Home » क्राइम » भाजयुमो नेता प्रत्यूष मणि त्रिपाठी की चाकू मारकर हत्या

भाजयुमो नेता प्रत्यूष मणि त्रिपाठी की चाकू मारकर हत्या

BJYM Leader Pratyush Mani Tripathi Killed in Lucknow

राजधानी लखनऊ के महानगर कोतवाली क्षेत्र में हमलावरों ने भाजयुमो नेता प्रत्यूष मणि त्रिपाठी पर चाकू से हमला करके हत्या कर दी। हफ्ता भर पहले एक युवती से छेड़खानी को लेकर पड़ोसियों से उनका विवाद हुआ था। हत्या से आक्रोशित परिवारीजनों व समर्थकों ने ट्रॉमा सेंटर पहुंचकर हंगामा किया। कई थानों की पुलिस व पीएसी को तैनात किया गया है। घटना की जानकारी मिलते ही एडीजी जोन लखनऊ, आईजी जोन, एसएसपी, डीएम सहित तमाम अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना का तत्काल खुलासा करने के निर्देश दिए हैं।

पुलिस के मुताबिक, अमीनाबाद के गगनी तालाब पत्थर वाली गली निवासी प्रत्यूष मणि त्रिपाठी (35) सोमवार देरशाम बाइक से बादशाहनगर गए थे। वहां अज्ञात व्यक्तियों ने चाकू से हमला किया। प्रत्यूष गंभीर रूप से घायल होकर सड़क पर गिर गए। हत्यारोपित वार करने के बाद मरणासन्न हालत में सड़क के किनारे छोड़कर भाग गए थे। एक व्यक्ति ने पुलिस को फोन करके हादसे की सूचना दी। सीओ महानगर संतोष सिंह के मुताबिक सूचना मिली कि बादशाहनगर में मेन रोड पर एक युवक घायल अवस्था में पड़ा है। दुर्घटना की आशंका में पुलिस पहुंची तो युवक खून से लथपथ पड़ा था। उसके बाएं कंधे में चाकू मारा गया था। दरोगा अरविंद सिंह अपनी जीप से उसे ट्रॉमा सेंटर लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

जेब से मिले परिचयपत्र से प्रत्यूष की पहचान करने के साथ पुलिस ने उन्हें ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया। डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। ट्रॉमा सेंटर पहुंचे परिवारीजनों ने सीने पर धारदार हथियार की चोट का निशान देखते हुए हफ्ता भर पुरानी रंजिश में हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। भाजयुमो नेता की हत्या का पता चलते ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने कई थानों की पुलिस के साथ पीएसी को ट्रॉमा सेंटर भेजा। कैसरबाग पुलिस की टीम ने प्रत्यूष के घर पहुंचकर परिवारीजनों से जानकारी की। क्षेत्राधिकारी कैसरबाग अमित राय ने बताया कि 25 नवंबर को प्रत्यूष मणि त्रिपाठी का मोहल्ले के कुछ लोगों से विवाद हुआ था।

एक युवती ने प्रत्यूषमणि पर छेड़खानी का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई थी। प्रत्यूष का कहना था कि युवती ने फेसबुक पर उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी। उसे स्वीकार न करने पर अपने भाइयों से हमला कराया। पुलिस ने प्रत्यूष की भी प्राथमिकी दर्ज की थी। परिवारीजनों का कहना है कि हफ्ता भर पहले हमला कर चुके युवकों पर ठोस कार्रवाई न किए जाने के कारण वारदात अंजाम दी गई। मौत की खबर सुनते ही पत्नी सीमा त्रिपाठी बिलखने लगी। परिवारीजनों ने सीमा के साथ उनकी बेटी रुद्राक्षी, बेटे वंश व दो महीने की बच्ची को किसी तरह संभाला। फिलहाल घटना से घर में कोहराम मचा हुआ है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

विश्वासघात दिवस मना रहे कांग्रेस नेताओं पर लाठीचार्ज, राजबब्बर सहित कई गिरफ्तार

Sudhir Kumar

महिला की गोली मारकर हत्या, घटना सीसीटीवी में कैद

Sudhir Kumar

शादी में 7 साल की मासूम से दुष्कर्म, आरोपी रिस्तेदार गिरफ्तार

Sudhir Kumar