You Already Reviewed
भोला सिंह के सांसद आदर्श ग्राम भोपतपुर का #RealityCheck (Star Rating : 0)

सांसद आदर्श ग्राम योजन के तहत बुलंदशहर के सांसद भोला सिंह ने जिला मुख्यालय से 42 किलोमीटर दूर गंगा किनारे बसे भोपतपुर गाँव को गोद लिया है.

Bhola Singh SAGY adopted village Bhopatpur

गाँव में मौजूद सुविधाओं के आभाव को देखकर लगता है मानो सांसद ने इसे गोद लेकर केवल रस्म अदायगी की हो. नदी भोपतपुर को दो हिस्सों में बांटती है- भोपतपुर और मजराभोपतपुर. दोनों हिस्सों को मिलाकर गाँव की आबादी 5 हज़ार के करीब है. पूरा गाँव पीने की पानी की समस्या से पीड़ित है मगर इतनी बड़ी आबादी के लिए पूरे गाँव में केवल 20 हैण्डपंप मौजूद है.यहाँ दो तालाब है मगर दोनों हीगन्दगी का शिकार है. बेरुखी का आलम ये है की इतने सालों बाद भी गाँव के दोनों हिस्सों को जोड़ने के लिए पुल नहीं बन सका. गाँव वाले पानी में उतरकर ही एक जगह से दूसरे जगह जागते है. गाँव में बिजली की स्थिति आस पास के गाँवों जैसी ही है. यहाँ आंशिक विद्युतीकरण हुआ है और तब से लेकर अब तक बिजली के ये तार बदले नहीं गए. बिजली के ये तार गाँव वालों की चिंता का कारण बने रहते है. गाँव में एक जूनियर हाई स्कूल और दो प्राइमरी पाठशालाएं है. आठवीं के बाद की शिक्षा के लिए गाँव के बच्चों को गाँव के बाहर जाना पड़ता है. यहाँ से 13 किमी की दूरी पर डिबाई में डिग्री कॉलेज और 10 किमी की दूरी पर अनुपशहर में इंटरकॉलेज है. गाँव में कोई अस्पताल भी नहीं लिहाजा गाँव वाले इलाज के लिए डिबाई या अनुपशहर का ही रुख करते है. जिला महिला अस्पताल यहाँ के 42 किमी की दूरी पर है जो महिला प्रसव के लिए ग्रामीणों का एक मात्र सहारा है. कुल मिलकर जिस गाँव को अबतक आदर्श ग्राम बन जाना चाहिए था वहां नाम के सिवाये कोई और चीज़ आदर्श नहीं दिखती.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

0

Leave a Comment

Related posts

Sadhvi Savitri Bai Phule

UP News Desk

Prabhu Narayan Yadav

UP News Desk

Satyadev Pachauri

UP News Desk