Home » crime in lucknow

Tag : crime in lucknow

Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

फिर गोमती में मिला युवक का शव, हत्या की आशंका!

Sudhir Kumar
राजधानी में गोमती नदी (gomti river lucknow) में शवों के मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अभी पिछले दिनों 3 जुलाई
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

लखनऊ में सड़क हादसों में एक महिला सहित 4 की मौत!

Sudhir Kumar
राजधानी के दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में तेज रफ्तार ने (horofic road accident) चार लोगों को मौत की नींद सुला दिया। हादसों की जानकारी के
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

युवक की हत्या करके शव छत पर फेंका, मचा हड़कंप!

Sudhir Kumar
राजधानी में लगातार ताबड़तोड़ हो रही हत्याओं का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला चिनहट इलाके का है। यहां लोनापुर गांव
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

एसएसपी ने क्राइम ब्रांच भंग करने का दिया अल्टीमेटम!

Sudhir Kumar
एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार ने बताया कि क्राइम ब्रांच (crime branch) को अल्टीमेटम दिया गया है कि अगर पुराने मामलों का जल्द खुलासा नहीं हुआ
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

डीएम आवास के सामने 1.60 लाख, कृष्णानगर में 5 लाख की लूट!

Sudhir Kumar
(cash loot) इसे पुलिस की संवेदन हीनता या ड्यूटी में लापरवाही कहें तो गलत नहीं होगा। क्योंकि पुलिस वर्तमान समय में बेलगाम है ही, साथ
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

वीडियो: लखनऊ में वकील की गोली मारकर हत्या!

Sudhir Kumar
राजधानी में हो रही ताबड़तोड़ वारदातें थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं। ताजा मामला गोसाईगंज इलाके का है यहां शनिवार सुबह शौच के लिए
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

अब विभूतिखंड में दिनदहाड़े युवक को मारी गई गोली, थर्राया इलाका!

Sudhir Kumar
आईएएस अनुराग तिवारी की मौत की गुत्थी अभी सुलझ भी नहीं पायी थी कि गुरुवार दोपहर दिनदहाड़े हमलावरों ने एक युवक पर ताबड़तोड़ फायरिंग करके
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

लखनऊ: अब आंकड़ों में भी खेल कर रही यूपी पुलिस, 57 दिन में केवल एक हत्या?

Sudhir Kumar
उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद यूपी पुलिस अब आपराधिक मुकदमें भी दर्ज आपराधिक मुकदमें दर्ज कर रही है। यह हम नहीं बल्कि
Uttar Pradesh

चार दिनों में ह्त्या और लूट से थर्राई राजधानी, कहीं हुआ कत्ल तो कहीं हुई लूट!

Rupesh Rawat
शहर भर में जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरों और आधुनिक तकनीकों जे बावजूद अपराधियों को न पकड़ा पाना पुलिस को कटघरे में खड़ा कर रहा है।