Home » क्राइम » नोएडा में डबल मर्डर: PNB बैंक के बाहर 2 सुरक्षाकर्मियों की हत्या

नोएडा में डबल मर्डर: PNB बैंक के बाहर 2 सुरक्षाकर्मियों की हत्या

Two Security Guard Shot Dead Outside PNB Bank

देश की राजधानी दिल्ली से उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर जिला के नोएडा सेक्टर-1 स्थित पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) की शाखा के बाहर नकाबपोश असलहाधारी बदमाशों ने सनसनी मचा दी। बताया जा रहा है कि डकैती डालने के इरादे से आये बदमाशों ने बैंक के बाहर तैनात दो सुरक्षाकर्मियों से बैंक की चाभी मांगी। विरोध करने पर बदमाशों ने दोनों गार्डों की सरिया और लोहे की रॉड से पीट-पीटकर हत्या कर दी। दहशत से लोग भाग खड़े हुए। इस दौरान बदमाशों ने चाभी छीनकर बैंक को खंगाल डाला। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी तो पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सूचना मिलते ही मौके पर एसएसपी सहित तमाम पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।

पुलिस ने सुरक्षाकर्मियों अस्पताल में भर्ती कराया, यहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज से बदमाशों की तलाश कर रही है। घटना की सूचना पाकर डॉग स्क्वॉड, फिंगर प्रिंट, फॉरेंसिंक एक्सपर्ट की टीम मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल में जुट गई। घटना के बाद पुलिस ने इलाके में नाकाबंदी करके सघन चेकिंग भी की, लेकिन हाईटेक पुलिस बदमाशों को पकड़ने में नाकाम साबित रही। लोगों के जुबान पर बस एक ही सवाल है कि इतनी हाई सिक्योरिटी जोन में बदमाश लूट के दौरान हत्या की वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। आसपास के हाईटेक चौराहों पर लगे तमाम सीसीटीवी फुटेज भी धरे के धरे रह गए। सीसीटीवी में 17 सेे 19 साल के दो बदमाश दिखेे हैं।

सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर भी चोरी कर उठा ले गए बदमाश

हत्या के बाद बदमाश बैंक परिसर में दाखिल हुए हैं। उन्होंने मुख्य प्रबंधक के कमरे का ताला तोड़कर सीसीटीवी कैमरे की एक डीवीआर चोरी कर ली है, ताकि पुलिस को कैमरे की रिकॉर्डिंग से कोई मदद न मिले। हालांकि वहां दो डीवीआर थी। बदमाश एक ही डीवीआर ले गए हैं। दूसरी डीवीआर में बदमाश रात करीब 2:06 बजे बैंक के अंदर दिख रहे हैं। बदमाश करीब एक घंटे तक बैंक के अंदर रहे। सभी ने नकाब पहन रखा था। सीसीटीवी में बदमाश गार्ड रूम में भी आते-जाते दिख रहे हैं। जहां दोनों गार्डों की हत्या की गई थी।

वारदात से पुलिस और बैंक प्रबंधन में मचा हड़कंप

पीएनबी की इस बिल्डिंग में बेसमेंट में स्ट्रांग रूम है। बदमाशों ने स्ट्रांग रूम को भी तोड़ने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हुए। भूतल पर बैंक का ब्रांच ऑफिस है, जहां से बदमाशों ने डीवीआर चोरी की और तोड़फोड़ की है। पहली मंजिल पर बैंक का स्टेशनरी स्टोर है। दूसरी मंजिल पर पीएनबी के डीजीएम का ऑफिस है। बदमाश लूटपाट के इरादे से सभी फ्लोर पर गए थे। बैंक में गार्डों की हत्या की वारदात से पुलिस और बैंक प्रबंधन में हड़कंप मचा हुआ है। थाना सेक्टर-20 पुलिस रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। सूचना पाकर एसएसपी डॉ अजयपाल शर्मा, एसपी सिटी अरुण कुमार सिंह समेत सभी सीओ व अन्य पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। जांच के लिए फोरेंसिक टीम, डॉग स्क्वायड, सर्विलांस टीम और क्राइम ब्रांच की टीम को भी बुला लिया गया।

माली राम अचल ने पुलिस को दी घटना की जानकारी

बताया जा रहा है कि हत्या की ये वारदात बृहस्पतिवार रात करीब दो बजे हुई है। शुक्रवार सुबह साढ़े सात बजे जब माली राम अचल बैंक आया तो उसे दरवाजा अंदर से बंद मिला। काफी प्रयास के बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो उसने बैंक के मुख्य प्रबंधक परवेन्दर कुमार को फोन कर सूचना दी। मुख्य प्रबंधन ने तुरंत पुलिस को फोन किया और खुद भी बैंक पहुंच गए। सूचना पाकर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस की मौजूदगी में बैंक का गेट खोला गया तो मुख्य गेट पर बने गार्ड रूम में ही दोनों गार्डों का खून से लथपथ शव बरामद हुआ। पुलिस तुरंत दोनों गार्डों को लेकर जिला अस्पताल पहुंची, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

