You Already Reviewed
सावित्री बाई फूले के सांसद आदर्श ग्राम मटेही कलां का #RealityCheck (Star Rating : 0)

सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत बहराइच की भाजपा सांसद सावित्री बाई फूले ने मटेही कलां गाँव को गोद लिया है.

matehi kalan sagy adopted village

गाँव वालों में सांसद द्वारा इस गाँव को गोद लिए जाने पर उम्मीद जगी थी की अब उनके गाँव की तस्वीर बदलेगी और विकास होगा. इस गाँव को गोद लिए जाने का मकसद चहुमुखी विकास करना था मगर आज की स्थिति देखकर यहाँ विकास दूर दूर तक नज़र नहीं आता. गाँव की तरफ़ ले जाने वाली सड़क खस्ताहाल है. इस सड़क पर सफ़र करना जंग लड़ने से कम नहीं. आदर्श गाँव की सबसे ज़रूरी शर्त है की गाँव में स्वास्थ्य केंद्र होना चाहिए मगर मटेही कलां की स्वास्थ्य व्यवस्था ख़ुद ही बीमार नज़र आती है.

गाँव वालों को इलाज के लिए भी इस टूटी हुई सड़क से होकर जाना पड़ता है.

गाँव में प्राथमिक विद्यालय मौजूद है मगर यह मात्र एक स्मारक बनकर रह गया है. कुव्यवस्थाओं के शिकार इस स्कूल में मूलभूत सुविधाओं का आभाव है. गाँव वालों की माने तो यहाँ मिडडे मिल में भी पड़े पैमाने पर घपला होता है. 2016 में गोद लिए जाने के बाद यहाँ एक इंटरकॉलेज की नींव भी खुदी मगर इंटर कॉलेज खुलने से पहले ही राजनीति का शिकार हो गया और उसे दूसरे गाँव में शिफ्ट कर दिया गया. राज्य में अब भाजपा की सरकार है और गाँव को अभी भी इंटरकॉलेज खुलने का इंतज़ार है.

सांसद सावित्री बाई फुले ने गाँव वालों से बैंक, डाकघर, शौचालय, पक्की नालियाँ और पानी की टंकी समेत कई सारे वाडेकिये थे मगर ये सब हवा हवाई साबित हुई. आज गाँव वाले ख़ुद को ठगा महसूस कर रहे है और उन का कहना है की अच्छा होता अगर सांसद ने गाँव को गोद ना लिया होता.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

0

Leave a Comment

Related posts

Naresh Saini

UP News Desk

Rajesh Kumar Diwakar

UP News Desk

Rakesh Kumar Goswami

UP News Desk