Home » क्राइम » रेप पीड़िता के प्रसव के दौरान हुई बच्चे की मौत, तीन दिन रखा तसले के नीचे

रेप पीड़िता के प्रसव के दौरान हुई बच्चे की मौत, तीन दिन रखा तसले के नीचे

rape victim baby dead during delivery in Unnao District

उन्नाव जिले में बीते दिनों एक कमजोर दिमाग वाली किशोरी के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया था। जिसके बाद किशोरी गर्भवती हो गई थी। किशोरी ने समय से पहले बच्चे को जन्म दे दिया था, जिससे बच्चे की मौत हो गई। घटना की सूचना परिजनों ने इलाकाई पुलिस को दी जिसपर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम कराना जरूरी बताया, लेकिन कोई भी मौके पर पहुंचा नहीं। जिसके बाद परिजनों ने तीन दिन तक शव को घर में ही रखा। पुलिस के नहीं पहुंचने पर इसकी जानकारी कोतवाली में दी। जिसके बाद आनन-फानन में शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और गंभीर हाल में पहुंची किशोरी को सीएचसी में भर्ती कराया।

पेट में दर्द होने पर हुई दुष्कर्म की जानकारी

जानकारी के मुताबिक हसनगंज कोतवाली क्षेत्र निवासी इस दलित परिवार को कमजोर मानसिक स्थिति वाली नाबालिग बेटी का दुराचार हो गया था। जिसकी जानकारी उसके पेट में सूजन और दर्द बढ़ने पर हुई थी। दर्द की शिकायत पर चिकित्सकों के पास ले जाया गया जहां डॉक्टरी जांच में उसके पांच माह की गर्भवती होने की बात पता चली। इस बावत पूछताछ किए जाने पर पता चला कि गांव के ही युवक द्वारा बहला-फुसला कर दुष्कर्म किया गया था। पीड़िता के पिता की तहरीर पर पुलिस ने दो अप्रैल को आरोपी मोनू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया।

तीन दिन तक रखा तसले में ढ़ककर

बुधवार सुबह करीब पांच बजे किशोरी ने बच्ची को जन्म दिया। समय से पांच माह पूर्व ही प्रसव के कारण नवजात की कुछ समय बाद ही मौत हो गई। पीड़िता के पिता का कहना है कि इसकी सूचना हल्के के दरोगा को दी थी। जिसके बाद उन्होंने नवजात के शव का पोस्टमार्टम जरूरी बताते हुए कुछ समय बाद घर आने के लिए कहा। पुलिस के न आने पर नवजात का शव लोहे के तसले से ढक कर रख दिया। तीन दिन बीतने पर भी पुलिस नहीं आई तो शनिवार को कोतवाली जाकर सारा वाक्या बताया।

कोतवाल से शिकायत के बाद हुई कार्रवाई

पीड़िता के पिता द्वारा कोतवाली में जानकारी दिए जाने के बाद हसनगंज कोतवाली प्रभारी राघवन सिंह ने आनन-फानन पुलिस के जरिए नवजात का शव को पोस्टमार्टम हाउस पहुंचवाया। साथ ही चौकी इंचार्ज अखिलेश प्रजापति व महिला कांस्टेबल मीरा की देखरेख में किशोरी को सीएचसी में भर्ती करवाया। कोतवाल के मुताबिक मामले की अनदेखी करने वाले दरोगा पर कार्रवाई के लिए पीड़ित परिवार से लिखित शिकायत मांगी है। अधिकारियों को भी मामले की जानकारी भेज रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः नरेश उत्तम पटेल हो सकते हैं MLC चुनाव में सपा प्रत्याशी

ये भी पढ़ेंः गुरु नानक देव जयंती की डिप्टी सीएम ने दी बधाई, लोगों ने कहा आज नहीं है

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : rape victim baby dead during delivery in Unnao District

Related posts

शिव मंदिर में बदमाशों का धावा, पुजारी को अधमरा कर की लूट

Sudhir Kumar

सुप्रीमकोर्ट की गाइड लाइन को ठेंगा दिखा रहे स्कूल और जिम्मेदार अधिकारी

Sudhir Kumar

भारत देश के 414 में यूपी के 67 जवान एक साल में शहीद हुए- डीजीपी

Sudhir Kumar

Leave a Comment