You Already Reviewed
अनुप्रिया पटेल के सांसद आदर्श ग्राम बगहीं का #RealityCheck (Star Rating : 0)

चुनार के नारायणपुर ब्लॉक में बसा है एक गाँव बगहीं। पांच हज़ार की आबादी वाले इस गाँव को नवंबर 2016 में केन्द्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद अनुप्रिया पटेल ने संसद आदर्श ग्राम योजना के तहत दूसरे चरण में गोद लिया था.

यह गाँव अपने आप में खास है क्योंकि यहाँ 11 स्वतंत्रता सेनानियों ने आज़ादी की लड़ाई में अपना योगदान दिया था. जब स्थानीय सांसद ने इस गाँव को गोद लिया और पहली बार गाँव पहुंची तो ग्रामीणों को लगा की अब उनके अच्छे दिन आयेंगे. मगर डेढ़ साल बीत जाने के बाद भी उनके गाँव को एक सीसी रोड और कुछ सोलर लाइट्स के अलावा कुछ नसीब नहीं हुआ. गंगा घाट से श्मशान तक बनने वाली 400 मीटर की इस सड़क का काम भी अधुरा पड़ा है. बेरुखी का आलम यह है की गाँव में पंचायत भवन तक नहीं, स्थानीय लोगों का कहना है की पुराना पंचायत भवन जर्जर होकर ध्वस्त हो चुका.

सांसद महोदया को इसके लिए कई बार लिखा गया मगर केवल नए भवन के जगह उन्हें केवल आश्वासन ही मिला. गाँव का प्राथमिक विद्यालय बुरे हालत में है। बच्चों की पढाई भी खुले में होती है, खुले आसमान के नीचे चलने वाली इन कक्षाओं को हल्की बारिश भी रुकवा देती है. कुछ महीनो पहले गाँव के प्रधान ने विकास कार्यों से सम्बंधित दस प्रस्ताव सांसद महोदया को भेजे थे जिनमें से केवल दो ही स्वीकृत हुए और बाकी प्रस्तावों को ठंडे बसते में डाल दिया गया. अनुप्रिया पटेल ने ददरी गाँव को भी सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया था, उस गाँव की तस्वीर बगहीं से बेहतर नज़र आती है. अगले साल चुनाव होने वाले है और बगहीं गाँव के लोगों को अब भी विकास का इंतज़ार है.

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

0

Leave a Comment

Related posts

Yogi Adityanath

UP News Desk

Ritesh Kumar Gupta

UP News Desk

Ramawadh Yadav

UP News Desk