Home » क्राइम » पिहानी कोतवाली में जमकर भ्रष्टाचार-रिश्वतखोरी कर रहे इंस्पेक्टर, भाजपा विधायक ने लगाए गंभीर आरोप

पिहानी कोतवाली में जमकर भ्रष्टाचार-रिश्वतखोरी कर रहे इंस्पेक्टर, भाजपा विधायक ने लगाए गंभीर आरोप

BJP MLA Shyam Prakash and Inspector Rakesh Yadav

उत्तर प्रदेश की वर्तमान योगी सरकार भले ही भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश बनाने का दावा करती है लेकिन इस दावे पर सरकार के अधिकारी और कर्मचारी जमकर पलीता लगा रहे हैं। ये हम नहीं बल्कि हरदोई जिला के गोपामऊ से भाजपा विधायक की शिकायत में खुलासा हुआ है। भाजपा विधायक के अनुसार उनके क्षेत्र में स्थित पिहानी कोतवाली में प्रभारी निरीक्षक जमकर भ्रष्टाचार, लूट खसोट कर रहे हैं। कई पीड़ितों ने जब अपने जनप्रतिनिधि से शिकायत की तो इस बात का उन्हें पता चला। विधायक ने जब पीड़ितों की समस्या पर कोतवाल को फोन किया तो कोटवाल ने उल्टा विधायक को ही नसीहत दे डाली। विधायक ने आरोप लगाया कि थाने में पीड़ितों की ना सुनवाई हो रही है ना ही उनकी एफआईआर लिखी जा रही है। आरोप है वहीं विपक्षियों को बुलाकर उनसे मोटी रकम लेकर क्रास केस दर्ज किया जा रहा है। इस संबंध में कोतवाल ने कहा कि विधायक से कोई मामला नहीं है उनसे बात हो गयी है। जबकि सोशल मीडिया पर विधायक और कोतवाल के बीच जुबानी जंग जारी है।

गोपमाऊ से भाजपा विधायक श्याम प्रकाश व पिहानी कोतवाल राकेश यादव के बीच जुबानी जंग छिड़ गई है। विधायक श्यामप्रकाश की फेसबुक पेज पर कुछ दिन पहले पिहानी कोतवाल पर लगाए गम्भीर आरोप लगाकर एक पोस्ट की गई थी। इस पोस्ट के जवाब में एक अखबार को दिए गए अपने बयान में कोतवाल पिहानी ने कहा था कि वह नौकरी ताक पर रखकर काम नहीं कर सकते। इसके बाद भाजपा विधायक की एक पोस्ट फिर आई है। इस पोस्ट में विधायक ने फिर लिखा है कि जिस दिन की बात इंस्पेक्टर कर रहे है वह साबित करें मैंने उनसे उस दिन कोई बात की है तो वह राजनीति छोड़ देंगे अन्यथा कोतवाल सार्वजनिक रूप से माफी मांगे। विधायक ने यह भी लिखा है कि कोतवाल के विरुद्ध जो साक्ष्य है वह उच्चाधिकारियों को सौंप रहे हैं।

मीडिया को दिए गए बयान में भाजपा विधायक श्यामप्रकाश ने कहा कि जब ये पिहानी के कोतवाल राकेश यादव आये हैं तब से पिहानी की जनता के द्वारा तमाम ऐसी शिकायतें मिल रही हैं कि थाने में रिश्वतखोरी हो रही है। जो पीड़ित लोग जाते हैं उनका मुकदमा बड़ी मुश्किल से लिखा जाता है और कई मामलों में नहीं भी लिखा जाता है। बाद में दूसरे पक्ष को बुलाकर अवैध वसूली करके क्रास केस कायम कर दिया जाता है। ऐसी तमाम शिकायतें मेरे संज्ञान में आई थी। इस पर मैंने अपने लोगों से बात की। किन्तु कोतवाल ने जो मुझपर आरोप लगाया है कि मैं उनपर गलत काम के लिए दबाब बनाता हूँ ये झूठ है। बुधवार को जो कोतवाल ने घटना सोशल मीडिया या प्रिंट मीडिया को बताई है। मैंने 7 मई से आजतक कोतवाल से किसी भी संबंध में कोई बात नहीं की है। वो सरासर झूठ बोल रहे हैं। अपने कारनामों को छिपाने के लिए, थाने में हो रहे भ्रष्टाचार को छिपाने के लिए वो ये बहाने बाजी कर रहे हैं कि राजनीतिक लोग या विधायक उन पर गलत काम के लिए दबाब बनाते हैं। विधायक ने कहा कि उनपर क्या मैंने अपने जीवन में कोई गलत काम के लिए अधिकारियों पर कोशिश नहीं की है। किन्तु जनता की खातिर, जनता के हितों की खातिर जो जनता की सच्चाई है, जो जनता के उत्पीड़न कीबात जहां आएगी, वहां मैं जनता के साथ खड़ा होऊंगा। मैंने जनता की आवाज हमेशा उठाई है इसलिए जनता ने मुझे चुना है। मैं जनता की आवाज आगे भी उठाता रहूंगा। वहीं थाना प्रभारी पिहानी राकेश यादव ने कहा कि कोई मामला नहीं है सब शांत है। विधायक से बात हो गई है।

इनपुट – मनोज तिवारी

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Sudhir Kumar

Related posts

इलाहाबाद में पुलिस से मुठभेड़: बदमाश मुकुल कुशवाहा गिरफ्तार

Sudhir Kumar

शादी समारोह की आतिशबाजी से झोपड़ी में लगी आग, जिंदा जला मासूम

Sudhir Kumar

पति की हत्या की चश्मदीद गवाह पत्नी का फंदे पर लटका मिला शव

Sudhir Kumar

Leave a Comment