You Already Reviewed
भैरों प्रसाद मिश्रा के सांसद आदर्श ग्राम कटरा कालिंजर का #RealityCheck (Star Rating : 0)

बुंदेलखंड उत्तर प्रदेश का वो भाग जो बिजली, पानी या शौचालय, विकास के हर पैमाने पर पिछड़ा हुआ है. बुंदेलखंड के बांदा जिले में नरैनी ब्लॉक का एक गाँव है- ‘कटरा कालिंजर’. जिला मुख्यालय से 50 किलोमीटर की दूरी पर पन्ना-बांदा हाईवे पर बसा कटरा गाँव ऐतिहासिक महत्व रखता है.

कालिंजर का मतलब होता है समय पर जीत पा लेने वाला मगर इस गाँव की तस्वीर देखकर लगता है की यह वर्षों पीछे है. इस गाँव को भाजपा के सांसद भैरों प्रसाद मिश्रा ने सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया हुआ है. मगर इस आदर्श गाँव में कोई भी चीज़ आदर्श नहीं दिखती. गाँव की तस्वीर इलाके के बाकी गाँवों से अलग नहीं है.

कटरा कालिंजर गाँव ऐतिहासिक रूप से भी महत्वपूर्ण है. यहाँ मौजूद प्राचीन दुर्ग के बारे में कहा जाता है की इसे मुग़ल बादशाह अकबर ने अपने नौ रत्नों में से एक बीरबल को तोहफ़े में दिया था.

kalinjar fort

आज जर्जर अवस्था में पड़ा यह दुर्ग,डाकुओं के छुपने की जगह बन चुका है. जहाँ लोगों की सुनने वाला कोई नहीं वहां इस दुर्ग की कौन सुने. आदर्श ग्राम के लिए गोद लिए जाने के बाद इस गाँव में कालिंजर विकास समिति का गठन किया गया. मगर आज की स्थिति देखकर लगता है की इस समिति का गठन मात्र एक रस्म अदायगी थी.

गाँव का मातृ शिशु और परिवार कल्याण उपकेन्द्र भी उपेक्षा की वजह से बस स्मारक बनकर रह गया है.

इस गाँव में विकास के नाम पर मुख्य मार्ग में सीसी सड़क, बिजली, आंशिक पानी, एक प्राथमिक, एक जूनियर स्कूल, पीएचसी और मानव संसाधन विकास मंत्रालय अधिकृत जन शिक्षण संस्थान की एक शाखा खुली है. जेएसएस का कार्यालय खुलते गाँव वालों ने नहीं देखा, इसका मकसद गाँव के किशोर-किशोरी को रोजगार उन्मुख प्रशिक्षण देना है.

स्थानीय नागरिक भाजपा सांसद भैरों प्रसाद मिश्र से नाराज है. संसद में सांसद महोदय की उपस्थिति सौ फ़ीसदी है.  कटरा कालिंजर के लोग शुरुआत में इस गाँव में बड़े पैमाने पर नालियों का निर्माण हुआ मगर आज बेरुखी का आलम ऐसी है की इन नालियों की सफाई नहीं होने से इनसे निकलने वाला पाना सड़क पर बहना आम बात हो चुकी है.

आज केंद्र और राज्य दोनों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है मगर कटरा कालिंजर की तस्वीरों को देखकर लगता है की प्रधानमंत्री की महत्वकांक्षी आदर्श ग्राम योजना ख़ुद जर्जर हाल में है.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

0

Leave a Comment

Related posts

Praveen Kumar Nishad

UP News Desk

Kamal Rani

UP News Desk

Suryabhan Singh

UP News Desk