प्रिंसिपल की बेटी ने दरोगा को धमकाया: बोली- औकात हो तो अंदर आके निकाल

national inter college principal daughter threaten to sub inspector

‘एक चोरी ऊपर से सीनाजोरी’ ये कहावत आप ने तो जरूर सुनी होगी। ये कहावत मंगलवार को हजरतगंज स्थित नेशनल इंटर कॉलेज में सच होते दिखी। यहां की छात्राओं ने स्कूल के प्रिंसिपल पर अश्लीलत बातें करने और अभद्रता करने का आरोप लगाया तो खूब हंगामा हुआ। सूचना पाकर मौके पर पुलिस पहुंची इसके बाद पुलिस स्कूल परिसर में रह रहे प्रिंसिपल के घर पहुंची तो यहां दरोगा को बेइज्जती का सामना करना पड़ा। प्रिंसिपल की बेटी ने दरोगा को धमकाते हुए खूब भला बुरा कहा। लेकिन बेचारे दरोगा चुपचाप लड़की के गुस्सा को सहन करते रहे। वहां मौजूद मीडियाकर्मियों ने लड़की की इस अभद्रता का वीडियो बना लिया।

अपने घर पर की पुलिसकर्मियों से अभद्रता

नेशनल इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल उमाशंकर और स्कूल के बाबू राजेश चतुर्वेदी पर अश्लीलता करने का आरोप लगने के बाद स्कूल में जमकर हंगामा हुआ। हंगामे के बाद जब सब इन्स्पेक्टर (दरोगा) विनोद कुमार सोनकर स्कूल के प्रिंसिपल उमाशंकर के आवास पर महिला पुलिसकर्मियों के साथ पहुंचे तो यहां पुलिस को उल्टे पैर वापस आना पड़ा। प्रिंसिपल की लड़की नीरजा त्रिपाठी ने पुलिसकर्मियों और पीड़ित लड़कियों के साथ उनके अभिभावकों को भी जमकर फटकारा और घर से भगा दिया। वह पुलिस कर्मियों के साथ अभद्रता करने पर उतारू थी।

बोली मुख्यमंत्री को बुला, औकात हो तो घर से निकाल

तस्वीरों में पुलिसकर्मियों को लताड़ लगा रही लड़की नीरजा त्रिपाठी है। वह प्रिंसिपल उमाशंकर की बेटी बताई जा रही यही। वीडियो के अनुसार, पुलिस जैसे ही उसके आवास पर पहुंचती है वैसे ही वह आग बबूला हो जाती है। वह दरोगा विनोद से आंखें घूरते हुए कहती है कि ” अंदर फेमिली रह रही है ये मेरा घर है। स्कूल परिसर नहीं है यहां बेडरूम में, बाथरूम में कहीं घुस सकते हैं। सिखाइये मत मुझे। नंबर दे दो ऑफिस भेज देंगे…तभी पीछे से आवाज आती है कि प्रिंसिपल को बाहर निकालो। इसपर वह भड़क जाती है …और कहती है कि औकात हो तो बाहर निकाल… जब आएगा अंदर तो रॉस कर लेना। जाओ मुख्यमंत्री ले आओ जाओ… जाओ मुख्यमंत्री ले आओ जाओ… जाओ मुख्यमंत्री ले आओ जाओ…। इतनी बेइज्जती होने के बाद पुलिस वापस लौट गई।

ये भी पढ़ें- नेशनल इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल पर अश्लील हरकत का आरोप, हंगामा

मनचला है स्कूल का प्रिंसिपल

जानकारी के मुताबिक, मामला सोमवार का है। रोज की तरह लड़कियां स्कूल में पढ़ने गई थीं। स्कूल में छुट्टी होने के बाद प्रिंसिपल उमाशंकर ने कक्षा 11 की करीब चार-पांच लड़कियों को स्कूल में ही रोक लिया। ये लड़कियां लखनऊ के अलग अलग क्षेत्र की रहने वाली हैं। छात्राओं का आरोप है कि स्कूल में सभी महिला अध्यापकों के चले जाने के बाद प्रिंसिपल ने उनके साथ अश्लील हरकत की। आरोप है कि प्रिंसिपल ने अश्लील बातें की और विरोध करने पर अभद्रता की। आरोप है कि प्रिंसिपल ने मुंह खोलने पर छात्राओं का भविष्य खराब करने की भी धमकी दी।

महिला टीचरों से भी अश्लीलता कर चुका प्रिंसिपल

लखनऊ के नेशनल इण्टर कॉलेज के प्रधानचार्य उमाशंकर सिंह और बाबू राजेश चतुर्वेदी पर कॉलेज के छात्राओं ने अभद्रता और अश्लील बातें करने का आरोप लगाया। मंगलवार को छात्राओं के साथ कॉलेज में नाराज छात्राओं और उनके अभिभावकों ने किया हंगामा। इसकी सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी को समझाकर कार्रवाई का आश्वासन दिया। घंटो बाद छात्राओं का प्रदर्शन समाप्त हो पाया। आक्रोशित छात्राएं प्रिंसिपल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रही थीं। छात्राओं ने आरोप लगाते हुए बताया कि उनके साथ अश्लीलता का ये कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले आरोपी प्रिंसिपल कई छात्राओं और स्कूल में पढ़ाने वाली महिला अध्यापिकाओं से भी अश्लीलता कर चुका है। लेकिन छात्राओं ने भविष्य खराब होने और टीचरों ने नौकरी के लिए जुबान नहीं खोली। लेकिन जब बर्दास्त से बाहर हो गया तो छात्राओं ने प्रिंसिपल की हरकतें सार्वजानिक कर दी।

ये भी पढ़ें- हरदोई में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, तीन बदमाश गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- पुलिस चौकी के पास बदमाशों ने फीनिक्स मॉल के गार्ड को गोली मारी

Related posts

दुस्साहसिक घटना को अंजाम देकर भागने में लुटेरे ने ली थी बहनोई की मदद- एसएसपी

Sudhir Kumar

बरेली एएसपी अशोक कुमार मीणा ने जारी किया फरमान, थानों में पत्रकारों की ‘नो एंट्री’

Sudhir Kumar

मेरठ: कचहरी परिसर में नाबालिग पर तेजाब फेंकने का प्रयास

Sudhir Kumar

Leave a Comment