेत में शव को जलाया

Sudhir Kumar

पैतृक गांव में होगा शहीद विजय कुमार का अंतिम संस्कार

Sudhir Kumar

Leave a Comment