Home » क्राइम » पुलिस स्मृति दिवस 2018: 21 अक्टूबर को मुख्यमंत्री शोक परेड में शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे

पुलिस स्मृति दिवस 2018: 21 अक्टूबर को मुख्यमंत्री शोक परेड में शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे

Police Memorial Day 2018: Chief Minister Yogi Adityanath Will Pay Homage to Martyrs Shok Pared

कर्तव्यपालन के दौरान संवेदनशीलता, समर्पण और त्याग का अप्रतिम उदाहरण प्रस्तुत करने वाले शहीद पुलिस कार्मिकों की स्मृति में प्रतिवर्ष 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन हम उन वीर शहीद पुलिसजनों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं, जिन्होंने राष्ट्र व समाज की रक्षा में अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए प्राणों की आहुति दी है।

यह शौर्य गाथा 59 वर्ष पुरानी है। जब 21 अक्टूबर 1959 को भारत की उत्तरी सीमा लद्दाख के हिमाच्छादित जनहीन क्षेत्र में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के 10 जवान नियमित गश्त पर निकले थे। स्वचालित रायफलों व मोर्टारों से लैस चीनी सैनिकों ने छलपूर्वक हमारे क्षेत्र में एम्बुश लगाकर अचानक उन पर हमला कर दिया। अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिये साधारण शस्त्रों के बावजूद चीनी सैनिकों का डटकर मुकाबला करते हुए केन्द्रीय पुलिस बल के इन बहादुर जवानों ने अपने प्राणों की आहुतियां दी थी। इन्हीं वीर जवानों के बलिदान को याद करते हुए कर्तव्यपथ पर प्राणोत्सर्ग करने वाले जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने हेतु पुलिस स्मृति दिवस मनाने की परम्परा प्रचलित है।

01 सितम्बर 2017 से 31 अगस्त 2018 तक की अवधि में सम्पूर्ण भारत वर्ष में कर्तव्य की वेदी पर अपने प्राणों का बलिदान करने वाले 414 पुलिसजनों में उत्तर प्रदेश के 67 पुलिसजन सम्मिलित हैं। इनमें 5 उपनिरीक्षक, 1 सहायक उपनिरीक्षक (एम), 18 मुख्य आरक्षी, 40 आरक्षी एवं 2 आरक्षी चालक, 1 लीडिंग फायरमैन हैं। कर्तव्य पालन में आत्म बलिदान करने वाले इन वीरों के पराक्रम से प्रदेश का सम्पूर्ण पुलिस बल गौरवान्वित है। पुलिस कर्मियों का यह बलिदान उनकी सच्ची समर्पण भावना एवं कर्तव्य-परायणता का द्योतक है तथा कर्तव्यनिष्ठा एवं जनसेवा के प्रति उनकी संकल्पबद्धता को प्रतिबिम्बित करता है। इन वीर पुलिस कर्मियों का त्याग एवं बलिदान देशभक्ति का अद्वितीय उदाहरण बनकर हमारी भावी पीढ़ी को सदैव कर्तव्य-परायणता के मार्ग पर निर्भीकता के साथ अनुगमन की प्रेरणा देता रहेगा। पुलिस स्मृति दिवस 21 अक्टूबर को पुलिस लाइन्स लखनऊ में मनाया जायेगा। इसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शोक परेड में सम्मिलित होंगें तथा शहीदों के परिवारों को सम्मानित करेंगें।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

डीजीपी बोले- घटना बेहद दुखद, अब तक 19 गिरफ्तार

Sudhir Kumar

आरटीआई से सूचना मांगने पर युवक को प्रधान ने दी जान से मरवाने की धमकी

Sudhir Kumar

तमंचा छिपाकर बरामदगी दिखाने गए पुलिसकर्मी को लोगों ने दौड़कर रंगे हाथ पकड़ा

Sudhir Kumar

Leave a Comment