Home » क्राइम » लखनऊ की खूनी सड़कों पर हुए सड़क हादसों में 10 लोगों की मौत

लखनऊ की खूनी सड़कों पर हुए सड़क हादसों में 10 लोगों की मौत

Ten People Killed Road Accidents in Lucknow and Barabanki on Roads

राजधानी लखनऊ में तेज रफ्तार का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। तेज रफ्तार के चलते शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों की भी सड़कें खूनी हो गई हैं। इसके चलते आये दिन सड़क हादसों में किसी ना किसी के परिवार का चिराग बुझ रहा है। शहर के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में हुए सड़क हादसों में 10 लोगों की मौत हो गई। इसमें एक युवक बाराबंकी का भी शामिल है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने सभी क्षतिग्रस्त वाहनों को कब्जे में लेकर सभी मामलों में तफ्तीश शुरू कर दी है।

मलिहाबाद थाना क्षेत्र में दो सगे भाई एक शादी समारोह में शामिल होने के बाद बाइक से अपने घर संडीला जा रहे थे। रहीमाबाद पुलिस चौकी के आगे हरदोई-लखनऊ रोड पर मुंशी खेड़ा गांव के निकट अज्ञात वाहन ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में दोनों भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। राहगीरों की सूचना पर पहुंचे चौकी प्रभारी प्रभात कुमार शुक्ला ने घायलों को ट्रॉमा सेंटर भेजा जहां देर रात दोनों की मौत हो गई।

ग्राम मलेहरा थाना संडीला जिला हरदोई निवासी अवधेश कुमार (45) अपने दिव्यांग भाई ज्ञान कुमार (25) के साथ स्प्लेंडर बाइक (यूपी 30 एआर 2548) से ग्राम टिकरा में एक शादी समारोह में शरीक होने गए थे। देर रात लौटते वक्त अवधेश बाइक चला रहा था। रास्ते में मुंशी खेड़ा गांव के निकट किसी तेज रफ्तार वाहन ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। इससे दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। खून से लथपथ पड़ा देख राहगीरों ने रहीमाबाद पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को ट्रॉमा सेंटर भिजवा दिया जहां देर रात उनकी मौत हो गई। एसआई बलबीर सिंह ने बताया कि मोबाइल नंबर के आधार पर उनके परिजनों को सूचना दी गई। अवधेश के परिवार में पत्नी मझली और चार बच्चे हैं।

‘कहा था जल्दी घर वापस आ जाएंगे’

मझली ने बताया कि घर से यह कहकर गए थे कि वह (अवधेश) जल्दी वापस आ जाएंगे। अवधेश मिठाई की दुकान चलाते थे, उसी से घर का खर्च चलता था। पत्नी ने कहा कि अब तो खाने के लाले हो जाएंगे। बच्चे अभी पढ़ाई कर रहे हैं। उनका खर्च कौन उठाएगा। हादसे की खबर से पत्नी और बच्चों का रो-रो कर बुरा हाल है।

दुर्घटना स्थल बना मुंशी खेड़ा मोड़

ग्राम मुंशी खेड़ा मोड़ पर घुमावदार सड़क है। मोड़ होने की वजह से वाहन सामने दिखाई नहीं देते हैं। इस कारण यहां आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं। वहीं, पुलिस का कहना है कि घुमावदार मोड़ होने के कारण अचानक वाहन आमने-सामने आ जाते हैं, जिससे उनमें भिड़ंत हो जाती है। ग्रामीणों ने बताया कि यहां प्रतिदिन दुर्घटना होती हैं।

बंथरा में चचेरे भाइयों सहित चार की मौत

बंथरा इलाके में मंगलवार रात बनी मोहान रोड पर एक तेज रफ्तार बेकाबू कंटेनर दो बाइकों को ठोकर मारते हुए सड़क किनारे जा पलटा। इस दर्दनाक हादसे में शादी समारोह से लौट रहे बाइक सवार दो चचेरे भाइयों सहित 4 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि एक किशोरी सहित दो लोग घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक, मृतक और घायल एक दूसरे के रिश्तेदार हैं और अधिकतर एक ही गांव के रहने वाले हैं। इस घटना की जब सूचना उनके गांव और रिश्तेदारी नारायनपुर पहुंची तो दोनों गांवों मातम छा गया।

