Home » समाजवाद

Tag : समाजवाद

व्यंग्य

व्यंग: समाजवाद विखराव!

Krishnendra Rai
हुए दो फाड़ । वर्चस्व की जंग ।। होना ये अलग । लाएगा उमंग ? फट गया पोस्टर । नेताजी नदारद ।। समाजवादी मोर्चा ।