You Already Reviewed
तेज प्रताप यादव के सांसद आदर्श ग्राम सगामई का #RealityCheck (Star Rating : 0)

मैनपुरी हमेशा से ही समाजवादी पार्टी का गढ़ रह है. 2014 में मुलायम सिंह यादव ने जब यह सीट छोड़ी तब उनके पर पौत्र और लालू यादव के दामाद तेज प्रताप यादव यहाँ से उपचुनावों में विजयी होकर निर्वाचित हुए. सांसद आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत उन्होंने मैनपुरी के सगामई गाँव को गोद लिया है.

गोद लिए जाने पर गाँव के लोगों को उम्मीद थी की कच्ची सड़कें और नालियाँ पक्की हो जाएगी, बिजली से गाँव रोशन होगा मगर आज गाँव में विकास की तस्वीर धुंधली होती नज़र आ रही है. यहाँ कितना विकास हुआ है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है गोद लेने के बाद स्थानीय सांसद के दर्शन दुर्लभ है. चुनाव जीतने के बाद वो यहाँ आज तक नहीं आये.गाँव के बाहर की सड़कें ठीक है मगर साढ़े तीन साल बीत जाने के बाद अब भी गाँव की गलियों की हालत ख़राब है. देश में स्वच्छता अभियान भले ही चल रह हो मगर इस गाँव की तस्वीर देख लगता है मानो यह स्वच्छता अभियान का मज़ाक उड़ा रह हो. यहाँ पिछले पांच महीनो से सफाई कर्मी नहीं आया. सगामई गाँव का विधुतीकरण 40 साल पहले कराया गया था. आदर्श ग्राम के लिए चयनित होने के बाद न तो बिजली की हालत सुधरी और न ही ये तार बदले. आलम ये है की ज़रा सी आंधी और बारिश में बिजली के इन तारों का टूटना अब आम बात हो चुकी है. दोबारा तार जुटने के लिए भी कई हफ़्तों का इंतज़ार करना पड़ता है. गाँव में 5वीं के बाद पढाई की कोई सुविधा मौजूद नहीं है. यहाँ स्वास्थ्य सेवायें खुद बीमार नज़र आती है. चुनाव में अब एक साल से भी कम का समय बचा है और गाँव वाले अब भी डाकखाना खुलने के इंतज़ार में है.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

0

Leave a Comment

Related posts

Digvijay Narayan (Jai Chaubey)

UP News Desk

Saurabh Shrivastav

UP News Desk

Madhuri Verma

UP News Desk