दूल्हे ने 9 महिलाओं से की शादी, झगड़े के बाद पोल खुली तो हुआ गिरफ्तार

राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में रह रहे एक ऐसे दूल्हे को पुलिस ने पकड़ा है जो एक के बाद एक 9 सादियां कर चुका था। यही नहीं बताया जा रहा है उसमे से 6 की महिलाओं की मौत भी हो चुकी है। इस जालसाज दूल्हे की पोल तब खुली जब इसने मामूली कहा सुनी पर अपनी एक और पत्नी को जान से मारने की कोशिश की और पकड़ा गया। वहीं नटवरलाल दूल्हा तीन शादियो की बात कबूल रहा था।

एक के बाद एक की नौ शादियां

आम तौर पर एक व्यक्ति की एक पत्नी और बच्चो का परिवार होता है। ऐसा आपने अक्सर सुना भी होगा मगर हम आपको मिलाते है एक ऐसे नटवरलाल दूल्हे से जिसकी एक नही तीन तीन बीवियां है, जो वो खुद भी मान रहा है। बताया तो ये भी जा रहा है इसके अलावा इसकी 6 और बीवियां थी जिनकी मौत हो चुकी है। नटवरलाल दूल्हे ने सभी बीवियों को अलग-अलग शादी कर रखा हुआ था ताकि इसकी पोल न खुल जाए। नटवरलाल दूल्हे ने सभी बीवियों को झूठ बोल कर खुद को शादी शुदा न बताकर एक के बाद एक 9 शादियां की।

32 साल का दूल्हा समीर यूँ तो राजस्थान के भीलवाड़ा का रहने वाला है इसने लखनऊ की ठाकुरगंज इलाके की रहने वाली आयशा से शादी की और फिर दहेज के नाम पर मार पीट करने लगा। हद तो तब हो गई जब उसके पहले से शादीसुदा और एक बीवी के तीन बच्चे पहले से होने की जानकारी मिली तो हंगामा शुरू हुआ। पोल खुलने के बाद नटवरलाल दूल्हे समीर ने पत्नी आइसा की जान लेने की कोशिश की तो मामला पुलिस तक पहुंचा और फिर नटवरलाल दूल्हा पुलिस की गिरफ्त में पहुंचा।

तीनों सहेलियां निकली सौतन

पहले दोस्ती की फिर शादी कर साथ जीने मरने की कसमें खाई, कुछ ही साल हुए थे कि उससे मन मचला तो दूसरी लड़की को जाल में फंसाकर प्रेम विवाह कर लिया। बात यहां थमी ही नहीं थी कि दो साल बाद ही उसने तीसरा विवाह भी रचा लिया। खास बात यह रही कि पहली से लेकर तीसरी पत्नी को एक-दूसरे के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। पर एकाएक फेसबुक पर फ्रेंड बनी दो सहेलियों ने अपने पतियों के बारे में बातें और उनकी तस्वीरें शेयर की तो सारी प्रेम परतें खुल गईं। बातों-बातों में पता चला कि सहेलियां दोस्त ही नहीं वह एक दूसरे की सौतन हैं। दूसरी पत्नी ने पति को बहाने से राजधानी बुला और उसे पीटकर हवालात पहुंचा दिया। यह किसी फिल्म की कहानी नहीं हकीकत है।

रियल स्टेट कंपनी में एकाउंटेंट है आरोपी

ठाकुरगंज गढ़ी पीर खां निवासी अफशां ने बताया कि एक मैट्रीमोनियल साइट के जरिए 28 अगस्त 2016 में उसका विवाह राजस्थान के भीलवाड़ा गुल अली नगरी गली नंबर छह निवासी समीर अहमद खान के साथ हुआ था। समीर एक कृष्णानगर स्थित एक रियल स्टेट कंपनी में एकाउंटेंट है। समीर उसे यहां बसंत बाग अंबरगंज में एक किराए के मकान में रखे था। वह कभी उसे राजस्थान नहीं ले गया। अफशां ने बताया कि 15 दिन पहले यासमीन पठान नाम की महिला की फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी। यासमीन से बात होने पर उसने बताया कि वह राजस्थान की है और उसके पति का नाम समीर अहमद खान है।

