You Already Reviewed
चौधरी बाबूलाल के सांसद आदर्श ग्राम पुसैता का #RealityCheck (Star Rating : 0)

महात्मा गाँधी का आदर्श गाँव का सपना जो नरेन्द्र मोदी ने पूरा करने की ठानी थी वो अब तार तार होता नज़र आ रहा है. और उस सपने को तोड़ने में मोदी के अपने ही लोगों का बहुत बड़ा हाथ है. सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत हर सांसद को हर साल एक गाँव गोद लेना था. उद्देश्य था इस गाँव का विकास करना, वहां के लोगों की प्राथमिक आवश्यकताओं की पूर्ती करना और इसे एक आदर्श ग्राम बनाना. योजना के अनुसार अब तक सांसदों को 3 गाँव गोद ले लेना चाहिए थे, पर रिपोर्ट्स के अनुसार 56% सांसदों (राज्य सभा और लोक सभा दोनों के) ने एक भी गाँव गोद लिया ही नहीं और जिन्होंने लिए भी उन्होंने अपने गाँव में दोबारा जाना भी मुनासिब नहीं समझा.

ऐसे ही सांसद हैं भाजपा के चौधरी बाबूलाल जिन्होंने 4 साल पहले सांसद आदर्श ग्राम योजना के शुरू होते ही खेरागढ़ तहसील का गाँव पुसैता को गोद लिया था.

फतेहपुर सीकरी के सांसद चौधरी बाबूलाल ने गोद लेने के बाद अपने गाँव में कोई भी काम नहीं करवाया है. वहां की बदहाल ज़िन्दगी में अब भी कोई बदलाव नहीं आया है. 4 साल बाद ये गाँव आदर्श तो दूर औसत तक भी नहीं पहुंचा है. खराब सड़कें और गलियां, ख़राब पड़ी टी.टी.पी.एस की टंकियां और हैंडपंप, सड़क पर नालियों का बहता गन्दा पानी, और सडकों के किनारे बिखरा कूड़ा, यहाँ की ज़र्ज़र हालत बयां करता है. बजट के अभाव में पानी की टंकी का काम भी तीन साल से बंद पड़ा है. ग्रामीणों का कहना है की जो हैंडपंप काम करते हैं उनपे दबंगों ने कब्ज़ा कर रखा है. मूलभूत सुविधाओं के नाम पर यहाँ कुछ भी नहीं है. शौचालय बने हैं पर केवल दिखावे के लिए.

बाबूलाल ने बाह तहसील का गाँव बटेश्वर भी गोद लिया था. पर जब पहले की ही हालत नहीं सुधरी तो दूसरे के बारे में क्या ही कहा जाये.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

0

Leave a Comment

Related posts

Sheetala Prasad

UP News Desk

कृष्णा राज के सांसद आअद्र्श ग्राम नवादा दरोबस्त का #RealityCheck

UP News Desk

Dharam Pal Singh

UP News Desk