six month old new born baby girl stolen in chowk lucknow
January, 22 2018 04:02

लखनऊ में मानव तस्करी: सोते समय मजदूर की 6 माह की बच्ची चोरी

By: Sudhir Kumar

Published on: बुध 10 जनवरी 2018 04:15 अपराह्न

Uttar Pradesh News Portal : लखनऊ में मानव तस्करी: सोते समय मजदूर की 6 माह की बच्ची चोरी

राजधानी लखनऊ में भी मानव तस्कर सक्रिय हैं लेकिन पुलिस को इसकी भनक तक नहीं है। ये हम नहीं बल्कि चौक इलाके में मानव तस्करों ने एक मजदूर की 6 माह की बच्ची को चोरी करके सनसनी मचा दी लेकिन पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। मां ने जब अपनी गोद के पास अपनी बेटी को नहीं पाया तो चीखपुकार मच गई। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच की और इसे गंभीरता से नहीं लिया। पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा तो पंजीकृत कर लिया लेकिन अब तक बच्ची बरामद नहीं हो पाई है। पीड़ित अब पुलिस से न्याय की उम्मीद छोड़ मंदिर और मजार पर भूखा प्यासा बैठकर बच्ची बरामद होने की दुआएं कर रहा है।

नए साल के जश्न में चोरी हो गई बच्ची

प्राप्त जानकारी के अनुसार, बाराबंकी जिला के गौसपुर तहसील थाना टिकैतनगर के सराय नेतामऊ में रहने वाला सजीवन बहुत ही गरीब है। सजीवन और उसका परिवार 3 महीने पहले लखनऊ मेहनत मजदूरी कर के पेट पालने के लिए आया है। पीड़ित ने बताया कि वह चौक इलाके के मंडी क्रासिंग के पास मौजूद मेडिकल स्टोर के बरामदे में रात गुजारता है। पीड़ित के अनुसार, शहर भर में नए साल का जश्न मना रहा था। वह जहां मजदूरी करता है वहां साईट पर चला गया था। बरामदे में उसकी पत्नी मेडिकल स्टोर के शटर के पास सो रही थी। रात के दो बजे जब उसकी पत्नी जागी तो बच्ची उसके पास नहीं मिली। इस दौरान उसकी रोना धोना शुरू हो गया। इसकी सूचना लोगों ने पुलिस को दी लेकिन पुलिस ने कोई सहायता नहीं की।

पढ़ा लिखा ना होने के कारण पुलिस नहीं कर रही सुनवाई

पीड़ित का आरोप है पुलिस ने तहरीर के आधार पर मुकदमा तो पंजीकृत कर लिया लेकिन हाथ पर हाथ धर के बैठ गई है। वह पढ़ा लिखा नहीं है इसलिए कोई सुनवाई नहीं हो रही है। पीड़ित ने बताया कि पुलिस ने पहले तो उन्हें कोतवाली से भगा दिया था लेकिन जब वह एक मुस्लिम धर्मगुरु के पास गए जिनके कहने के बाद पुलिस ने 3 जनवरी को कोतवाली चौक में एफआईआर लिखी।

पुलिस से हारकर दुआओं से बच्ची पाने का इंतजार

भले ही लखनऊ पुलिस खुद के हाईटेक होने की ताल ठोंक रही हो लेकिन ये सब बड़ी वारदातों के लिए सक्रियता दिखाई देती है। बच्ची चोरी होने के बाद पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी फुटेज तक नहीं देखे ताकि बच्ची को बरामद किया जा सके। जानकर लोगों का कहना है कि मामला चाइल्ड ट्रैफिकिंग से जुड़ा हुआ लग रहा है। इस घटना में आसपास के भिखारी गैंग के भी शामिल होने का शक जाहिर किया जा रहा है। थाना प्रभारी चौक का कहना है कि बच्ची चोरी होने के बाद पड़ताल की जा रही है लेकिन अभी तक कुछ मालूम नहीं पड़ा है। उनका दावा है कि जल्द बच्ची को बरामद कर लिया जायेगा।का मालूम पड़ रहा है, लकिन अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली है। वहीं पीड़ित अब पास की एक मजार पर बच्ची के मिलने की दुआएं कर रहा है।

I am currently working as State Crime Reporter @uttarpradesh.org. I am an avid reader and always wants to learn new things and techniques. I associated with the print, electronic media and digital media for many years.

Share This