Home » क्राइम » ठाकुरगंज में मासूम बच्ची की दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर हत्या

ठाकुरगंज में मासूम बच्ची की दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर हत्या

Class Three School Girl Raped Brutally Killed In Thakurganj CCTV Footage

राजधानी पुलिस का संवेदनहीन चेहरा एक बार फिर सामने आया। ठाकुरगंज पुलिस लापता हुई मासूम बच्ची के परिवारीजनों को टरकाती रही और उधर, दरिंदे ने उसकी दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी। सुबह कुछ बच्चों ने गुलाला घाट के पास झाड़ियों में बच्ची का शव देख शोर मचाया तो लोगों को जानकारी हुई। सूत्रों का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बच्ची के प्राइवेट पार्ट पर चोट की पुष्टि हुई है। साथ ही गला और मुंह दबाकर हत्या किए जाने की बात सामने आई है। परिवार ने गैंगरेप के बाद हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस और फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल से दो नशीले इंजेक्शन और एक सिरिंज बरामद की है।

परिवारीजनों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा किया। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या, दुष्कर्म और पाक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। दरिंदे ने बच्ची को गला दबाकर मारा है। इसके अलावा सिर पर एक चोट मिली है। बच्ची के चेहरे और गले पर नाखून से खरोंच के निशान हैं। इसके अलावा प्राइवेट पार्ट में गंभीर चोट है। आशंका जताई जा रही है कि दरिंदे ने बच्ची के सिर पर पीछे प्रहार कर उसे अचेत कर दिया, फिर दुष्कर्म किया और गला घोटकर मार दिया।

मासूम कक्षा तीन की थी छात्रा

जानकारी के मुताबिक, मूल रूप से सीतापुर निवासी फल विक्रेता यहां ठाकुरगंज में पत्नी और बच्चों के साथ रहते हैं। उनकी आठ साल की बच्ची क्षेत्र स्थित स्कूल में कक्षा तीन की छात्रा थी। फल विक्रेता ने बताया कि शनिवार रात करीब आठ बजे बच्ची घर से निकली थी। देर तक न लौटने परउसकी खोजबीन शुरू की गई पर कुछ पता न चला। सुबह करीब साढ़े नौ बजे कुछ बच्चे बंधा रोड किनारे खेल रहे थे। उन्होंने झाड़ियों में बेटी का शव पड़ा होने की सूचना दी। सूचना के डेढ़ घंटे बाद पुलिस पहुंची तो परिवारीजन हंगामा करने लगे। बवाल बढ़ता देख सीओ चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी, एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी, ठाकुरगंज इंस्पेक्टर अंजनी पांडेय, इंस्पेक्टर सआदतगंज, नाका, बाजारखाला भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। फोरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड ने घटनास्थल का निरीक्षण कर सबूत जुटाए। पुलिस ने हत्यारोपित की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। सीओ चौक ने बताया कि आरोपित की तलाश में पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं और घर के आसपास लगे सीसी कैमरे खंगाले जा रहे हैं।

पुलिस पर रिपोर्ट दर्ज करने के लिए रिश्वत मांगने का आरोप

शनिवार रात लापता हुई बच्ची का पता न चलने पर पीड़ित परिवार रविवार सुबह स्थानीय चौकी और ठाकुरगंज थाने पहुंचे। आरोप है कि चौकी पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने रिपोर्ट दर्ज करने के लिए रुपये मांगे। इतना ही नहीं पीड़ित परिवार के सदस्य की बाइक सीज करने की धमकी देते हुए भगा दिया। उधर, रविवार को क्रिकेट खेल रहे बच्चों ने झाड़ियों में शव देख शोर मचाया। आरोप है कि सूचना देने के काफी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची। इसे लेकर लोगों में काफी नाराजगी फैलने लगी। तनाव देखते हुए वजीरगंज, कैसरबाग, चौक, ठाकुरगंज समेत कई थानों की पुलिस बुला ली गई। घटनास्थल से लेकर पोस्टमॉर्टम हाउस और बच्ची के घर तक भारी संख्या में फोर्स तैनात रही। मृतका के जीजा ने रिपोर्ट दर्ज करने के लिए पुलिस पर रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है।

