You Already Reviewed
हेमा मालिनी के सांसद आदर्श ग्राम रावल गाँव का #RealityCheck (Star Rating : 0)

मथुरा में बसा रावल गाँव दुनियाभर में राधा रानी के जन्मस्थली के रूप में प्रसिद्ध है.

यह गाँव सुर्ख़ियों में तब आया जब मथुरा की सांसद हेमा मालिनी ने इसे सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया. गाँव वालों को उम्मीद थी की शायद अब उनके अच्छे दिन आयेंगे. मगर साढ़े तीन साल बीत जाने के बाद भी यह गाँव आदर्श गाँव नहीं बन सका है. गाँव में आठवीं के बाद पढ़ने की कोई व्यवस्था नहीं है. आठवीं के बाद पढ़ने की चाह रखने वालों को या तो शहर का या फिर दूसरे गाँव का रुख करना पड़ता है. शहर से गाँव को जाने वाली सड़क अच्छी है मगर गाँव की मुख्य सड़क का खस्ताहाल है.

हालाँकि गाँव की गलियों में इंटरलॉकिंग का काम ज़रूर हुआ है. राधा रानी की जन्मस्थली होने के कारण यहाँ पर्यटकों का जमावड़ा लगा रहता है. गाँव की संकरी सड़के अक्सर पर्यटकों की परेशानी का सबब बन जाती है. इस सड़कों के चौड़ीकरण  को लेकर कोई पहल नहीं की गई. देश में स्वच्छता अभियान अपने चरम पर है लेकिन गाँव में स्वच्छता का अभाव है. गाँव में कूड़े का अम्बार लगा है और गन्दगी इतनी की नई बनी सड़क भी पुरानी नज़र आती है. शौचालय बनने का काम सुस्त गति से चल रह है जिस कारण यह गाँव अभी तक खुले में शौच से मुक्त नहीं हो पाया है. गाँव में सांसद द्वारा एक आरओ प्लांट भी लगवाया गया है मगर उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं और वो ऐसे ही ख़राब पड़ा हुआ है.

कुल मिलाकर सांसद ने जितने वादे किये थे उस हिसाब से ज़मीनी हकीकत कुछ और ही कहानी बयां करती है.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

0

Leave a Comment

Related posts

Vipin Kumar (David)

UP News Desk

बेनी प्रसाद वर्मा के सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत बाराबंकी के धसरिया गाँव का #RealityCheck

UP News Desk

Ashish Kumar Singh (Ashu)

UP News Desk