Home » क्राइम » बाराबंकी में मां-बेटे की रॉड मारकर हत्या, तीन घायल

बाराबंकी में मां-बेटे की रॉड मारकर हत्या, तीन घायल

Double Murder in Barabanki

लखनऊ से सटे बाराबंकी जिला के सफदरगंज थाना के लक्ष्बर बजहा में एक मकान में रह रहे दंपती व उनके तीन बेटों पर रॉड से हमला कर घायल कर दिया। अधिक खून बहने के कारण मां-बेटे की मौके पर ही मौत हो गई। तीन घायलों का इलाज लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल में चल रहा है। इसमें दो बच्चों की हालत नाजुक बताई गई है। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या व हत्या की कोशिश की धारा में रिपोर्ट दर्ज की है। एसपी बाराबंकी सतीश कुमार ने बताया कि बाहर से आए लोगों के साथ बैठकर दंपती ने शराब पी थी। इसके बाद एकाएक क्या हुआ और जो इतनी जघन्य वारदात अंजाम दी गई, इस पर फोकस करके ही आरोपितों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। आश्नाई अथवा संपत्ति का विवाद भी वजह हो सकती है।

ग्रामीणों ने बताया कि गांव में गुरुदीन रावत पत्नी कविता (36), बेटे शुभम(7), सिद्धांत (3) व तीन माह के अमन के साथ रहता है। गुरुदीन के साथ ही उसका भतीजा प्रद्युम्न (16)भी रहता है। प्रद्युम्न गांव से गई बारात में शामिल होने के लिए गया था। रात करीब 11 बजे प्रद्युम्न अन्य ग्रामीणों के साथ लौटा तो उसने देखा कि घर के बाहर तख्त व उसके बगल की चारपाई पर उसके चाचा गुरुदीन,चाची कविता व उनके तीनों बच्चों खून से लथपथ हालत में पड़े हैं। इस पर उसने शोर मचाया। गांव के लोग पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। एसओ विवेक सिंह के अनुसार वह तुरंत वहां पर पहुंचे। यहां पर देखा कि कविता व उसके सात वर्ष के बेटे शुभम की मौत हो चुकी है। गुरुदीन, सिद्धांत व अमन घायल है। इस पर तीनों को जिला अस्पताल भेजा। वहां से तीनों को केजीएमयू रेफर किया गया। वहां से बलरामपुर अस्पताल के लिए भेज दिया गया।

मौके पर पड़ी थी खाली शराब की शीशियां

मौके पर कविता के उल्टी करने के निशान थे। एक शीशी देशी शराब खुली हालत में थी और कई अन्य खाली बोतले पड़ी थीं। एसओ के अनुसार गुरुदीन को अपेक्षाकृत कम चोटें थीं। वह खुद चलकर पुलिस जीप में बैठा लेकिन वारदात के बारे में कुछ भी बताने से कतराता रहा। इससे लगता है कि वह या तो वारदात के बारे में बताना नहीं चाहता अथवा वह इतना दहशत में था कि वह नाम के खुलासे पर अपने जीवन का खतरा महसूस कर रहा था। पता चला कि गुरुवार शाम करीब आठ बजे फतहापुर के निवासी चार युवक गुरुदीन के घर पर आए थे। कुछ देर बाद ही काफी शोर भी मचा था लेकिन परिवार के झगड़ेलू होने के कारण लोग वहां पर गए नहीं थे। इससे लगता है कि वारदात उसके घर पर आए लोगों ने ही अंजाम दी है। फिलहाल वारदात के पीछे दंपती का चरित्र व उनको जमीन के सौदे से मिली रकम के कारणों पर ही फोकस करके पुलिस हत्यारों तक पहुंचने के प्रयास में जुट गई है।

पति-पत्नी दोनों की थी दूसरी शादी

गुरुदीन व उसकी पत्नी ने प्रेम विवाह किया था। यह इनका दूसरा विवाह था। महिला का पूर्व पति पास के ही गांव में रहता है। जबकि गुरुदीन की पत्नी मर चुकी है। गुरुदीन मसौली थाना के फतहापुर का निवासी है। वह पत्नी के नाना बाबूलाल के घर पर ही रह रहा था। बाबूलाल ने इकलौती नातिन के मरने के बाद अपनी संपत्ति गुरुदीन को दे दी थी। पांच वर्ष पहले गुरुदीन ने सेमरी के सोनू की पत्नी कविता से प्रेम विवाह कर लिया। कविता भी फतहापुर की थी। कविता अपने साथ पहले पति से हुए बेटे शुभम को साथ लाई। दो माह पहले गुरुदीन ने एक बीघा जमीन 20 लाख रुपये में बेच दी। वारदात के पीछे चरित्र व जमीन के सौदे से मिली रकम के कारणों पर ही फोकस करके पुलिस हत्यारों तक पहुंचने के प्रयास में जुट गई है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

पति से विवाद के बाद फांसी पर लटकी मिली विवाहिता

Sudhir Kumar

गश्त के दौरान सिपाही के सीने में गोली लगने से मौत

Sudhir Kumar

अपनी जान की परवाह किये बगैर बेटे की जान बचाने के लिए तेंदुआ से लड़ गया पिता

Sudhir Kumar

Leave a Comment