अफशां को उत्सुकता हुई क्योंकि उसके भी पति का यही नाम था। दोनों ने पतियों की फोटो शेयर की तो हकीकत सामने आई। यासमीन ने बताया कि छह फरवरी 2018 को उसका विवाह समीर के साथ हुआ था। आशंका पर दोनों ने और पड़ताल शुरू की तो जानकारी हुई कि समीर की एक पत्नी और है जिसका नाम नेहा है। समीर ने आठ साल पहले उसके साथ विवाह किया था। नेहा से समीर को तीन बच्चे हैं। अफशां ने बताया कि 15 दिन पहले समीर आफिस टूर बताकर राजस्थान गया था। रविवार को उसने समीर को फोन किया कि उसकी तबीयत खराब हो गई तुरंत चले आओ। मंगलवार शाम को समीर गढ़ी पीर खां पहुंचा। जहां अफशां और उसके परिवारीजनों ने उसें जमकर पीटा और इसके बाद ठाकुरगंज थाने लेकर पहुंचे।

नेहा को बताता था चचेरे भाई की पत्नी

अफशां के मुताबिक समीर ने पहली मुलाकात में बताया था कि माता पिता की मौत हो चुकी है। परिवार में एक बहन है जो सउदी में रहती है। अफशां ने बताया कि यासमीन को भी समीर ने यही बातें बताकर अपने प्रेम जाल में फंसाया और शादी कर ली थी। अफशां ने बताया कि समीर के पास नेहा का फोन आया करता था। वह जब पूछती थी तो चचेरे भाई की पत्नी बताकर टाल मटोल करता था। यही बात वह नेहा को यासमीन का फोन आने पर बताता था। चूंकि यासमीन राजस्थान चित्ताैड़ गढ़ की रहने वाली है। उससे जब नेहा के बारे में पता कराया गया तो उसने अपने घर वालों के जरिए नेहा की डिटेल इकट्ठा की। डिटेल में उन्हें एक राशन कार्ड मिला। जिसमे नेहा और उसके तीन बच्चों की डिटेल थी। जिससे तीसरी शादी के बारे में जानकारी हुई। इसके बाद उसके परिवारीजन समीर के मोहल्ले और मिलने वालों से मिले तो और पुख्ता सबूत मिल गए।

टूर के बहाने यासमीन से की शादी

अफशां ने बताया कि समीर जनवरी में टूर बताकर घर से निकला था और बाइक भी ले गया था। बाइक राजस्थान में छोड़ दी। वहां यासमीन से शादी की और कृष्णानगर में एक मकान में रखे था। 13 अप्रैल को यासमीन को राजस्थान ले गया था।

15 दिन पहले बनी थी फ्रेंड

अफशां ने बताया कि 15 दिन पहले उसके पास यासमीन की फ्रेंड रिक्वेस्ट फेसबुक पर आई थी। फिर दोनों में बात शुरू हो गई। दोनों ने अपने पतियों के बारे में बात की तो परत दर परत खुलती गई।

खाते में मंगवाता था रुपये, हुआ शक

अफशां ने बताया कि समीर ने उसके खाते में कई बार यासमीन से रुपये मंगवाए। इसके अलावा कई बार नेहा को उसने रुपये भेजे। यह बात खटकती रहती थी। वह यासमीन से रुपये मंगाकर उन्हें अपने खर्च में प्रयोग करता था। कई बार दोनों के बैंक खातों में रुपयों का आदन-प्रदान किया गया। यासमीन के खाते से कई बार नेहा को रुपये ट्रांसफर किए, जिससे उनका शक गहराता गया।

ये भी पढ़ें- लखनऊ: राष्ट्रीय निशानेबाज बेटी पर पीजीआई में जानलेवा हमले का प्रयास

ये भी पढ़ें- ग्रेटर नोएडा में मुठभेड़ के दौरान दो बदमाश गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- बड़ा मंगल की मंदिरों में धूम: भक्त जप रहे ‘आरती कीजै हनुमान लला की’

ये भी पढ़ें- हमारी खबर पर जाम छलकाना दारोगा को पड़ा महंगा, एसपी ने किया सस्पेंड

ये भी पढ़ें- सीतापुर में कुत्तों का आतंक: दो मासूमों को नोचकर मारडाला

ये भी पढ़ें- आगरा: मालपुरा थाने के भीतर अपराधियों ने युवक को मारी गोली, तनाव

ये भी पढ़ें- SBI के शाखा प्रबंधक ने खाते से निकाल लिए 90 हजार रुपये, सदमें में ग्राहक की मौत

ये भी पढ़ें- सेना के मध्य कमान का 55वां स्थापना दिवस हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया

ये भी पढ़ें- एसटीएफ के हत्थे चढ़े अन्तर्राज्यीय मादक पदार्थ तस्कर गिरोह के पाँच सदस्य

ये भी पढ़ें- हापुड़ जिला में 232 एड्स के मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

ये भी पढ़ें- ‘उत्तर प्रदेश विकास संवाद’ कार्यक्रम का मुख्यमंत्री करेंगे उद्घाटन

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें
Next Post