गले और शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट के निशान

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बच्ची के गले और शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट के निशान थे। उसके मुंह से झाग निकल रहा था। कपड़े भी अस्त-व्यस्त थे। परिवारीजनों ने बच्ची के साथ रेप के बाद हत्या का आरोप लगाया है। छानबीन के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया। मौके पर पहुंचा डॉग स्क्वॉड घटनास्थल से बच्ची के घर तक गया। इसके बाद घर के पास वाली गली में फिर बच्ची के घर के आस-पास चक्कर लगने के लौट आया। पुलिस कुछ लोगों से पूछताछ कर रही है।

मासूम से रेप या गैंगरेप की आशंका

गुलाला घाट के पास लापता मासूम बच्ची का शव मिलने के मामले में पुलिस और फरेंसिक टीम ने एक बार फिर मौका मुआयना किया। इस दौरान शव मिलने की जगह के पास ही नशीले इंजेक्शन, पाने के पत्ते समेत अन्य सामान पाया गया। इसके बाद नशा करने के बाद मासूम से रेप या गैंगरेप की आशंका भी उठने लगी है। पुलिस का मानना है कि कहीं और वारदात के बाद शव को गुलाला घाट के पास झाड़ियों में फेंका गया होगा। स्थानीय लोगों का कहना है कि घटनास्थल पर नशोड़ियों का जमावड़ा लगा रहता है।

राष्ट्रीय नागरिक एकता पार्टी ने पीड़ित परिवार को दिए 50 हजार रुपये

पीड़ित परिवार की मदद के लिए राष्ट्रीय नागरिक एकता पार्टी के शमीम खान अपने प्रतिनिधि मंडल के साथ पहुंचे। उन्होंने हत्यारोपित की जल्द से जल्द गिरफ्तारी और शासन से परिवारीजनों को मुआवजा दिलाने की मांग की। शमीम खान ने 50 हजार रुपये नकद देकर पीड़ित परिवार की मदद की।

पूर्व विधायक रविदास ने की 25 लाख रूपये मुआवजा देने की मांग

उधर, पूर्व विधायक रविदास मेहरोत्रा भी पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे और पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये की मदद देने की मांग उठाई है। पूर्व विधायक ने वारदात में शामिल लोगों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की भी मांग उठाई।

खंगाली जा रही सीसीटीवी फुटेज -विकास चंद्र त्रिपाठी

एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी के अनुसार शव मिलने की जगह से लेकर बच्ची के घर तक के रास्ते में कई जगह सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। ऐसे में सुराग मिलने की उम्मीद से पुलिस सभी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। घर के पास स्थित गोदाम में लगे सीसीटीवी कैमरे में रविवार रात करीब नौ बजे बच्ची कहीं जाते हुए दिखी है। बता दें कि पोस्टमॉर्टम के बाद परिवारीजन बच्ची का शव घर ले जाना चाह रहे थे। हालांकि हंगामे की आशंका को देखते हुए पुलिस सीधे कब्रिस्तान ले जाने का दबाव बनाने में जुटी थी। इसे लेकर पुलिस से कहासुनी भी हुई। माहौल बिगड़ता देख पुलिस को बैकफुट पर जाना पड़ा।

मस्जिद से भी हुआ ऐलान

एएसपी पश्चिम विकास चन्द्र पाण्डेय के मुताबिक, बच्ची के गायब होने के संबंध में रविवार सुबह इलाके की मस्जिदों से ऐलान भी करवाया गया। लोगों से अपील की गई कि बच्ची के बारे में कोई सूचना मिले तो उसके परिवार को तुरंत बताएं। मस्जिदों से अपील के बाद इलाके के कई लोगों ने परिवार वालों के साथ मिलकर बच्ची की तलाश की पर उसका कोई सुराग नहीं लगा।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

बुजुर्ग को सकुशल बरामद कर 4 अपहरणकर्ताओं को यूपी 100 ने किया गिरफ्तार

Sudhir Kumar

वैज्ञानिक पर मां को बंधक बनाने का आरोप, डीजीपी के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज

Sudhir Kumar

अधेड़ चाकू और तमंचे की नोक पर किशोरी के साथ 6 माह से कर रहा था रेप

Sudhir Kumar

Leave a Comment