Home » PM मोदी ने इमरजेंसी के दौरान कुछ ऐसा बनाया था ‘हुलिया’
Top News Trending

PM मोदी ने इमरजेंसी के दौरान कुछ ऐसा बनाया था ‘हुलिया’

amazing facts prime minister

[nextpage title=”news” ]

आज 17 सितंबर को पीएम मोदी का 67वां जन्मदिन है और अपने जन्मदिन के अवसर पर मां का आशीर्वाद लेने के बाद मोदी ने 56 साल लंबे इंतजार को पूरा किया है. आज Uttarpradesh.org आपको इमरजेंसी के दौरान प्रधानमंत्री मोदी (amazing facts prime minister) के कुछ ऐसे हैरान कर देने वाले अनसुने किस्से सुनाने जा रहा है. जो आज तक किसी को नहीं पता है.

अगले पेज पर पढ़ें ये पूरी खबर…

[/nextpage]

[nextpage title=”news” ]

इमरजेंसी के दौरान मोदी ने ऐसे गुजारे दिन (amazing facts prime minister):

  • आपको बता दें कि 42 साल पहले जब देश में इमरजेंसी की घोषणा हुई थी.
  • उस समय नरेंद्र मोदी (amazing facts prime ministe) गुजरात लोक संघर्ष समिति (GLSS) का हिस्सा रहे थे.
  • बता दें कि संगठन संभालने के उनके कौशल को देखते हुए उन्हें इस समिति का महासचिव बनाया गया था.

3

  • नरेंद्र मोदी हमेशा से ही विपरीत परिस्थितियों को हैंडल करना बखूबी जानते थे.
  • आपको बता दें कि जिस दिन इंदिरा गांधी के खिलाफ कोर्ट का फैसला आया था.
  • वहीँ उसी दिन ये जानकारी भी आई कि गुजरात में सत्तारूढ़ कांग्रेस विधानसभा चुनावों में हार गई है.
  • उस समय इंदिरा गाँधी ने खुद को गुजरात की बहू बताकर वोट मांगे थे.

ये भी पढ़ें, धूमधाम से मनाया गया पीएम मोदी का 67वां जन्मदिन

  • लेकिन गुजरात की जनता उनके भ्रामक प्रचार में नहीं आई उअर उन्हें बहार का रास्ता दिखा दिया था.
  • वहीँ आपातकाल लागू होने के बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने का फैसला कर लिया था.
  • इसी दौरान अरएसएस नेता केशव राव देशमुख को गुजरात में अरेस्ट कर लिये गए थे.

2

  • आपको बता दें कि इसके बाद ही नरेंद्र मोदी ने आपातकाल के खिलाफ मोर्चा थामा था.
  • वहीँ मोदी ने इसे एक चुनौती की तरह लिया था.
  • मोदी ने एक स्वयंसेवक बहन की मदद से डॉक्युमेंट्स को हासिल करने का प्लान बनाया था .
  • बता दें कि मोदी इस स्तर पर सक्रिय हो चुके थे कि उनके पकड़े जाने का खतरा भी हो सकता था.
  • इसीलिए उन्होंने कई बार अपने वेश भी बदले ताकि पहचान में ना आ सकें.
  • आपको बता दें कि मोदी कभी वो एक सीधे-सादे सरदार बन जाते थे तो किसी दिन एक दाढ़ी वाले बुजुर्ग बने थे.

[/nextpage]

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

डीयू मामला: गुरमेहर कौर ने छोड़ा दिल्ली !

Deepti Chaurasia

6 अप्रैल : जानें इतिहास के पन्नों में आज का दिन क्यों है ख़ास!

Vasundhra

‘यूथ फॉर डिजिटल पैसा’ के अंतर्गत किया जा रहा युवाओं को प्रशिक्षित!

Vasundhra