कुशल सिक्यूरिटी एजेंसी के थे दोनों सुरक्षा गार्ड

दोनों गार्डों की पहचान कुशल सिक्यूरिटी एजेंसी के गार्ड मुकेश यादव निवासी जनपद मैनपुरी और मुद्रिका प्रसाद निवासी गांव सिकटी जनपद भोजपुर बिहार के रूप में हुई है। हत्या की सूचना पाकर मुद्रिका के परिजन बैंक पहुंच गए हैं। मुद्रिका के दो बेटे और एक बेटी है। फिलहाल उनका परिवार कल्याणपुरी दिल्ली में रह रहा है। वह सात साल से पीएनबी में तैनात थे। दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हत्या की सही वजह पता चलेगी। फिलहाल आशंका है कि गार्डों की पीट-पीटकर हत्या की गई है। एसएसपी डॉ अजयपाल शर्मा ने बताया कि बैंक के मुख्य प्रबंधक परवेन्दर कुमार की शिकायत पर थाना सेक्टर-20 में रिपोर्ट दर्ज की जा रही है। उन्होंने अपनी शिकायत में बैंक के स्ट्रांग रूम को सुरक्षित बताया है।

आधा दर्जन बदमाशों ने बोला था धावा: एसएसपी

एसएसपी डॉ अजयपाल शर्मा ने बताया कि बीती रात को हथियारबंद बदमाशों ने बैंक में डकैती डालने की नियत से धावा बोला था। आशंका है कि करीब आधा दर्जन बदमाशों ने देर रात बैंक में धावा बोला था। सभी नकाबपोश थे। दो बदमाश सीसीटीवी रिकॉर्डिंग में कैद हुए हैं। उनकी उम्र 17 से 19 वर्ष प्रतीत हो रही है। बदमाश पीछे की दीवार फांदकर बैंक परिसर में घुसे थे। लूटपाट के लिए बैंक में घुसे बदमाशों का गार्डों ने विरोध किया तो उन्होंने सरिया व लोहे की रॉड से हमला कर दोनों की हत्या कर दी। बदमाशों ने पूरी बिल्डिंग में तोड़फोड़ कर लूट का प्रयास किया है, हालांकि वह लूट करने में विफल रहे हैं। मामले में बैंक के अधिकारियों व कर्मचारियों तथा वहां तैनात अन्य सिक्योरिटी गार्डों से पूछताछ की जा रही है। बैंक अधिकारी पैसे व सामान की जांच कर रहे हैं। अभी तक कोई सामान या नकदी लूटे जाने की पुष्टि नहीं हुई है। एसएसपी के अनुसार घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया जा रहा है।

हत्या से पहले हुआ काफी संघर्ष

पुलिस के अनुसार गार्ड रूमें जहां गार्डों के शव बरामद हुए हैं। वहां टेलिफोन समेत सारा सामान बिखरा पड़ा था। इससे प्रतीत हो रहा है कि हत्या से पहले गार्ड रूम में काफी संघर्ष हुआ है। पुलिस आसपास के संस्थानों पर तैनात गार्डों से भी मामले में पूछताछ कर रही है। नोएडा के सेक्टर-एक स्थित पीएनबी बैंक अक्सर बदमाशों के निशाने पर रहा है। ये बैंक दिल्ली के अशोक नगर से लगभग 200-300 मीटर की दूरी पर है। ऐसे में बदमाश पहले भी कई बार इस बैंक में रुपये जमा कराने या निकालकर लौट रहे लोगों से लूटपाट कर चुके हैं। 17 सितंबर 2017 को बाइक सवार बदमाशों ने अशोक नगर में रहने वाले 62 वर्षीय दूध व्यापारी राज कुमार सिंह की इसी बैंक के पास दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी थी। बदमाशों ने उनसे आठ लाख रुपये भी लूट लिए थे, जिसे वह इसी पीएनबी बैंक में जमा करने जा रहे थे।

नोएडा में खतरे में बैंकों की सुरक्षा

नोएडा में इससे पहले भी बैंक लूट की कई वारदात हो चुकी हैं। बदमाश एटीएम बूथ से मशीन तक उखाड़कर ले जा चुके हैं। कई बार एटीएम मशीन तोड़ने का भी प्रयास किया गया है। वर्ष 2005 में सेक्टर एक में ही बदमाशों ने एक्सिस बैंक के एटीएम पर धावा बोलकर दो सिक्योरिटी गार्डों की हत्या कर दी थी। बदमाशों ने एटीएम लूट का प्रयास किया था। 05 अप्रैल 2018 को नोएडा के सेक्टर-18 स्थित आइसीआइसीआइ बैंक से आठ लाख रुपये निकालकर जा रहे युवक को लूट लिया था। 28 जून 2014 को ग्रेटर नोएडा के अल्फा वन में कार सवार बदमाशों ने बैंक से निकल रहे व्यवसायी स्वदेश कुमार को लूटने का प्रयास किया। विरोध करने पर बदमाशों ने गोली चला दी जो उसी बैंक में पैसा जमा कराने आ रहे 40 वर्षीय अशोक गुप्ता के पैर में लगी थी। 26 अक्टूबर 2015 को दोपहर करीब ढाई बजे आधा दर्जन बदमाशों ने दनकौरी के सिंडिकेट बैंक में घुस 21 लाख 87 हजार रुपए लूट लिए थे। 08 मार्च 2017 को ग्रेटर नोएडा के कासना स्थित यूको बैंक में घुसकर बदमाशों ने 12 लाख रुपये लूटे थे। इसके अलावा भी नोएडा-ग्रेटर नोएडा के कई बैंकों में घुसकर बदमाश दिनदहाड़े लूटपाट कर चुके हैं।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

ओवरलोड ऑटो ने छात्र को टक्कर मारकर किया मरणासन्न, गले की हड्डी टूटी

Sudhir Kumar

उत्तर प्रदेश में दिन भर का अपराध: कहीं महिलाओं की हत्या तो कहीं युवक को गोलियों से भूना

Sudhir Kumar

फौज में फर्जी तरीके से भर्ती कराने वाले दो फर्जी सेना अधिकारी गिरफ्तार

Sudhir Kumar

Leave a Comment