पुलिस के मुताबिक, बंथरा के नारायनपुर गांव में एक शादी समारोह में शामिल होने के बाद उन्नाव के औरास थानांतर्गत मद्दू खेड़ा निवासी मजदूर गौतम (26), उसकी साली अनुरागिनी (16), रिश्तेदार संदीप (22) एक बाइक से और औरास के ही नरसा गांव निवासी जीत बहादुर (50), उसका चचेरा भाई महेंद्र (25) व ओम प्रकाश (22) दूसरी बाइक से वापस घर लौट रहे थे। रात करीब साढ़े बारह बजे बनी-मोहान रोड पर सादुल्लानगर चौराहे के पास एक बेकाबू कंटेनर ने गौतम की बाइक में ठोकर मार दी। जिससे बाइक सवार सभी लोग उछल कर दूर जा गिरे। इसके बाद अनियंत्रित कंटेनर दूसरी बाइक को ठोकर मारते सड़क किनारे जा पलटा। इस हादसे में एक बाइक पर सवार गौतम और दूसरी बाइक पर सवार जीत बहादुर, महेंद्र व ओमप्रकाश की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि गौतम के साथ बाइक पर सवार अनुरागिनी और संदीप बुरी तरह घायल हैं। राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को सरोजनीनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया है। वहीं, मृतकों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज कंटेनर को अपने कब्जे में ले लिया है। लेकिन कंटेनर चालक फरार है।

नौ माह पहले हुई थी शादी

परिवारीजनों ने बताया कि गौतम की शादी करीब 9 माह पहले ही हुई थी। हादसे की खबर मिलते ही उसकी पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है।

काकोरी में लोडर ने दो को रौंदा

काकोरी थाना क्षेत्र के अंतर्गत टिकटगंज गोलाकुआं के पास मोटरसाइकिल सवार दो युवकों को पीछे से आ रहे रोलर ने रौंद दिया। हादसे के बाद चालक रोलर लेकर हरदोई रोड की ओर भाग निकला। ट्रॉमा सेंटर में दोनों युवकों को मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने बताया कि काकोरी बाजनगर गांव निवासी आजाद रावत (20) और बाऊवा (22) बुधवार रात करीब 8 बजे टिकटगंज निवासी अपने दोस्त राजगीर शिवकुमार के घर जा रहे थे। इसी दौरान टिकटगंज के पास हादसा हो गया।

युवक की मौत, साथी घायल

माल थाना क्षेत्र के रनी पारा निवासी राज पाल (20) की बुधवार को ठाकुरगंज क्षेत्र के लिम्बरा हॉस्पिटल में इलाज के दौरान मौत हो गई। परिवारीजनों ने बताया कि राजपाल जब अपने साथी आकाश के साथ पॉलिटेक्निक चौराहे से एक समारोह से कैटरिंग का कार्य करके बाइक से लौट रहे थे तभी 1090 चौराहे के निकट एक तेज रफ़्तार वाहन ने टक्कर मार दी। जिसमें बाइक दोनों सवार गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया जहां राज पाल की मौत हो गई। जबकि आकाश का इलाज चल रहा है। राजपाल के परिवार में पिता, मां और एक भाई है।

बाराबंकी हादसे में युवक की गई जान, चार घायल

बाराबंकी जिला में हुए सड़क हादसे में एक युवक की मौत हो गई जबकि चार अन्य घायल हैं। पहला हादसा, सतरिख थाना के भानमऊ के पास बुधवार शाम पांच बजे हुआ। भनौली निवासी देशदीपक (21)अपने साथी आदित्य (16) के साथ बाइक से जा रहा था कि बाइक बिजली पोल से टकरा गई। हादसे में देशदीपक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। वहीं, आदित्य को केजीएमयू रेफर कर दिया गया। इधर, लोनीकटरा के एक होटल के पास कार की ठोकर से दरियांव का पुरवा के बीडीसी सदस्य शिवकुमार व बेलहरी के रामकुमार घायल हो गए। इसी तरह लोनीकटरा के भित्ती का पुरवा का रेनू ट्रैक्टर ट्रॉली पर ईंट लादकर छंदरौली जा रहा था। गहरे गड्ढे में वाहन पलट गया। हादसे में चालक रेनू घायल हो गया।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

महराजगंज: ट्रक और टेम्पो की भीषण टक्कर में 7 की मौत, 2 घायल

Sudhir Kumar

वीडियो: गुहार लगाते हुए माता-पिता ने किया आत्मदाह का प्रयास

Praveen Singh

कैश वैन से 20 लाख की लूट: गार्ड की गोली मारकर हत्या, देखें घटना का CCTV फुटेज

Sudhir Kumar

Leave a Comment